HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. ‘योगी-मोदी सरकार दमनकारी, विपक्ष को ED, CBI और बुलडोजर से डराया जाता है, मैं उसको भी मोड़ दूंगा’

‘योगी-मोदी सरकार दमनकारी, विपक्ष को ED, CBI और बुलडोजर से डराया जाता है, मैं उसको भी मोड़ दूंगा’

यूपी कांग्रेस के नए बॉस अजय राय ने अपने शपथ ग्रहण से पहले खुला शक्ति प्रदर्शन किया। वह गुरुवार को वाराणसी से 100 लग्जरी कारों के काफिले के साथ लखनऊ पहुंचे। यहां काशी के पंडितों ने मंत्रोच्चारण के साथ उन्हें शपथ दिलाई। शपथ के बाद अजय राय ने कहा कि योगी-मोदी की दमनकारी सरकार है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। यूपी कांग्रेस के नए बॉस अजय राय ने अपने शपथ ग्रहण से पहले खुला शक्ति प्रदर्शन किया। वह गुरुवार को वाराणसी से 100 लग्जरी कारों के काफिले के साथ लखनऊ पहुंचे। यहां काशी के पंडितों ने मंत्रोच्चारण के साथ उन्हें शपथ दिलाई। शपथ के बाद अजय राय ने कहा कि योगी-मोदी की दमनकारी सरकार है। जिस ED, CBI और बुलडोजर से डराया जाता है। मैं उस बुलडोजर को भी मोड़ देने का काम करूंगा। हम डरने वाले नहीं। आज 24 तारीख से 2024 फतेह की तैयारी करेंगे। कार्यकर्ताओं के लिए अगर जान की बाजी लगानी पड़ी, तो भी अजय पीछे नहीं हटेगा।

पढ़ें :- झूठ चाहे जितना ताकतवर हो, सच को दबा नहीं सकता...प्रियंका गांधी का मोदी सरकार पर बड़ा हमला

मैं जनता के लिए सड़क पर संघर्ष करूंगा: अजय राय

अजय राय ने कहा कि देश का हर एक नागरिक अब राहुल गांधी को PM बनते देखना चाहता है। राहुल को PM बनाने के लिए हमें UP में जमीनी स्तर पर काम करना होगा। आप जो मुझे ताकत दोगे, उससे 10 गुनी ताकत हम आपको देंगे।मैं जनता के लिए सड़क पर संघर्ष करूंगा।

‘हमें सबका साथ और सहयोग चाहिए’

उन्होंने कहा कि कांग्रेस भी हिंदू, मुस्लिम, सिख और ईसाई सभी को साथ लेकर चलती है। 2015 में सरकार ने मुझे रासुका लगाकर 7 माह के लिए जेल भेज दिया था। आज हमें सबका साथ और सहयोग चाहिए। जल्द कांग्रेस आपको पूरे प्रदेश की सड़कों पर संघर्ष करते नजर आएगी।

पढ़ें :- Agneepath Yojana Update: अग्निपथ योजना में बदलाव की तैयारी! सेना करवा रही है एक खास सर्वे

जौनपुर, सुल्तानपुर और अमेठी होते हुए लखनऊ पहुंचे

सुबह अजय राय ने सबसे पहले बाबा काशी विश्वनाथ का आशीर्वाद लिया। इसके बाद जौनपुर, सुल्तानपुर और अमेठी होते हुए प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय पहुंचे। लखनऊ में कांग्रेस कार्यालय में शपथ ग्रहण से पहले गंगा आरती हुई। इसके बाद अजय ने वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में शपथ लिया।

बता दें कि 1 हफ्ते पहले कांग्रेस ने बृजलाल खाबरी को हटाकर अजय राय को जिम्मेदारी दी थी। पार्टी ने पिछले साल अक्टूबर में बृजलाल खाबरी को यूपी का प्रदेश अध्यक्ष बनाया था। तब अजय राय उनकी टीम में क्षेत्रीय अध्यक्ष थे। अजय ने शपथ ग्रहण करने के बाद अजय राय महात्मा गांधी, बाबा साहेब डॉ. भीमराव आंबेडकर, सरदार वल्लभ भाई पटेल और राजीव गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।

स्मृति ईरानी पर हमला ट्रिपल आईटी, मेगा फूड पार्क बंद कर दिया गया, कहां गई 13 रुपए किलो चीनी

एक चैनल से बातचीत में अजय राय ने कहा कि रायबरेली और अमेठी में जितना काम गांधी परिवार ने किया है किसी ने नहीं किया। आज अमेठी के लोग खुद को ठगा महसूस कर रहे हैं। स्मृति ईरानी पर हमला करते हुए अजय राय ने कहा कि चुनाव के दौरान लोगों से कहा गया कि कमल के फूल पर बटन दबा दो 13 रुपए किलो चीनी मिलेगी। वह चीनी कहां गई। अजय राय ने आरोप लगाया कि वहां ट्रिपल आईटी, मेगा फूड पार्क बंद कर दिया गया। बनारस को लेकर कहा कि यह बाबा विश्वाथ, काल भैरव और मां गंगा की नगरी है। हम लोगों का प्रयास होगा कि प्रियंका गांधी यहां से चुनाव लड़ें। कहा कि मैं घोषणा करता हूं कि प्रियंका गांधी यहां से चुनाव लड़ती हैं तो मैं कहीं से चुनाव नहीं लड़ूंगा और पूरी ताकत के साथ प्रियंका गांधी को जीताने का काम करेंगे।

पढ़ें :- भाजपा सरकार में 10 साल के विश्वासघात से पैदा हुआ आक्रोश अब क्रांति का रूप ले चुका है: राहुल गांधी

ऐसा रहाअजय राय राजनीतिक करियर

1996 से लेकर 2009 तक अजय राय भाजपा से जुड़े रहे। 1996 में वाराणसी के कोलअसला विधानसभा से अजय राय विधायक बने। इसके बाद अजय राय से वाराणसी की कोलअसला विधानसभा सीट कोई छीन नहीं पाया। 1996 से 2009 तक लगातार अजय राय कोलअसला से विधायक रहे। 2012 में दिग्विजय सिंह यूपी के प्रभारी और कांग्रेस महासचिव थे।

उन्होंने अजय राय की कांग्रेस में एंट्री कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। अजय 2012 के विधानसभा उपचुनाव में वाराणसी की पिंडरा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़े और 5वीं बार विधायक बने। अजय राय 2017 और 2022 में विधानसभा चुनाव जीतने में नाकाम रहे। लेकिन, वह सालों से कांग्रेस में महत्वपूर्ण संगठनात्मक जिम्मेदारियां निभा रहे हैं।

कांग्रेस नेतृत्व के उन पर भरोसे का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि हाल ही में महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा द्वारा राज्य इकाई के फेरबदल में, उन्हें प्रयागराज क्षेत्र के लिए पार्टी का अध्यक्ष बनाया था। इसमें पूर्वी यूपी के करीब 12 जिलों की जिम्‍मेदारी उन्‍हीं को दी थी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...