1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. पीएम मोदी की मीटिंग से पहले जम्मू-कश्मीर में 48 घंटे का अलर्ट, हाई स्पीड इंटरनेट सर्विस सस्पेंड

पीएम मोदी की मीटिंग से पहले जम्मू-कश्मीर में 48 घंटे का अलर्ट, हाई स्पीड इंटरनेट सर्विस सस्पेंड

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में गुरुवार को जम्मू-कश्मीर को लेकर बैठक होने जा रही है, जिसमें जम्मू-कश्मीर की पार्टियों के नेता शामिल होंगे। इस बीच जम्मू-कश्मीर के नेताओं के साथ प्रधानमंत्री मोदी की बैठक से पहले जम्मू-कश्मीर और नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर 48 घंटे का अलर्ट जारी किया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में गुरुवार को जम्मू-कश्मीर को लेकर बैठक होने जा रही है, जिसमें जम्मू-कश्मीर की पार्टियों के नेता शामिल होंगे। इस बीच जम्मू-कश्मीर के नेताओं के साथ प्रधानमंत्री मोदी की बैठक से पहले जम्मू-कश्मीर और नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर 48 घंटे का अलर्ट जारी किया है। इसके साथ ही हाई स्पीड इंटरनेट सेवाएं भी बंद रखी जा सकती हैं।

पढ़ें :- हिमाचल प्रदेश को पीएम मोदी ने दी बड़ी सौगात, कहा-अब एम्स भी बिलासपुर की शान बढ़ा रहा

बता दें कि सर्वदलीय बैठक में शामिल होने के लिए जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती श्रीनगर से दिल्ली के लिए रवाना हो गई हैं। वह जम्मू-कश्मीर को लेकर प्रधानमंत्री मोदी की अगुवाई में होने वाली बैठक में शामिल होंगी।

जम्मू-कश्मीर बीजेपी के नेता भी दिल्ली रवाना

जम्मू-कश्मीर की राजनीतिक पार्टियों की बैठक में हिस्सा लेने के लिए जम्मू-कश्मीर बीजेपी के अध्यक्ष रविंदर रैना और पार्टी नेता व पूर्व डिप्टी सीएम कविंदर गुप्ता जम्मू से दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं।

सर्वदलीय बैठक में हिस्सा लेगा गुपकार संगठन

पढ़ें :- Vijayadashami 2022 : गृह मंत्री अमित शाह  बोले-कश्मीर में मरेगा आतंकवाद का 'रावण' 

बीते दिन ही जम्मू-कश्मीर की राजनीतिक पार्टियों के गुपकार संगठन ने फैसला किया है कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बुलाई गई बैठक में शामिल होंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में 24 जून को जम्मू-कश्मीर को लेकर बैठक होनी है, जिसमें जम्मू-कश्मीर की पार्टियों, नेताओं को भी बुलाया गया था।

इस महाबैठक से पहले मंगलवार को श्रीनगर में गुपकार संगठन की बैठक हुई। ये मीटिंग पूर्व केंद्रीय मंत्री फारूक अब्दुल्ला के आवास पर हुई। गुपकार नेताओं की मीटिंग के बाद फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि हम प्रधानमंत्री द्वारा बुलाई गई बैठक में शामिल होंगे, मीटिंग के बाद श्रीनगर और दिल्ली में मीडिया से बात की जाएगी. हमारा एजेंडा सभी को मालूम है और वही रहेगा।

16 नेताओं को भेजा न्योता

बता दें कि सर्वदलीय बैठक के लिए केंद्र सरकार की ओर से जम्मू-कश्मीर के कुल 16 नेताओं को न्योता भेजा है। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370, 35ए हटने के बाद केंद्र द्वारा राज्य के नेताओं द्वारा संवाद की ये सबसे बड़ी पहल है।

पढ़ें :- पीएम मोदी की रैली से पहले जिला प्रशासन की नई शर्त पत्रकारों को देना होगा चरित्र प्रमाण पत्र
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...