1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Rakesh Tikait की चेतावनी से डरे गृह राज्य मंत्री, संपूर्णानगर गन्ना मिल उद्घाटन से किया किनारा

Rakesh Tikait की चेतावनी से डरे गृह राज्य मंत्री, संपूर्णानगर गन्ना मिल उद्घाटन से किया किनारा

यूपी की राजधानी लखनऊ में सोमवार को संयुक्त किसान मोर्चा (samyukt kisan morch) की लखनऊ में  आयोजित किसान महापंचायत (kisan mahapanchayat ) में राकेश टिकैत ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा पर भी निशाना साधते हुए कहा था कि यदि टेनी ने चीनी मिल का उद्घाटन किया तो किसान सारा गन्ना वहां के डीएम के घर पर डालकर आएंगे।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। यूपी की राजधानी लखनऊ में सोमवार को संयुक्त किसान मोर्चा (samyukt kisan morch) की लखनऊ में  आयोजित किसान महापंचायत (kisan mahapanchayat ) में राकेश टिकैत ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा पर भी निशाना साधते हुए कहा था कि यदि टेनी ने चीनी मिल का उद्घाटन किया तो किसान सारा गन्ना वहां के डीएम के घर पर डालकर आएंगे।

पढ़ें :- किसान आंदोलन पर राकेश टिकैत की दो टूक : बोले- साहब ये भारत है, उत्तर कोरिया नहीं कि सुना दिया एकतरफा निर्णय

इस चेतवानी से एक बात साफ हो गई कि  लखीमपुर खीरी के सांसद और गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्र का किसानों के बीच चल रहा विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। एक ओर जहां किसान लगातार गृह राज्य मंत्री की बर्खास्तगी की मांग कर रहे हैं तो वहीं उनके सरकारी कार्यक्रमों में भी शामिल होने को लेकर लगातार चुनौती दे रहे हैं। इसी के आगे मजबूर होकर बीच का रास्ता निकालते हुए गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्र के निजी सचिव अमित कुमार ने बताया कि बुधवार को संपूर्णानगर में होने वाले गन्ना मिल के शुभारम्भ कार्यक्रम में गृह राज्य मंत्री शामिल नहीं होंगे। मंत्री का जनपद के बाहर कार्यक्रम लगा है। उनके स्थान पर उनके प्रतिनिधि कार्यकम में शामिल होंगे।

इससे पहले लखनऊ में होने वाली डिफेंस की मीटिंग में मंच पर न शामिल होने को लेकर प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री को पत्र लिख चुकी थी। राकेश​ टिकैत लखनऊ में किसान महापंचायत में अपनी मांगे दोहराई कि जब तक किसानों पर दर्ज मुकदमे वापस नहीं होते एमएसपी पर गारंटी कानून नहीं बनता, फसलों का उचित दाम नहीं मिलता ऐसे तमाम मुद्दों पर बात नहीं होती तब तक कोई समझौता नहीं होगा। टिकैत ने कहा कि गन्ने का रेट घोषित करने में यूपी सरकार थर्ड नंबर पर आई। ऊपर से अभी तक किसानों को बकाया नहीं दिया गया है। उनके बकाया का भुगतान तत्काल किया जाए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...