1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. आधी रात में नींद का खुलना देता है भगवान के अद्भुत संकेत, जानिए क्या हो सकते हैं इसके परिणाम

आधी रात में नींद का खुलना देता है भगवान के अद्भुत संकेत, जानिए क्या हो सकते हैं इसके परिणाम

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्ली: हम सभी मनुष्य पूरी तरह से कुदरत के नियमों के अधीन हैं. भगवान ने इस सृष्टि का निर्माण करके दिन और रात बनाए है. इनमे से दिन में मनुष्य काम करता है और भागादौड़ी करके अपने परिवार का पेट पालता है तो वहीँ रात को वह आराम करता है और अपनी थकान को मिटाता है ताकि अगले दिन काम करने के लिए वह खुद को तैयार कर सके. दुनिया में ऐसा शायद ही कोई व्यक्ति होगा जिसे नींद से लगाव ना हो. लेकिन बहुत से लोग ऐसे भी हैं जिन्हें नींद ना आने की समस्या से जूझना पड़ता है या फिर आधी रात को बार बार उनकी आँख खुल जाती है और फिर काफी प्रयास के बाद भी उन्हें नींद नही आती. यदि आप भी ऐसी किसी समस्या से पीड़ित हैं तो यह ख़ास लेख केवल आपके लिए है.

पढ़ें :- Rahu Remedy : राहु दोष से मुक्ति के लिए करें ये सरल उपाय,समस्याओं से मिलेगा आराम

दरअसल, दिन भर की थकान के बाद हर मनुष्य चैन की नींद सोने का इच्छुक होता होता है लेकिन कुछ ख़ास कारणों की वजह से वह चाह कर भी गहरी और अच्छी नींद का अनुभव नहीं कर पाते और बार बार उनकी आँख खुल जाती है. इसका कारण हमारा तनाव भी हो सकता है. लेकिन क्या आप जानते हैं नींद का खुलना भी भगवान के दिए गए संकेतों का दर्शाता है? अगर नही, तो आज हम आपको ऐसे ही कुछ संकेतों के बारे में बताने जा रहे हैं जो नींद खुलने पर आपके अच्छे और बुरे समय का ज्ञात करवाते हैं.

रात में 9 से 11 बजे के बीच में नींद का खुलना

नींद का खुलना या नींद का ना आना एक आम समस्या है लेकिन यह भगवान के कईं संकेतों को भी दर्शाती है. आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि नींद खुलने से जुड़े संकेतों का ताल्लुक समय के अंतराल से होता है. यानि अगर आप 9 बजे से 11 बजे के बीच में उठ जाते हैं तो यह आपके मानसिक तनाव की स्तिथि की ओर इशारा करता है. इसका मतलब यह है कि आप किसी गहरी चिंता को अपने शरीर पर हावी कर रहे हैं. ऐसी स्तिथि से छुटकारा पाने के लिए आपको मैडिटेशन की ख़ास आवश्यकता है. इससे ना केवल आपका तनाव कम होगा बल्कि आपको अच्छी और गहरी नींद भी आयेगी.

रात्रि में 11 से लेकर 1 बजे नींद का खुलना

पढ़ें :- Vat Savitri 2022: वट सावित्री की पूजा में लगने वाली सामग्री तैयार कर लें, कल है ज्येष्ठ मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि

हालाँकि आज के समय में अधिकतर लोग रात में देर से सोते हैं लेकिन यदि आप समय पर सोते हैं और 11 बजे से 1 बजे के बीच में आपकी आँख खुल जाती है और नींद नही आती तो यह आपकी इमोशनल स्तिथि की तरफ इशारा करता है. इस परिस्तिथि से बचने के लिए आपको पवित्र मन्त्रों के जाप की आवश्यकता है. इसके इलावा आपको खुद के अंदर दूसरों को माफ़ करने की क्षमता होनी चाहिए. इससे आपका स्ट्रेस कम होगा और आप बिना किसी बोझ के सुकून व चैन से सो पाएंगे.

रात्रि में 1 से 3 बजे के बीच नींद का टूटना

अगर रात के एक बजे से लेकर तीन बजे के अंतराल में आपकी नींद अचानक से खुल जाती है और आप चाह कर भी सो नहीं पाते तो यह आपके लीवर की कमजोरी की तरफ इशारा करती है. इस समय में जागने का एक इशारा आपके गुस्सेल स्वभाव को भी दर्शाता है. इस स्तिथि से बचने के लिए आप रात में ठंडा पानी पीएं और मैडिटेशन अर्थात ध्यान ल्गाएयीं. ऐसा करने के कुछ ही समय में आपको शांति अनुभव होगी और आप चैन से सो पाएंगे.

रात्रि में 3 से 5 बजे के बीच नींद का खुलना

तीन से पांच बजे का समय रात का सबसे एनर्जेटिक समय होता है. यह समय बुरी शक्तियों और आत्माओं का समय माना गया है. इस समय में नेगेटिव उर्जा का असर आप पर सीधा पड़ सकता है. ऐसे में यदि इस समय के दौरान आपकी नींद टूट जाती है तो यह आपको बुरी ताकतों से जागरूक रहने की ओर इशारा करती है. साथ ही यह खराब लंग्स का भी संकेत देती है. इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए आपको नियमित रूप से कसरत या योग करने की आवश्यकता है.

पढ़ें :- Ghode Ki Naal : घोड़े की नाल से खुलेंगे धन प्राप्ति के मार्ग, घर में इस दिशा में लगा सकते हैं

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...