1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Azam Khan ने सीतापुर जेल पहुंचे सपा प्रतिनिधिमंडल को बैरंग किया वापस,जानें क्या होगा उनका अगला कदम?

Azam Khan ने सीतापुर जेल पहुंचे सपा प्रतिनिधिमंडल को बैरंग किया वापस,जानें क्या होगा उनका अगला कदम?

समाजवादी पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल सोमवार को लखनऊ मध्य से पार्टी के विधायक रविदास मेहरोत्रा (Ravidas Mehrotra) के नेतृत्व में सीतापुर जेल (Sitapur Jail) में बंद पार्टी के वरिष्ठ विधायक आजम खान (Azam Khan ) से मिलने पहुंचा था। प्रति​निधिमंडल को झटका तब लगा जब आजम खान( Azam Khan)  ने मिलने से इनकार कर दिया। इसके बाद सपा प्रतिनिधिमंडल (SP Delegation) को बैरंग वापस लौटना पड़ा। पार्टी के विधायक रविदास मेहरोत्रा (Ravidas Mehrotra) आजम खान की तबीयत खराब है। इसलिए मिलने से मना किया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

सीतापुर। समाजवादी पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल सोमवार को लखनऊ मध्य से पार्टी के विधायक रविदास मेहरोत्रा (Ravidas Mehrotra) के नेतृत्व में सीतापुर जेल (Sitapur Jail) में बंद पार्टी के वरिष्ठ विधायक आजम खान (Azam Khan ) से मिलने पहुंचा था। प्रति​निधिमंडल को झटका तब लगा जब आजम खान( Azam Khan)  ने मिलने से इनकार कर दिया। इसके बाद सपा प्रतिनिधिमंडल (SP Delegation) को बैरंग वापस लौटना पड़ा।

पढ़ें :- प्रदेश में अब ठंड का सितम कम, इन शहरों में 33 डिग्री सेल्सियस रहेगा तापमान

आजम खान( Azam Khan) के सपा प्रतिनिधिमंडल (SP Delegation) को बैरंग वापस करने के बाद सियासी अटकलों को बाजार गर्म हो गया है। क्या वह जेल से रिहा होने के बाद समाजवादी पार्टी को गुड बॉय कह देंगे। सूत्रों का कहना है आजम के नजदीकियों के बीच नई पार्टी के गठन पर बात भी चल रही है। माना जा रहा कि आजम को ज्यादातर मुकदमों में जमानत मिल चुकी है, ऐसे में वह जल्दी ही बाहर आ जाएंगे।

पढ़ें :- निचलौल में हो रहे 108 कुंडीय गायत्री महायज्ञ में स्काउट गाइड की भूमिका अहम

आजम खान जेल से रिहा होंगे तो हम उनसे बात करेंगे कि अब निर्णायक फैसला लें

आजम खान के समर्थकों ने बीते दिनों सपा प्रमुख अखिलेश यादव पर सीधा निशाना साधते हुए यहां तक कह दिया कि उनको हमारे कपड़ों से बदबू आती है। बता दें कि आजम खान दो साल से भी ज्यादा समय से सीतापुर जेल में बंद हैं। वह पार्टी के अहम नेता हैं, लेकिन इसके बाद भी अखिलेश केवल एक बार उनसे मिलने जेल गए हैं। उन्हें विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष तक नहीं बनाया गया। पार्टी में मुसलमानों को भी कोई तवज्जो नहीं दी जा रही है। वह गुस्से में यहां तक बोल गए कि अब अखिलेश को हमारे कपड़ों से बदबू आती है। आजम खान जेल से रिहा होंगे तो हम उनसे बात करेंगे कि अब निर्णायक फैसला लें।

पढ़ें :- Parag Milk Prices Increased: महंगाई का एक और बड़ा झटका, अमूल के बाद पराग ने भी बढ़ाए दूध के दाम

शिवपाल यादव बीते 22 अप्रैल को शुक्रवार को सपा नेता आजम खान से मिलने के लिए जिला कारागार पहुंचे थे

शिवपाल यादव बीते 22 अप्रैल को शुक्रवार को सपा नेता आजम खान से मिलने के लिए जिला कारागार पहुंचे थे। दोनों नेताओं की जेल में हुई मुलाकात ने सियासी माहौल गर्म हो गया। राजनीतिक गलियारों में इसको लेकर हलचल भी तेज हो गई। जेल से निकलने के बाद शिवपाल यादव ने समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव व सपा प्रमुख अखिलेश यादव पर सवाल गंभीर उठाए। कहा कि इन दोनों नेताओं ने पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान की अनदेखी का आरोप लगाया। अब कयास लगाए जा रहे हैं कि कहीं न कहीं उनके दिल में इस बात की कसक है कि पार्टी ने अपने ही एक कद्दावर नेता को रिहा कराने के प्रयास क्यों नहीं किए? इससे पहले राष्ट्रीय लोकदल प्रमुख जयंत चौधरी भी सीतापुर जेल जाकर आजम खान से मुलाकात की थी।

जेल में आजम खान के हत्या की आशंका जताते हुए प्रदेश सरकार पर सनसनीखेज आरोप लगाया

इसके बाद पार्टी की हो रही किरकिरी के बाद आखिरकार समाजवादी पार्टी ने एक प्रतिनिधिमंडल भेजने का ऐलान किया ।  सोमवार को सीतापुर जेल पहुंचे पार्टी के विधायक रविदास मेहरोत्रा (Ravidas Mehrotra) ने कहा कि आजम खान की तबीयत खराब है। इसलिए उन्होंने मिलने से मना किया है। सीतापुर जेल (Sitapur Jail) पहुंचे सपा विधायक रविदास मेहरोत्रा (Ravidas Mehrotra) ने उनको फांसी वाली बैरक में रखा गया है। उन्होंने जेल में आजम खान के हत्या की आशंका जताते हुए प्रदेश सरकार पर सनसनीखेज आरोप लगाया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...