1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. Chinese President Xi Jinping ने तीसरी बार संभाली देश की कमान

Chinese President Xi Jinping ने तीसरी बार संभाली देश की कमान

(Chinese President Xi Jinping) took over the command of the country for the third time

By संतोष सिंह 
Updated Date

Chinese President Xi Jinping : शी जिनपिंग अपने विरोधियों को कुचलकर और बड़े सियासी तमाशे के बाद  रविवार को एक बार फिर चीन की कमान संभाल ली है। समाचार एजेंसी एएफपी ने चीनी मीडिया रिपोर्टों के हवाले से बताया कि शी जिनपिंग को तीसरी बार पांच साल के लिए कम्युनिस्ट पार्टी का महासचिव पद मिला है।

पढ़ें :- PM Modi Speech Parliament Live: पीएम मोदी का राहुल गांधी पर तंज, कहा- ये कह कहकर हम दिल बहला रहे हैं, वो अब आ रहे हैं

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Chinese President Xi Jinping) ने रिकॉर्ड तोड़ तीसरी बार चीन के सबसे पावरफुल नेता का पद संभाला है। वह चीन की सबसे ताकतवर पार्टी कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव चुने गए हैं। बता दें कि चीन में सत्ता की चाबी कम्युनिस्ट पार्टी के हाथ पर होती है। यही पार्टी चीन की आर्मी का भी नेतृत्व करती है।

एएफपी ने चीनी मीडिया के हवाले से बताया कि शी जिनपिंग तीसरी बार सफलता पूर्वक सबसे पावरफुल नेता बन गए हैं। उन्होंने कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव का पद रविवार को ग्रेट हॉल ऑफ द पीपुल में पार्टी के सप्ताह भर चलने वाले 20 वें राष्ट्रीय कांग्रेस में ग्रहण किया। इस मौके पर शी जिनपिंग ( Xi Jinping) ने कहा, कि आपने मुझ पर जो भरोसा किया है, उसके लिए मैं पूरी पार्टी को ईमानदारी से धन्यवाद देना चाहता हूं।

पूर्व राष्ट्रपति को बैठक से किया था बाहर

इससे पहले शनिवार को 20वां कांग्रेस उस वक्त सुर्खियों में आया था जब बैठक में पूर्व राष्ट्रपति हू जिन्ताओ को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था। जिन्ताहो राष्ट्रपति शी के बगल में बैठे थे। इस घटना का वीडियो भी सामने आया था। वीडियो में साफ दिख रहा था कैसे दो लोग पहले जिन्ताओ से कुछ कहते हैं और फिर उन्हें हाथ पकड़कर सीट से उठा दिया जाता है। जाते वक्त जिन्ताओ शी से कुछ कहते हुए भी दिखते हैं।

पढ़ें :- रविशंकर प्रसाद का पलटवार, मोदी सरकार में ‘डील और कमीशन’ बंद होने से परेशान हैं राहुल गांधी

पीएम ली कचीयांग को किया साइड

शी जिनपिंग ( Xi Jinping) ने इससे पहले अपने कट्टर विरोधी और देश के दूसरे नंबर के नेता प्रधानमंत्री ली कचीयांग पर भी साइड कर दिया था। जिनपिंग ने ली को सेंट्रल कमिटी से बाहर कर दिया था। ली को जिनपिंग का प्रतिद्वंद्वी माना जाता है। इस तरह शी अपनी राह में हर रोड़े को साइड करते जा रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...