HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. कांग्रेस का बड़ा ‘प्रहार’, कहा- कोरोना से हुई मौत के आंकड़ों को छिपा रही है योगी सरकार

कांग्रेस का बड़ा ‘प्रहार’, कहा- कोरोना से हुई मौत के आंकड़ों को छिपा रही है योगी सरकार

कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश सरकार पर कोरोना से हुई मौत के आंकड़ों को छिपाने का आरोप लगाया है। मंगलवार को कांग्रेस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आरोप लगाया कि केंद्र सरकार और कुछ राज्य सरकारें मौत के आंकड़ों को छिपा रही हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश सरकार पर कोरोना से हुई मौत के आंकड़ों को छिपाने का आरोप लगाया है। मंगलवार को कांग्रेस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आरोप लगाया कि केंद्र सरकार और कुछ राज्य सरकारें मौत के आंकड़ों को छिपा रही हैं। पार्टी की प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि सरकारी आंकड़ों के मुताबिक कोरोना संक्रमण से लखनऊ में 2,268 लोगों की मौतें हुई हैं, लेकिन पिछले डेढ़ महीने यानी पहली अप्रैल से 15 मई तक के आंकड़े कुछ और सच्चाई बयां करते हैं। 15 फरवरी से 31 मार्च तक के आंकड़ों की तुलना की जाए तो 2,000 हजार अतिरिक्त मृत्यु प्रमाणपत्र जारी किए गए हैं।

पढ़ें :- अखिलेश यादव से मिले विनित कुशवाहा समेत कई नेता, सदस्यता अभियान और उपचुनाव को लेकर हुई चर्चा

कांग्रेस का आरोप है कि सरकारी आंकड़ों के मुताबिक एक अप्रैल से 15 मई तक 7,890 मृत्यु प्रमाणपत्र जारी हुए हैं, जबकि 15 फरवरी से 31 मार्च तक 5,970 मृत्यु प्रमाणपत्र जारी किये गये थे।यानी एक अप्रैल से 15 मई तक दो हजार अतिरिक्त मृत्यु प्रमाणपत्र लखनऊ में जारी हुए, लेकिन सरकार इस 2000 अतिरिक्त मृत्यु प्रमाणपत्र को कोरोना से मृत्यु नहीं मान रही है। कांग्रेस ने यूपी सरकार से पूछा कि लखनऊ में मौत के आंकड़ों को क्यों छिपाया जा रहा है? केंद्र और राज्य सरकार आंकड़े को क्यों छिपा रही है?  श्रीनेत ने यह भी आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कहते हैं कि सब कुछ काबू में हैं ,लेकिन गंगा नदी में बेजुबान आंकड़े तैर रहे हैं । वास्तविक मौत के जो आंकड़े आ रहे हैं वह कुछ और कह रहे हैं।

3Ds पर काम कर रही है यूपी सरकार

वहीं, प्रदेश में कांग्रेस विधायक दल की नेता आराधना मिश्रा ने आरोप लगाया कि यूपी सरकार 3-डी पर काम कर रही है, जो हैं- Denial of facts, Destroying Evidence and Data Manipulation। सरकार का पूरा ध्यान कोरोना के अलावा आंकड़े छिपाने पर है। कांग्रेस ने सरकार से सवाल किया कि अब तक लखनऊ नगर निगम को मृत्यु प्रमाणपत्र जारी करने का जो अधिकार था वो सीएमओ के संरक्षण में क्यों दिया गया? ऐसा सरकार ने क्यों किया? पार्टी ने इसे आंकड़ों को छिपाने के लिये लिया गया फैसला बताया।

पढ़ें :- UPSC में एक IAS की भर्ती का घपला सरेआम सामने आने के बाद त्यागपत्र देना कोई समाधान नहीं है: अखिलेश यादव
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...