1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. गुजरात में फिर बढ़ा कोरोना का कहर, चार शहरों में लगा नाइट कर्फ्यू

गुजरात में फिर बढ़ा कोरोना का कहर, चार शहरों में लगा नाइट कर्फ्यू

श में कोरोना का कहर एक बार फिर शुरू हो गया है। कोरोना वायरस के कारण देश के कई राज्यों में लॉकडाउन की स्थिति बन गई है। इसके साथ ही कई राज्यों ने अपने कई क्षेत्रो में नाइट कर्फ्यू लगाने का ऐलान किया है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Corona Havoc In Gujarat Again Night Curfew Imposed In Four Cities

अहमदाबाद। देश में कोरोना का कहर एक बार फिर शुरू हो गया है। कोरोना वायरस के कारण देश के कई राज्यों में लॉकडाउन की स्थिति बन गई है। इसके साथ ही कई राज्यों ने अपने कई क्षेत्रो में नाइट कर्फ्यू लगाने का ऐलान किया है। वहीं, गुजरात में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए सरकार ने चार शहरों में नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया है। गुजरात सरकार की ओर से मंगलवार को जारी गाइडलाइन के मुताबिक, अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत और राजकोट में 17 मार्च से 31 मार्च तक हर रोज रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाया जाएगा।

पढ़ें :- कोरोना की तीसरी लहर का खतरा: सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से कहा-तय करें न हो ऑक्सीजन की कहीं कमी

इसके साथ ही गुजरात में मास्क न पहनने पर भी जुर्माना बढ़ गया है। अब पांच सौ रुपये की जगह एक हजार रुपये का जुर्माना लगेगा। गुजरात के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में गुजरात में कोरोना के 1495 नए केस सामने आए हैं। साथ ही इलाज के बाद 1167 लोग रिकवर हुए हैं और 13 और मरीजों की मौत हुई है। नए मामलों के सामने आने के बाद राज्य में कोरोना के केस बढ़कर 1 लाख 97 हजार 412 हो गए हैं। वहीं इलाज के बाद अब तक 1 लाख 79 हजार 953 मरीज रिकवर हुए हैं। एक्टिव केस की संख्या 13 हजार 600 है और अब तक कुल 3859 लोगों की मौत हो चुकी है।

गौरतलब है कि पिछले साल दीवाली के बाद इन शहरों में कोविड-19 (Covid-19) संक्रमण के मामलों में बेतहाशा बढ़ोत्तरी के बाद नवंबर के अंत में पहली बार नाइट कर्फ्यू लगाया गया था। वहीं इस बार यह नाइट कर्फ्यू का चौथा विस्तार है। अधिकारियों ने कहा कि नवंबर और दिसंबर में प्रतिदिन औसतन 1,500 मामले आते थे, जबकि अब हर दिन संक्रमण के लगभग 250 मामले सामने आते हैं।

 

पढ़ें :- IPL 2021 स्थगित होने के बाद भी खिलाड़ियों काे मिलेगी पूरी सैलरी, बीसीसीआई को 2500 करोड़ नुकसान

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X