1. हिन्दी समाचार
  2. तकनीक
  3. समार्टफोन देर रात तक उपयोग करने से नहीं सो पा रहे ठीक से, चैन की नींद लेने में मदद करेगा iPhone

समार्टफोन देर रात तक उपयोग करने से नहीं सो पा रहे ठीक से, चैन की नींद लेने में मदद करेगा iPhone

आजकल के युवाओं में एक सबसे बड़ी समस्या देखी जा रही है कि देर रात तक स्मार्टफोन उपयोग करने के कारण उनको नींद आने में काफी समय लग जाता है। युवा देर से सोते हैं तो देर से जगते भी हैं। इस कारण तमाम मानसिक समस्यायें और बिमारियां शरीर के अंदर घर कर लेती हैं। लेकिन सबको इस बड़ी समस्या से निजात दिलाने के लिए आईफोन ऐसा फोन लेके आ रहा है जो आपको चैन की नींद लेने में मदद करेगा।

By प्रिन्स राज 
Updated Date

नई दिल्ली। आजकल के युवाओं में एक सबसे बड़ी समस्या देखी जा रही है कि देर रात तक स्मार्टफोन उपयोग करने के कारण उनको नींद आने में काफी समय लग जाता है। युवा देर से सोते हैं तो देर से जगते भी हैं। इस कारण तमाम मानसिक समस्यायें और बिमारियां शरीर के अंदर घर कर लेती हैं। लेकिन सबको इस बड़ी समस्या से निजात दिलाने के लिए आईफोन ऐसा फोन लेके आ रहा है जो आपको चैन की नींद लेने में मदद करेगा।

पढ़ें :- Vivo X90 And Vivo X90 Pro Launch : लॉन्च हुआ Vivo X90 सीरीज फ़ोन, जानें स्पेसिफिकेशन

आसपास अगर बहुत ज्यादा शोर हो रहा है तो बहुत से लोग विचलित हो जाते हैं, फोकस नहीं कर पाते हैं, यहां तक की चैन की नींद भी नहीं ले पाते हैं। हालांकि अगर आप आईफोन यूजर हैं तो अब आप बिंदास चैन की नींद ले सकेंगे। दरअसल, यह सुझाव दिया गया है कि बैकग्राउंड साउंड से इन ‘अनवांटेड’ नॉइज के नकारात्मक प्रभाव को कम किया जा सकता है। एंड्रॉइड स्मार्टफोन और आईफोन पर ढेर सारे ऐप उपलब्ध हैं जो शांत करने वाली आवाज, व्हाइट साउंड, व्हेल मछली की आवाज बजाते हैं।

इस मामले में ऐप्पल एक कदम आगे बढ़ गया है और कंपनी ने एक आईफोन में ऐसे फीचर को इंटीग्रेट किया है जो आपको बेहतर नींद लेने में मदद करने के लिए बैकग्राउंड के शोर को खत्म करता है। फीचर को iOS 15 के हिस्से के रूप में रोल आउट किया गया था और ऐप्पल के अनुसार यह “अनवांटेड एनवायरनमेंटल शोर को मास्क करने के लिए बैकग्राउंड साउंड बजाता है।

कंपनी का कहना है कि ये साउंड डिस्टरबेंस को कम कर सकते हैं और आपको ध्यान केंद्रित करने, शांत करने या आराम करने में मदद कर सकते हैं।” यह फीचर ऐप्पल के वादे के मुताबिक काम करता है लेकिन क्या यह वास्तव में आपको बेहतर नींद या फोकस करने में मदद करता है? यह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति पर निर्भर करता है और इसका कोई यूनिवर्सल उत्तर नहीं हो सकता है।

पढ़ें :- मोदी सरकार ने चीन पर फिर की डिजिटल स्ट्राइक,138 सट्टेबाजी और 94 लोन ऐप का किया बैन
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...