HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. पर्दाफाश
  3. सोनपुर मंडल में बिना पैसा दिए नहीं होता काम, 2000 रुपया दोगे तो जमा किया जाएगा फार्म 

सोनपुर मंडल में बिना पैसा दिए नहीं होता काम, 2000 रुपया दोगे तो जमा किया जाएगा फार्म 

पूर्व मध्य रेलवे के सोनपुर मंडल अंतर्गत सहायक मण्डल अभियंता पश्चिम बरौनी के अधीनस्थ वरिष्ठ खण्ड अभियंता पूर्व रेल पथ समस्तीपुर के कार्यालय में कार्यरत लिपिक व ट्रैकमैन की दादागिरी इस कदर बढ़ गई है। यदि कोई कर्मचारी अपने किसी काम को लेकर कार्यालय जाता है तो उसका काम करने से मना कर दिया जाता है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

सोनपुर। पूर्व मध्य रेलवे के सोनपुर मंडल अंतर्गत सहायक मण्डल अभियंता पश्चिम बरौनी के अधीनस्थ वरिष्ठ खण्ड अभियंता पूर्व रेल पथ समस्तीपुर के कार्यालय में कार्यरत लिपिक व ट्रैकमैन की दादागिरी इस कदर बढ़ गई है। यदि कोई कर्मचारी अपने किसी काम को लेकर कार्यालय जाता है तो उसका काम करने से मना कर दिया जाता है। बताया जाता है कि यदि पैसा दोगे तो काम होगा।

पढ़ें :- गोवर्धनमठ पुरी पीठाधीश्वर शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती का बड़ा बयान, बोले- देश और प्रदेश में चरम पर है भ्रष्टाचार

ऐसा ही घटना ट्रैकमैन देवनारायण साह के साथ हुई। देव नारायण जब अपने बच्चे का एजुकेशन अलाउंस का फार्म जमा करने वरिष्ठ खण्ड अभियंता पूर्व रेलपथ समस्तीपुर के कार्यालय पहुंचे तो उनका भी फार्म जमा करने से मना कर दिया गया। कार्यालय में काम करने वाले बाबू उमेश कुमार एवं ट्रैकमैन श्रीराम विनोद राय ने बोला कि यदि 2000 रुपया दोगे तो फार्म जमा किया जाएगा। कर्मचारी ने इसका विरोध किया तो उससे मारपीट व गाली गलौज किया गया।

पढ़ें :- SEBI ने Internet-Based Trading रूल्स में किया बदलाव,आज से लागू हुआ नया नियम

देवनारायण ने जब इसका वीडियो बनाना चाहा तो कार्यालय में काम करने वाले ट्रैकमैन श्रीराम विनोद राय ने गाली देते हुए बताया गया कि चुपचाप यहां से निकल जाओ नहीं तो मुझे जानते नहीं हो मैं यही का रहने वाला हूं तुम्हें जान से मार दूंगा। देव नारायण डर के मारे कार्यालय से बाहर आ गया।

कार्यालय में काम करने वाले ट्रैकमैन श्रीराम विनोद राय कार्यालय में काम करते हुए भी जोखिम भत्ता लें रहा है। परंतु इमानदारी से ट्रैक पर कार्य करने वाले ट्रैकमैनो का काम बिना पैसे लिए नहीं करता है। वायरल वीडियो में साफ दिख रहा है कि श्री राम विनोद राय कर्मचारियों के काम को करने के बजाय तंबाकू (खैनी) रगड़ने में मस्त हैं और ये सभी घटनाएं कार्यालय लिपिक उमेश कुमार के संरक्षण एवं मौजूदगी में हो रही है।

सोनपुर मंडल प्रशासन से 84 ट्रैकमैनो ने लिखित रूप से शिकायत, इसके बावजूद नहीं हो रही है कोई कार्रवाई

84 trackmen complained in writing

रेलवे प्रशासन अपनी तरफ से लाख भ्रष्टाचार मुक्त काम का दावा कर रहा है, परंतु हकीकत ये है कि वरिष्ठ खण्ड अभियंता रेलपथ पूर्व के कार्यालय में बिना पैसा दिए कोई काम नहीं हो सकता है। इसका जिम्मेदार भी स्वयं सोनपुर मंडल प्रशासन है क्योंकि जब 84 ट्रैकमैनो ने लिखित रूप से शिकायत करने के बावजूद भी जब कोई कार्रवाई नहीं हो रही है तो इसका मतलब है कि नीचे से लेकर मंडल तक सभी लोग आपसी मिलीभगत से भ्रष्टाचार कर रहे हैं। ऐसे मामलों में रेल प्रशासन को कड़ा कदम उठाने की आवश्यकता है।

पढ़ें :- Lok Sabha Election 2024 : देश में थम गया चुनावी शोर, सातवें चरण में पीएम मोदी इन दिग्गजों के भाग्य का होगा फैसला

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...