1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. मेडिकल कोर्सेज में रिजर्वेशन पर मोदी सरकार का बड़ा फैसला, OBC को 27 और EWS को 10 फीसदी मिलेगा आरक्षण

मेडिकल कोर्सेज में रिजर्वेशन पर मोदी सरकार का बड़ा फैसला, OBC को 27 और EWS को 10 फीसदी मिलेगा आरक्षण

मोदी सरकार (Modi government) ने मेडिकल एजुकेशन (Medical Courses) के ऑल इंडिया कोटे में बड़ा बदलाव किया है। इसके तहत गुरुवार को केंद्र सरकार ने ओबीसी (OBC) वर्ग को 27 फीसदी और ईडब्ल्यूएस (EWS) वर्ग को 10 फीसदी आरक्षण देने के फैसले पर मुहर लगा दी है। दोनों वर्गों को इसी सत्र से आरक्षण (Reservation)का फायदा मिलेगा।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। मोदी सरकार (Modi government) ने मेडिकल एजुकेशन (Medical Courses) के ऑल इंडिया कोटे में बड़ा बदलाव किया है। इसके तहत गुरुवार को केंद्र सरकार ने ओबीसी (OBC) वर्ग को 27 फीसदी और ईडब्ल्यूएस (EWS) वर्ग को 10 फीसदी आरक्षण देने के फैसले पर मुहर लगा दी है। दोनों वर्गों को इसी सत्र से आरक्षण (Reservation)का फायदा मिलेगा। सरकार ने कहा कि पिछड़ों, आर्थिक रूप से कमजोर तबकों को देय आरक्षण उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध, निर्णय से अन्य पिछड़ा वर्ग,आर्थिक रूप से कमजोर तबकों के लगभग 5,550 विद्यार्थी लाभान्वित होंगे।

पढ़ें :- BJP के चुनावी स्वार्थ की OBC राजनीति का पर्दाफाश, इनकी कथनी व करनी में अंतर : मायावती
Jai Ho India App Panchang

फैसले की जानकारी देते हुए पीएम मोदी(Pm modi )ने बताया कि हमारी सरकार ने वर्तमान शैक्षणिक वर्ष से यूजी और PG Medical / Dental Course के लिए ऑल इंडिया कोटा स्कीम में ओबीसी के लिए 27 फीसदी आरक्षण और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए 10 फीसदी आरक्षण प्रदान करने का ऐतिहासिक निर्णय लिया है। यह हमारे देश में सामाजिक न्याय का नया प्रतिमान बनाएगा।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Union Health Ministry) के तरफ से जारी एक बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को हुई एक बैठक में निर्देश दिया था कि संबंधित केंद्रीय मंत्रालय लंबे समय से लटके पड़े इस मुद्दे का प्रभावी समाधान निकालें।

अब अकादमिक सत्र 2021-22 से ही MBBS, MDS, MS, Diploma and MDS courses में ऑल इंडिया कोटे के तहत ओबीसी वर्ग को 27 फीसदी और आर्थिक रूप से कमजोर (EWS) वर्ग को 10 फीसदी आरक्षण मिलेगा। वर्तमान में करीब 15 फीसदी यूजी, 50 फीसदी पीजी मेडिकल सीटें राज्य सरकारों द्वारा ऑल इंडिया कोटे के तहत भरी की जाती हैं। इसमें एससी व एसटी के लिए तो सीटें आरक्षित हैं, लेकिन ओबीसी के लिए नहीं। ओबीसी वर्ग के मेडिकल स्टूडेंट्स द्वारा लंबे समय से इस मसले को सुलझाने की मांग की जा रही थी। केंद्रीय योजना होने की वजह से इस आरक्षण के लिए ओबीसी से संबंधित केंद्रीय सूची का इस्तेमाल किया जाएगा।

ओबीसी वर्ग के मंत्रियों, सांसदों ने  मोदी को दिया था ज्ञापन

पढ़ें :- नहीं होगी जाति आधारित जनगणना, सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार ने कर दिया क्लियर

राष्ट्रीय पात्रता एवं प्रवेश परीक्षा (NEET) के तहत मेडिकल कालेजों में प्रवेश में अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) के लिए ऑल इंडिया कोटा लागू करने की मांग को लेकर केन्द्रीय श्रम मंत्री भूपेन्द्र यादव के नेतृत्व में ओबीसी वर्ग के केन्द्रीय मंत्रियों एवं सांसदों ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को एक ज्ञापन सौंपा था। मोदी को ज्ञापन सौंपने वालों में यादव के अलावा केन्द्रीय इस्पात मंत्री आरसीपी सिंह, केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल, सांसद रामनाथ ठाकुर, गणेश सिंह, सकलदीप राजभर, जयप्रकाश निषाद और सुरेन्द्र नागर शामिल थे। ज्ञापन में नीट परीक्षा में ओबीसी वर्ग के लिए केन्द्रीय कोटा लागू करने की मांग की गयी थी। पटेल ने बताया कि श्री मोदी ने ओबीसी वर्ग के होनहार युवाओं के साथ पूरी तरह न्याय करने का आश्वासन दिया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...