HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. नोएडा : कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए योगी सरकार तैयार, अब गांवों में होगा वैक्सीनेशन

नोएडा : कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए योगी सरकार तैयार, अब गांवों में होगा वैक्सीनेशन

नोएडा दौरे यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि कोरोना की तीसरी लहर और ब्लैक फंगस पर नियंत्रण की योजना के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि ब्लैक फंगस को लेकर हमने ट्रेनिंग शुरू कर दी है। हम पूरी सावधानी के साथ इसपर काम कर रहे हैं। साथ ही कोरोना संक्रमण के थर्ड वेव से निपटने के लिए भी सरकार पूरी तरह से तैयार है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नोएडा। नोएडा दौरे यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि कोरोना की तीसरी लहर और ब्लैक फंगस पर नियंत्रण की योजना के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि ब्लैक फंगस को लेकर हमने ट्रेनिंग शुरू कर दी है। हम पूरी सावधानी के साथ इसपर काम कर रहे हैं। साथ ही कोरोना संक्रमण के थर्ड वेव से निपटने के लिए भी सरकार पूरी तरह से तैयार है।

पढ़ें :- परिजनों की डांट से क्षुब्ध होकर युवती ने नदी में लगाई छलांग, तलाश जारी

यूपी के गांवों में संक्रमण की रोकथाम को लेकर सीएम ने कहा कि प्रदेश के 58,000 ग्राम पंचायतों में टीमें काम कर रही हैं। हमने यूपी में कोरोना की संक्रमण को रोका। एक्सपर्ट जो कह रहे थे कि यूपी में 1 लाख केस आएंगे, उसे हमने गलत साबित किया, क्योंकि हम जागरूकता के साथ ग्राउंड पर टीम के साथ काम कर रहे थे। यूपी में कोरोना टीकाकरण को लेकर उन्होंने कहा कि सरकार ने वैक्सीन के लिए ग्लोबल टेंडर दिया है, साथ ही 6 कंपनियों में प्री-बिड दिया है। जो लोग वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन नहीं करा सकते, उनके लिए गांवों की पंचायत में ही वैक्सीन की व्यवस्था हो रही है।

सीएम योगी ने कहा कि कोरोना की सेकेंड वेव के लिए हमने 5 मई से ही तैयारी शुरू कर दी थी। तीसरी लहर में भी बच्चों के लिए जो कहा जा रहा है, उसके लिए हम पहले से ही तैयारी कर चुके हैं। सीएम ने कहा कि इंसेफेलाइटिस से लड़ने के लिए हमने 38 जिलों में बच्चों के लिए हॉस्पिटल पहले से ही बनाए हैं। साथ ही इंसेफेलाइटिस पर हमने काबू पा लिया है। उन्होंने कहा कि महामारी में बचाव ही उपाय है, आप अपना मनोबल न टूटने दें।

यूपी के कई जिलों में गंगा में लाशें मिलने की खबरों पर मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्नाव में गंगा में मिली डेड बॉडी नार्मल डेथ के लोगों की है, जो श्मशान घाट पर डर के कारण नहीं गए और नदी में ही शवों की प्रवाहित कर दिया। उन्होंने कहा कि अंतिम संस्कार के लिए सरकार ने हर पंचायतों में 5000 रुपये की राशि दी है, ताकि सभी का सम्मान के साथ अंतिम संस्कार हो सके।

पढ़ें :- यूपी सरकार और संगठन के बीच बढ़ी तकरार, दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री सोनम किन्नर ने अपने पद से दिया इस्तीफा
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...