1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. परमबीर सिंह के ‘लेटर बम’ से महाराष्ट्र में सियासी घमासान, संजय राउत बोले- राष्ट्रपति शासन के बारे में सोचा भी तो…

परमबीर सिंह के ‘लेटर बम’ से महाराष्ट्र में सियासी घमासान, संजय राउत बोले- राष्ट्रपति शासन के बारे में सोचा भी तो…

ज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख के इस्तीफे को लेकर महाराष्ट्र में सियासी घमासान चरम पर पहुंच गया है। इसको लेकर संजय राउत ने कहा है कि अगर सरकार सही जांच के लिए तैयार है, तो फिर बार-बार इस्तीफे की बात क्यों हो रही है। सोमवार को शिवसेना सांसद संजय राउत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। राउत ने कहा, आरोप कोई भी लगा सकता है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

मुंबई: राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख के इस्तीफे को लेकर महाराष्ट्र में सियासी घमासान चरम पर पहुंच गया है। इसको लेकर संजय राउत ने कहा है कि अगर सरकार सही जांच के लिए तैयार है, तो फिर बार-बार इस्तीफे की बात क्यों हो रही है। सोमवार को शिवसेना सांसद संजय राउत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। राउत ने कहा, आरोप कोई भी लगा सकता है। यदि लोग इसी तरह नेताओं के इस्तीफे मांगते रहेंगे तो सरकार चलाना मुश्किल हो जाएगा।

पढ़ें :- फ्लोर टेस्ट के आदेश को उद्धव सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दी चुनौती, सुनवाई आज शाम 5 बजे

उन्होंने भाजपा द्वारा अनिल देशमुख के इस्तीफे की बात को लेकर कहा कि जब सरकार जांच के लिए तैयार है तो बार-बार इस्तीफे की बात क्यों हो रही है। बता दें मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह द्वारा सीएम उद्धव ठाकरे को चिट्ठी लिखकर महाराष्ट्र के गृह मंत्री पर गंभीर आरोप लगाए गए है।

सांसद संजय राउत ने कहा कि अगर शरद पवार ने ये तय किया है कि अनिल देशमुख के ऊपर जो आरोप लगाए गए हैं, उसमें तथ्य नहीं है तो उसकी जांच होनी चाहिए। संजय राउत ने आरोप लगाया कि केंद्रीय एजेंसियों का गलत इस्तेमाल कर महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की कोशिश हो रही है, लेकिन जो ऐसा कदम उठा रहे हैं उनके लिए ठीक नहीं होगा।

अगर ऐसा सोचा तो मैं उन्हें चेतावनी देता हूं कि ये आग उन्हें भी जला देगी। शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि अगर NCP प्रमुख शरद पवार ने ये तय किया है कि अनिल देशमुख के ऊपर जो आरोप लगाए गए हैं, उसमें तथ्य नहीं है तो उसकी जांच होनी चाहिए।

 

पढ़ें :- Uddhav government crisis: मुश्किलों में फंसे संजय राउत, ईडी ने भेजा दूसरा नोटिस, एक जुलाई को पेश होने के आदेश

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...