1. हिन्दी समाचार
  2. ख़बरें जरा हटके
  3. Pre-wedding shoot in operation theatre: कर्नाटक में सरकारी अस्पताल के ऑपरेशन थ्रियेटर में प्री वेडिंग शूट कराने वाला डॉक्टर हुआ बर्खास्त

Pre-wedding shoot in operation theatre: कर्नाटक में सरकारी अस्पताल के ऑपरेशन थ्रियेटर में प्री वेडिंग शूट कराने वाला डॉक्टर हुआ बर्खास्त

शादी को यादगार बनाने के लिए प्री वेडिंग शूट का खूब चलन है। अब तक आपने वेडिंग शूट ऐतिहासिक इमारतों, नदी, पहाड़, समुद्र आदि लोकेशन में होते हुए देखा या फिर सुना होगा। लेकिन कर्नाटक में एक डॉक्टर ने सारी हदें पार कर दी।

By प्रिन्सी साहू 
Updated Date

Pre-wedding shoot in operation theatre: शादी को यादगार बनाने के लिए प्री वेडिंग शूट का खूब चलन है। अब तक आपने वेडिंग शूट ऐतिहासिक इमारतों, नदी, पहाड़, समुद्र आदि लोकेशन में होते हुए देखा या फिर सुना होगा। लेकिन कर्नाटक में एक डॉक्टर ने सारी हदें पार कर दी। जब एक डॉक्टर ने अपने मंगेतर के साथ मिलकर ऑपरेशन थिएटर में प्री वेडिंग शूट करा डाला। सोशल मीडिया में इस अनोखे वेडिंग शूट का वीडियो खूब वायरल हो रहा है।

पढ़ें :- Viral Video: जब पति को दूसरी लड़की के साथ पत्नी से पकड़ा, किया दोनों का ऐसा हाल....

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार चित्रदुर्ग के भरमसागर क्षेत्र के जिला अस्पताल में अनुबंध पर सेवाएं देने वाले डॉक्टर अभिषेक ने थिएटर में प्री वेडिंग शूट कराया। इस दौरान थिएटर के बेड पर एक व्यक्ति को मरीज बनाकर लेता हुआ नजर आ रहा है। वही वीडियो में साथ में डॉक्टर अपनी मंगेतर के साथ खड़ी है और डॉक्टर नकली ऑपरेशन करता हुआ नजर आ रहा है।

पढ़ें :- Rajya Sabha Elections Karnataka: कर्नाटक में कांग्रेस के तीन और भाजपा के एक उम्मीदवार को मिली जीत

पढ़ें :- Viral video: जब बिना ड्राइवर के जम्मू से पंजाब पहुंच गई मालगाड़ी, रेलवे में मचा हड़कंप

सोशल मीडिया में यह वीडियो खूब वायरल हो रहा है। लोग तरह तरह के कमेंट कर रहे है । वही यह वीडियो वायरल होने के बाद जिला कलेक्टर टी वेंकटेश ने आरोपी डॉ अभिषेक को बर्खास्त करने का आदेश दिया है। साथ ही कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री दिनेश गुंडू राव ने सोशल मीडिया के प्लेटफार्म एक्स इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा है कि चित्रदुर्ग के भारमसागर सरकारी अस्पताल के ऑपरेशन थिएटर में प्री वेडिंग शूट कराने वाले चिकित्सक को सेवा से बर्खास्त कर दिया है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इससे पहले ही संबंधित डॉक्टरों और कर्मचारियों को सावधान रहने का निर्देश दिया जा चुका है ताकि सरकारी अस्पतालों में इस तरह का दुर्व्यवहार न हो। मंत्री ने कहा कि सभी को यह याद रखना चाहिए सरकार ऐसी चिकित्सा सुविधाएं आम लोगों के स्वास्थ्य के देखभाल के लिए प्रदान करती है।

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...