1. हिन्दी समाचार
  2. पर्दाफाश
  3. Rahul Gandhi in Loksabha : मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा, लोकसभा में 138 दिन बाद बोलेंगे राहुल गांधी

Rahul Gandhi in Loksabha : मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा, लोकसभा में 138 दिन बाद बोलेंगे राहुल गांधी

केंद्र की मोदी सरकार (Modi Government) आज मंगलवार यानी 8 अगस्त 2023  को संसद में अपने खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव (No-Confidence Motion) का सामना करेगी। मोदी सरकर के इस कार्यकाल का यह पहला अविश्वास प्रस्ताव है। साल 2018 में सरकार ने अपने पहले कार्यकाल में अविश्वास प्रस्ताव का सामना किया था। वहीं, अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान सभी की नजरें कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) पर टिकी होंगी। 

By Abhimanyu 
Updated Date

Rahul Gandhi in Loksabha : केंद्र की मोदी सरकार (Modi Government) आज मंगलवार यानी 8 अगस्त 2023  को संसद में अपने खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव (No-Confidence Motion) का सामना करेगी। मोदी सरकर के इस कार्यकाल का यह पहला अविश्वास प्रस्ताव है। साल 2018 में सरकार ने अपने पहले कार्यकाल में अविश्वास प्रस्ताव का सामना किया था। वहीं, अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान सभी की नजरें कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) पर टिकी होंगी।

पढ़ें :- ‘बेरोज़गारी की बीमारी’ की चपेट में IIT जैसे शीर्ष संस्थान, पीएम मोदी के पास न रोज़गार देने की नीति और न ही नीयत : राहुल गांधी

दरअसल, विपक्ष की मांग है कि पीएम नरेंद्र मोदी, मणिपुर हिंसा (Manipur Violence) मामले में संसद को संबोधित करें। लोकसभा बिजनेस एडवाइजरी कमेटी (Lok Sabha Business Advisory Committee) ने अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के लिए तीन दिनों का समय दिया है। पीएम मोदी 10 अगस्त को इस प्रस्ताव का जवाब देंगे। मोदी सरमेन मामले में सजा पर रोक लगाने के बाद राहुल गांधी पहली बार लोकसभा की चर्चा में हिस्सा लेने वाले हैं। वह 138 दिन बाद लोकसभा में बोलने वाले हैं। इस दौरान यह देखना दिलचस्प होगा कि राहुल गांधी मणिपुर हिंसा समेत अन्य मुद्दों पर क्या कहते हैं। इससे पहले 2018 में राहुल गांधी ने मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर में खूब सुर्खियां बटोरी थीं। इस दौरान वह अचानक ही पीएम मोदी के पास पहुंचे थे और उन्हें गले लगाया था।

केरल की वायनाड सीट से लोकसभा सांसद राहुल गांधी ने 13 अप्रैल 2019 को कर्नाटक में एक रैली में मोदी सरनेम पर विवादित टिप्पणी की थी। राहुल गांधी ने कहा था कि सभी चोरों का सरनेम मोदी क्यों होता है?’ इसी मामले पर इसी साल 23 मार्च को उन्हें मानहानि का दोषी करार देते हुए दो साल की सजा सुनाई गई थी। इसके बाद उनकी सदस्यता रद्द कर दी गई थी। वहीं, हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने राहुल की सजा पर रोक लगा दी थी। जिसके बाद राहुल की लोकसभा सदस्यता बहाल कर दी गयी है। अब वह 137 दिन बाद दोबारा संसद में लौटे हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...