1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. शरद पवार ने ‘मिशन 2024’ का बताया फॉर्मूला, कहा- विपक्ष करे ये काम तो मोदी सरकार की हार तय

शरद पवार ने ‘मिशन 2024’ का बताया फॉर्मूला, कहा- विपक्ष करे ये काम तो मोदी सरकार की हार तय

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (Nationalist Congress Party) के प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar)  ने 2024 के लोकसभा चुनावों (Lok Sabha Elections) को लेकर बुधवार को बड़ा बयान दिया है। इस दौरान उन्होंने विपक्ष को मिशन 2024 के लिए जीत का फॉर्मूला सुझाया है। उन्होंने कहा कि 2024 का चुनाव विपक्षी दल साथ मिलकर लड़ सकते हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (Nationalist Congress Party) के प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar)  ने 2024 के लोकसभा चुनावों (Lok Sabha Elections) को लेकर बुधवार को बड़ा बयान दिया है। इस दौरान उन्होंने विपक्ष को मिशन 2024 के लिए जीत का फॉर्मूला सुझाया है। उन्होंने कहा कि 2024 का चुनाव विपक्षी दल साथ मिलकर लड़ सकते हैं। उन्होंने कहा कि विपक्षी दल न्यूनतम साझा कार्यक्रम के (Common Minimum Program) तहत एकजुट हो सकते हैं। बता दें कि शरद पवार (Sharad Pawar)  मोदी सरकार (Modi Government)के खिलाफ विपक्ष को एकजुट करने में लगे हुए हैं। इसी कड़ी में उनका ये बयान सामने आया है।

पढ़ें :- IAS Transfer: यूपी में पांच आईएएस अफसरों के हुए तबादले, दुर्गा शक्ति नागपाल बनीं डीएम बांदा

उनका ये बयान ऐसे समय में सामने आया है । जब हाल ही में उन्होंने ये कहते हुए खुद प्रधानमंत्री की दौड़ से बाहर कर दिया था कि देश की सत्ता की कोई जिम्मेदारी आगे वे स्वीकार नहीं करेंगे और उनकी इस तरह की कोई इच्छा नहीं है। उन्होंने ये भी कहा था कि केंद्र के दमन के खिलाफ वह सभी विपक्षी पार्टियों को एकजुट करने का काम करेंगे।

शरद पवार (Sharad Pawar)  ने ये भी कहा कि उन्हें ये नहीं पता था कि उनकी उंगली पकड़ने वाला देश पर इस तरह भारी पड़ेगा। दरअसल उनसे सवाल किया गया था कि नरेंद्र मोदी (Modi Government) ने बारामती में कहा था कि वे शरद पवार (Sharad Pawar)  की उंगली पकड़कर राजनीति में आगे बढ़े हैं। इसी सवाल पर पवार ने जवाब दिया था। शरद पवार (Sharad Pawar) ने ये भी कहा कि मोदी सरकार जब से सत्ता में आई है उसने एक भी वादा पूरा नहीं किया। शरद पवार ने कहा था कि विपक्षी दलों को साथ लाने और बीजेपी के खिलाफ जनमत तैयार करने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं। मैं सिर्फ बीजेपी (BJP)  के खिलाफ जनमत पैदा करने के लिए विपक्षी दलों को साथ लाने की कोशिश करूंगा।

उन्होंने कहा कि बीजेपी (BJP)  अपने विरोधियों के खिलाफ जो कर रही वो और कुछ नहीं बल्कि संसदीय लोकतंत्र (Parliamentary Democracy) पर एक हमला है। सभी गैर बीजेपी (BJP)  शासित राज्यों में वह विधायकों को तोड़ने और सत्ता हथियाने की कोशिश कर रही है।

विपक्षी एकता का चेहरा कौन होगा? इसको लेकर क्लियर नहीं है  विपक्ष

पढ़ें :- Bihar News: गृहमंत्री अमित शाह का सासाराम दौरा हुआ स्थिगित, उपद्रव के बाद जिले में हालात तनावपूर्ण

बता दें कि बीजेपी (BJP) को हराने के लिए 2024 में विपक्षी एकता की बात पहले भी कई बार चर्चा में आई है, लेकिन अब तक विपक्ष इस चीज को लेकर क्लियर नहीं है कि इस विपक्षी एकता का चेहरा कौन होगा? कांग्रेस इस विपक्षी एकता को लीड करने से बचती रही है। ऐसे में सबसे पहले टीएमसी प्रमुख और पश्चिम बंगाल (West Bengal) की सीएम ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) का नाम आगे आया था, लेकिन उनपर सहमति बनती नहीं दिखी।

फिलहाल बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर दांव लगाया जा सकता है। 2024 में नीतीश कुमार (Nitish Kumar) विपक्षी नेताओं में पीएम की रेस में सबसे आगे दिख रहे हैं। हालांकि, अरविंद केजरीवाल का भी नाम लिस्ट में है। आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) के मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) ने यहां तक कह दिया था कि 2024 में अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ही प्रधानमंत्री बनेंगे।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...