1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. Shattila Ekadashi 2022 : षटतिला एकादशी के दिन तिल का दान करने से होती है मोक्ष की प्राप्ति , जानें महत्व

Shattila Ekadashi 2022 : षटतिला एकादशी के दिन तिल का दान करने से होती है मोक्ष की प्राप्ति , जानें महत्व

माघ मास बहुत ही पुनीत है। इस मास में दान का बहुत ही महत्व है। हिंदू पंचांग के अनुसार माघ मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को षटतिला एकादशी पड़ती है। इस दिन भगवान विष्णु को तिल का भोग लगाया जाता है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Shattila Ekadashi 2022 : माघ मास बहुत ही पुनीत है। इस मास में दान का बहुत ही महत्व है। हिंदू पंचांग के अनुसार माघ मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को षटतिला एकादशी पड़ती है। इस दिन भगवान विष्णु को तिल का भोग लगाया जाता है। ऐसी मान्यता है कि इस व्रत दिन व्रत रहने और श्रीहरि की पूजा का विशेष महत्व है। षटतिला एकादशी के दिन पानी में तिल डालकर स्नान करते हैं। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, षटतिला एकादशी के दिन तिल का दान करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है। आइए जानते हैं कि इस वर्ष षटतिला एकादशी कब है, पूजा का मुहूर्त, तिथि, पारण समय क्या है?

पढ़ें :- 26 मई 2022 का राशिफल: इन 4 राशि के जातकों को नौकरी/ कारोबार में होगा बड़ा लाभ, इन्हे रहना होगा सावधान

षटतिला एकादशी 2022 तिथि एवं मुहूर्त
हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, माघ मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि का प्रारंभ 28 जनवरी दिन शुक्रवार को 02 बजकर 16 मिनट पर हो रहा है। इस तिथि का समापन उसी रात 23 बजकर 35 मिनट पर होगा। ऐसे में षटतिला एकादशी का व्रत 28 जनवरी को रखा जाएगा।29 जनवरी दिन शनिवार को प्रात: 07 बजकर 11 मिनट से सुबह 09 बजकर 20 मिनट के बाद पारण कर सकते हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...