HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. SII ने कार्यकारी निदेशक के बयान से झाड़ा पल्ला, बोली- कोविड से जंग में वह सरकार के साथ है खड़ी

SII ने कार्यकारी निदेशक के बयान से झाड़ा पल्ला, बोली- कोविड से जंग में वह सरकार के साथ है खड़ी

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) ने अपने कार्यकारी निदेशक के बयान से खुद को अलग कर लिया है। जिसमें उन्होंने कहा कि सरकार ने उपलब्ध भंडार पर विचार किए बगैर विभिन्न आयु वर्ग के लिए कोविड-19 का टीकाकरण अभियान शुरू कर दिया है। इस पर एसआईआई ने कहा कि यह कंपनी का विचार नहीं है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) ने अपने कार्यकारी निदेशक के बयान से खुद को अलग कर लिया है। जिसमें उन्होंने कहा कि सरकार ने उपलब्ध भंडार पर विचार किए बगैर विभिन्न आयु वर्ग के लिए कोविड-19 का टीकाकरण अभियान शुरू कर दिया है। इस पर एसआईआई ने कहा कि यह कंपनी का विचार नहीं है।

पढ़ें :- Braj Mandal Yatra: ब्रज मंडल यात्रा से पहले नूंह में इंटरनेट-SMS सेवा 24 घंटे के लिए बंद , सरकार अलर्ट

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को 22 मई को लिखे पत्र में पुणे स्थित एसआईआई में सरकार और नियामक मामलों के निदेशक प्रकाश कुमार सिंह ने स्पष्ट किया कि हाल में एक समारोह में इसके कार्यकारी निदेशक सुरेश जाधव द्वारा दिया गया बयान कंपनी का बयान नहीं है।

कंपनी की ओर से जारी नहीं किया गया बयान

उन्होंने पत्र में कहा कि अपने सीईओ अदार सी. पूनावाला की तरफ से मैं आपको सूचित करना चाहता हूं कि यह बयान एसआईआईपीएल (सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया प्राइवेट लिमिटेड) की तरफ से जारी नहीं किया गया है। इस बयान से कंपनी खुद को अलग करती है। यह बात फिर दोहराई जाती है कि यह कंपनी का विचार बिल्कुल नहीं है।

कोरोना के खिलाफ जंग में सरकार के साथ खड़ी है एसआईआई

पढ़ें :- IND W vs UAE W: इंडिया विमेंस ने यूएई को 78 रनों से चटायी धूल; Richa Ghosh ने खेली तूफानी पारी

उन्होंने कहा कि एसआईआईपीएल कोविशील्ड का उत्पादन बढ़ाने के लिए कृतसंकल्प है। कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में वह सरकार के साथ खड़ी है। एसआईआई ने यह भी स्पष्ट किया कि पूनावाला कंपनी की तरफ से एकमात्र आधिकारिक प्रवक्ता हैं।

जानें आखिरकार क्या है पूरा मामला?

देश में कोविड-19 के टीका की कमी के बीच एसआईआई के कार्यकारी निदेशक सुरेश जाधव ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि टीके के उपलब्ध भंडार और डब्ल्यूएचओ के दिशा-निर्देश पर विचार किए बगैर सरकार ने विभिन्न आयु वर्ग के लिए टीकाकरण अभियान शुरू कर दिया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...