1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. पीएम मोदी को लेकर पाकिस्तान के सत्ताधारी दल व विपक्ष में खिंची तलवार, जानें क्या है मामला?

पीएम मोदी को लेकर पाकिस्तान के सत्ताधारी दल व विपक्ष में खिंची तलवार, जानें क्या है मामला?

पाकिस्तान में सियासी उथल-पुथल जारी है। इसके बीच पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के बयान पर पाकिस्तान की सियासत में बवाल मच गया है। बता दें कि इमरान खान (Imran Khan)  ने एक इंटरव्यू में कहा था कि अगर सरकार सही फैसले नहीं लेगी तो पाकिस्तान के तीन टुकड़े हो जाएंगे। उनके इस बयान पर पाकिस्तान में हंगामा मच गया है। इमरान खान के बयान की निंदा करने वालों में पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) के को-चेयरमैन आसिफ अली जरदारी भी हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। पाकिस्तान में सियासी उथल-पुथल जारी है। इसके बीच पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के बयान पर पाकिस्तान की सियासत में बवाल मच गया है। बता दें कि इमरान खान (Imran Khan)  ने एक इंटरव्यू में कहा था कि अगर सरकार सही फैसले नहीं लेगी तो पाकिस्तान के तीन टुकड़े हो जाएंगे। उनके इस बयान पर पाकिस्तान में हंगामा मच गया है। इमरान खान के बयान की निंदा करने वालों में पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) के को-चेयरमैन आसिफ अली जरदारी भी हैं।

पढ़ें :- Pakistan Economy: पाकिस्तान लस्सी - सत्तू के भरोसे  अर्थव्यवस्था की तस्वीर में भरेगा रंग , स्थानीय पेय की खपत से चाय का होगा मुकाबला

 

पाकिस्तानी की नहीं मोदी की भाषा

पाकिस्तान में पूर्व राष्ट्रपति आशिफ अली जरदारी ने कहा कि इमरान खान की भाषा किसी पाकिस्तानी की नहीं बल्कि मोदी की भाषा लग रही है, क्योंकि कोई भी पाकिस्तानी पाकिस्तान को तीन टुकड़ों में तोड़ने की बात नहीं कह सकता। जरदारी ने इमरान खान को नसीहत देते हुए कहा कि सत्ता ही सब कुछ नहीं है। बहादुर बनो और खुद के पैरों पर खड़े होकर राजनीति करो। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को टुकड़ों में तोड़ने की इच्छा तब तक पूरी नहीं हो सकती, जब तक हम और हमारे वंशज जिंदा हैं।

कयामत के दिन तक पाकिस्तान का वजूद रहेगा। पीएमएल-एन नेता तलाल चौधरी ने भी इमरान खान के बयान की निंदा करते हुए कहा कि मानसिक रूप से बीमार शख्स ही इस तरह की बात कह सकता है।

उन्होंने कहा, पूर्व में इमरान खान ने पाकिस्तान पर परमाणु बम गिराने का भी सुझाव दिया था। उन्होंने लोगों से सरकार के खिलाफ आंदोलन करने और हुंडी (हवाला) के जरिये पैसे भेजने की भी बात कही थी। उन्होंने कहा, अब समय इमरान खान के खिलाफ एक्शन लेने का है। सुप्रीम कोर्ट ने आजादी मार्च पर अपने आदेश के उल्लंघन के संबंध में रिपोर्ट मांगी है। मुझे उम्मीद है कि इमरान के खिलाफ कार्रवाई होगी।

वहीं, पीएमएल-एन नेता आसिफ किरमानी (PML-N leader Asif Kirmani) ने कहा कि सत्ता खोने के बाद से इमरान खान बदला लेने चाहते हैं। पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (PDM ) प्रवक्ता हाफिज हमदुल्ला ने इमरान खान पर भड़कते हुए कहा, सत्ता के लालच में इमरान खान पाकिस्तान के टुकड़े करने की बातें कर रहे हैं। इससे पता चलता है कि वह पाकिस्तान के दुश्मनों के एजेंट हैं। इस बीच पाकिस्तान सरकार में मंत्री जावेद लतीफ ने इमरान खान को देशद्रोही तक कह डाला।

पढ़ें :- Uddhav Thackeray ने बागी मंत्रियों के पर कतरे, वापस लिया विभाग

लतीफ ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था को कमजोर कर इमरान ने देश को भारी नुकसान पहुंचाया है। सही फैसले नहीं लेने पर टुकड़े-टुकड़े होगा पाकिस्तान बता दें कि एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में इमरान खान ने कहा था कि यहां असल समस्या पाकिस्तान और उसकी सरकार है। अगर सरकार सही फैसले नहीं लेती तो मैं लिखित में कह सकता हूं कि वे बर्बाद हो जाएंगे। सेना सबसे पहले नष्ट होगी। इमरान खान ने चेतावनी देते हुए कहा था कि एक बार देश के बर्बाद होने पर वह दिवालिया हो जाएगा. इसके बाद अंतरराष्ट्रीय समुदाय पाकिस्तान से उसी तरह परमाणु हथियारों को नष्ट करने को कह देगा, जैसा यूक्रेन के साथ 1990 के दशक में किया गया था।

इमरान खान के इस बयान पर बखेड़ा खड़ा होने पर प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ (Prime Minister Shahbaz Sharif) ने इमरान को नसीहत दी। शहबाज फिलहाल तुर्की के तीन दिवसीय दौरे पर हैं। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि मैं फिलहाल तुर्की में समझौते कर रहा हूं। इमरान देश को खुलेआम धमकी दे रहे हैं। यह सिद्ध करने के लिए कि नियाजी प्रधानमंत्री पद के अयोग्य थे, उनका ताजा इंटरव्यू इसका उदाहरण है। अपनी राजनीति करो लेकिन सीमा पार मत करो. पाकिस्तान के टुकड़े होने की बात मत करो।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...