1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. जीरो टॉलरेंस में भ्रष्टाचार का दीमक, देखिए किस तरह थर्ड पार्टी इंस्पेक्शन का सुपरवाइजर ले रहा घूस

जीरो टॉलरेंस में भ्रष्टाचार का दीमक, देखिए किस तरह थर्ड पार्टी इंस्पेक्शन का सुपरवाइजर ले रहा घूस

Termite Of Corruption In Zero Tolerance See How The Third Party Inspection Supervisor Is Taking Bribe

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

लखनऊ। गाजियाबाद के मुरादनगर में हुए दर्दनाक हादसे के बाद जीरो टॉलरेंस का दावा करने वाली यूपी सरकार कटघरे में खड़ी है। अफसरों और ठेकेदारों की मिलीभगत ने भ्रष्टाचार का नया आयम लिख दिया है। श्मशान के निर्माण में भी अफसरों की लूट-खसोट ने 25 जिंदगियों को मौत के मुंह में ढकेल दिया।ऐसा नहीं है कि ये सिर्फ एक विभाग में भ्रष्टाचार पनप रहा है।

पढ़ें :- यूपी: खैराखास मठ के महंत और दो शिष्यों ने महिला को बनाया हवस का शिकार, आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर

ऐसा कई विभागों में भी देखने को मिल रहा है। पर्दाफाश के हाथ एक ऐसी वीडियो लगी है, जिसमें अफसर की काली करतूत कैद है। ऐसे ही अफसर यूपी सरकार की जीरो टॉलरेंस की नीति को पलीता लगाते हैं। इस अफसर की गिनती बेहद ही प्रभावशाली लोगों की करीबियों में होती है। ऐसे लोगों के कारण ही मुरादानगर जैसी दर्दनाक घटनाएं होती हैं।

 

दरअसल, ये अफसर एक महीने पहले कानपुर में तैनात थे, जिसके हाथ में अब लखनऊ विकास प्राधिकरण और गोरखपुर जैसे महत्वपूर्ण जगहों का चार्ज भी है। थर्ड पार्टी चेकिंग के नाम पर रुपयों की वसूली भी करता है। ये अफसर राइट्स के कर्मचारी हैं, जो जांच करने के नाम पर रिश्वत लेते हुए साफ देखे जा सकते हैं। वीडियो में कैद अफसर रवि प्रसाद हैं, जो इलेक्ट्रिकल सुपरवाइजर राइट्स लिमिटेड (भारत सरकार का उपक्रम) में तैनात हैं। योगी सरकार के लाख दावों के बाद भी ऐसे अफसर कमीश्नखोरी का नया आयम लिखते हैं।

पढ़ें :- सीएम ने 'रामायण विश्व महाकोश' के प्रथम संस्करण कार्यशाला का किया उद्घाटन, कहा- पाकिस्तान भारत को दे रहा चुनौती

रिपोर्ट-अमित पांडेय

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...