1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. उत्तराखंड के राजनीतिक हलकों में कयासों का बाजार गर्म, चुनावी मौसम में हरीश और त्रिवेंद्र की मुलाकात से चढ़ा सियासी पारा

उत्तराखंड के राजनीतिक हलकों में कयासों का बाजार गर्म, चुनावी मौसम में हरीश और त्रिवेंद्र की मुलाकात से चढ़ा सियासी पारा

भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के वरिष्ठ नेता व उत्तराखंड के पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत (Trivendra Singh Rawat) की कांग्रेस नेता वरिष्ठ नेता पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत (Harish Rawat) से मुलाकात ने प्रदेश के राजनीतिक गलियारों में चर्चा का बाजार गर्म कर दिया है। भले ही त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस मुलाकात को औपचारिक बताया है, लेकिन राजनीतिक हलकों में चुनाव से ठीक पहले इस मुलाकात के मायने निकाले जाने शुरू हो गए हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

देहरादून। भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के वरिष्ठ नेता व उत्तराखंड के पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत (Trivendra Singh Rawat) की कांग्रेस नेता वरिष्ठ नेता पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत (Harish Rawat) से मुलाकात ने प्रदेश के राजनीतिक गलियारों में चर्चा का बाजार गर्म कर दिया है। भले ही त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस मुलाकात को औपचारिक बताया है, लेकिन राजनीतिक हलकों में चुनाव से ठीक पहले इस मुलाकात के मायने निकाले जाने शुरू हो गए हैं। दावा किया जा रहा है कि हरीश रावत (Harish Rawat) डिफेंस कॉलोनी (Defense Colony) में किसी काम से पहुंचे थे, और फिर वहीं त्रिवेंद्र सिंह रावत (Trivendra Singh Rawat) उनसे मुलाकात के लिए पहुंच गए थे।

पढ़ें :- उत्तराखंड सरकार का बड़ा फैसला, मदरसों में अब ड्रेस कोड, 8 से 2 बजे तक होगा संचालन

त्रिवेंद्र सिंह रावत (Trivendra Singh Rawat) ने ट्वीट किया कि लंबे अंतराल के बाद हरीश रावत (Harish Rawat) जी से चलते-चलते भेंट हुई। कोरोना के पश्चात उनके स्वास्थ्य में काफी सुधार देखा। स्वास्थ्य के बारे में पूछने पर उन्होंने अपने अंदाज़ में कहा, मैं स्वस्थ हूं।

पढ़ें :- Breaking- उत्तराखंड के जोशीमठ में खाई में गिरी गाड़ी, 12 लोगों की मौत

बता दें कि भाजपा नेतृत्व ने त्रिवेंद्र सिंह रावत (Trivendra Singh Rawat)  से इसी साल सीएम पद पद से इस्तीफा ले लिया था। इसके बाद फिर उनकी जगह पर तीरथ सिंह रावत को कमान दी गई थी। हालांकि दो महीने के ही अंतराल पर तीरथ सिंह रावत (Tirath Singh Rawat) को भी पद छोड़ना पड़ा और उनकी जगह युवा विधायक पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) को पार्टी ने सीएम की जिम्मेदारी सौंप दी। त्रिवेंद्र सिंह रावत (Trivendra Singh Rawat) ने सीएम पद छोड़ने के दौरान नाराजगी भी जाहिर की थी। उन्होंने इस्तीफा लिए जाने को लेकर कहा था कि इस बारे में दिल्ली से ही पता चल सकता है कि मैंने इस्तीफा क्यों दिया है। ऐसे में अब चुनावी मौसम (Election Season) में उनकी हरीश रावत से मुलाकात को लेकर कयासों को बाजार गर्म हो लगे हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...