1. हिन्दी समाचार
  2. बॉलीवुड
  3. इन दिग्गज सितारों ने साल 2020 में दुनिया को कहा अलविदा, किसी की कोरोना ने तो किसी की हार्ट अटैक से गई जान

इन दिग्गज सितारों ने साल 2020 में दुनिया को कहा अलविदा, किसी की कोरोना ने तो किसी की हार्ट अटैक से गई जान

साल 2020 में आए कोरोना ने पूरी दिया में कहर मचा दिया जिसके चलते लाखों  करोड़ो को जान गई। इस वायरस का खामियाजा आम इंसान को ही नहीं बल्कि कई बड़े कलाकारों को भी भुगतना पड़ा। इतना ही नहीं इसके चलते कई दिग्गज कलाकारों ने दुनिया  को अलविदा कह दिया। 

By आराधना शर्मा 
Updated Date

These legendary stars said goodbye to the world in the year 2020: साल 2020 में आए कोरोना ने पूरी दिया में कहर मचा दिया जिसके चलते लाखों  करोड़ो को जान गई। इस वायरस का खामियाजा आम इंसान को ही नहीं बल्कि कई बड़े कलाकारों को भी भुगतना पड़ा। इतना ही नहीं इसके चलते कई दिग्गज कलाकारों ने दुनिया  को अलविदा कह दिया।

पढ़ें :- सुशांत सिंह राजपूत के फेसबुक पेज पर बहन श्वेता ने किया ऐसा पोस्ट, फैन्स हुए भावुक

आज हमारे बीच बॉलीवुड के कई दिग्गज सितारे नहीं रहे आज हम आपको अपनी इस स्टोरी में 2020 में दुनिया अलविदा कहने वाले सितारों के बारे बताने जा रहें हैं। आइये आपको ले चलते हैं इस साल हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री के कई बड़े दिग्गज सितारों की अलविदा यात्रा पर।

इरफ़ान खान

बॉलीवुड के दिग्गज एक्टर पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित इरफ़ान खान (Irfan Khan) ने साल 1988 में ‘सलाम बॉम्बे’ से अपना फ़िल्मी करियर शुरू करने वाले इरफ़ान खान ने अपने हुनर की बदौलत हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री और हॉलीवुड में एक अलग मुकाम हासिल किया।

कोरोना महामारी के दौरान देश में हुए लॉकडाउन के दौरान 28 अप्रैल 2020 को कोलन इन्फेक्शन के कारण इरफ़ान खान अस्पताल में भर्ती हुए और दूसरे दिन 29 अप्रैल को 53 की उम्र में उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया। महज़ चार दिन पहले उनकी मां सईद बेगम का जयपुर में निधन हुआ था।

ऋषि कपूर

फ़िल्म प्रेमी अभिनेता इरफ़ान खान के निधन से उभरे भी नहीं थे कि दूसरे दिन 30 अप्रैल 2020 को फेमस एक्टर ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) का कैंसर के कारण निधन हो गया। साल 2018 में उन्हें ल्युकेमिया डिटेक्ट (Leukemia Detect) हुआ था और वो न्यूयॉर्क सिटी (big Apple) में इलाज के लिए गए थे।

एक साल के सफ़ल इलाज के बाद वापस आए ऋषि कपूर ने 29 अप्रैल को सांस लेने में तकलीफ़ की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती किया गया। दूसरे दिन उन्होंने 67 की उम्र में आख़िरी सांस ली।

हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री के शो मैन कहे जाने वाले राज कपूर के दूसरे बेटे ऋषि कपूर ने अपने फ़िल्मी सफर की शुरुआत बाल कलाकार के तौर पर की थी। बतौर हीरो वो 1973 में फ़िल्म बॉबी से लॉन्च हुए जिसने उन्हें रोमांटिक हीरो का दर्जा दिया और इस इमेज में जो करीबन तीन दशक तक रहे।

वाजिद ख़ान

तबला वादक शराफ़त अली ख़ान के छोटे बेटे संगीतकार वाजिद ख़ान (wajid khan) का 31 मई को दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था। आपको बता दें, 47 वर्षीय वाजिद ख़ान ने बड़े भाई साजिद ख़ान (Sajid Khan) के साथ मिलकर फ़िल्म इंडस्ट्री में बतौर संगीतकार 1998 में सलमान ख़ान की फ़िल्म ‘प्यार किया तो डरना क्या’ (Pyar kiya to darana kya) से कदम रखा था। संगीतकार साजिद-वाजिद के नाम से मशहूर इस जोड़ी ने कई सपरहिट गाने दिए।

बासु चटर्जी

जानेमाने फ़िल्म निर्देशक बासु चटर्जी (film director basu chatterjee) ने 4 जून 2020 को दुनिया को अलविदा कह दिया। आपको जान कर गर्व होगा कि दो बार राष्ट्रीय पुरस्कार पाने वाले बासु चटर्जी (Basu Chatterjee) ने 70 और 80 के दशक में माध्यम वर्गीय परिवार को केंद्र में रखते हुए कई ख़ूबसूरत कहानियां दर्शकों के सामने पेश की।

सुशांत सिंह राजपूत

छोटे शहर से बॉलीवुड का सपना लेकर मुंबई आये सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) 14 जून 2020 को अपने घर में पंखे से लटके म्रत पाये गए थे। महज 34 की उम्र में उनकी असमय मृत्यु ने पूरे देश में आत्महत्या या मर्डर की बहस छेड़ दी। फ़िलहाल ये मामला CBI के पास है और इसकी अंतिम रिपोर्ट आई नहीं है।

हांलाकि AIIMS ने सुशांत सिंह राजपूत केस को आत्महत्या घोषित कर दिया है। ये विडंबना है कि सुशंत की आख़िरी फ़िल्म ‘छिछोरे’ आत्महत्या की बजाय जिंदगी को एक मौक़ा देने के बारे में है। उनकी मौत के बाद उनकी फ़िल्म ‘दिल बेचारा’ रिलीज़ हुई थी।

सरोज ख़ान

बॉलीवुड इंडस्ट्री के पहली महिला कोरियोग्राफ़र सरोज ख़ान (Saroj Khan) का 3 जुलाई 2020 को दिल के दौरा पड़ने से निधन हो गया। वो 71 साल की थीं। सरोज ख़ान (Saroj Khan) ने महज़ 3 साल की उम्र से बतौर बाल कलाकार फ़िल्म इंडस्ट्री में काम करना शुरू किया था।

68 साल के करियर में सरोज ख़ान (Saroj Khan) ने कई बड़े नामचीन एक्टर औरएक्ट्रेस को कोरियोग्राफ किया जिसमे माधुरी दीक्षित (Madhuri Dixit), श्रीदेवी (Sridevi), ऐश्वर्या राय बच्चन (Aishwarya Rai Bachchan), करीना कपूर (Kareena Kapoor), सलमान ख़ान (Salman Khan) और शाहरुख़ ख़ान (Shahrukh Khan) भी शामिल हैं। माधुरी दीक्षित (Madhuri Dixit) नेने उन्हें फ़िल्म इंडस्ट्री में अपना नृत्य में अपना गुरु मानती हैं।

जगदीप

‘शोले’ फ़िल्म के फेमस ‘सूरमा भोपाली’  का किरदार निभाने वाले प्रसिद्ध कलाकार जगदीप ने 81 उम्र में 8 जुलाई 2020 को दुनिया को अलविदा कह दिया। तक़रीबन 70 सालफिल्मों में काम करने वाले जगदीप ने कई यादगार किरदार निभाए लेकिन शोले फ़िल्म का ‘सूरमा भोपाली’ के लिए उन्हें सालों तक याद किया गया। उन्हें बतौर हास्य कलाकार देखा जाता था।

इब्राहिम अल्काज़ी

पद्म विभूषण सम्मान से नवाज़े गए इब्राहिम अल्काज़ी (Ibrahim Alkazi) भारत के थिएटर के उन शख़्सियतों में से एक हैं जिनकी निष्ठा और योगदान से भारतीय थिएटर एक नया मुकाम हासिल कर सका। 4 अगस्त 2020 को दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया था। वो 94 वर्ष के थे। 15 साल तक वो नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा के निर्देशक रहे। उस दौरान उन्होंने फ़िल्म इंडस्ट्री के कई दिग्गज कलाकारों को प्रशिक्षित किया।

आशालता वबगाओंकर

मराठी फ़िल्मों का जानामाना चेहरा रहीं आशालता वबगाओंकर (Ashalata Wabagonkar) की 22 सितम्बर 2020 को मौत हो गई। महाराष्ट्र के सातारा डिस्ट्रिक्ट (Satara District) में टीवी सीरियल की शूटिंग के दौरान वो कोरोना संक्रमित (corona infected) हो गई थीं। वो 79 वर्ष की थी। उन्होंने मराठी के साथ-साथ कई हिंदी फ़िल्मों में भी काम किया जिसमें है।

राहत इन्दौरी

कोरोना से लड़ते हुए दिल का दौरा पड़ने से मशहूर उर्दू कवि और बॉलीवुड गीतकार राहत इन्दौरी (Rahat Indori) का 11 अगस्त 2020 को निधन हो गया। वे 70 साल के थे। राहत इंदौरी का जन्म एक जनवरी, 1950 को हुआ था। इंदौर के ही नूतन स्कूल से उन्होंने हायर सेकेंडरी (Higher Secondary) की पढ़ाई पूरी की।

इंदौर के ही इस्लामिया करीमिया कॉलेज से ग्रेजुएशन करने के बाद उन्होंने बरकतुल्लाह विश्वविद्यालय से एमए किया। बीते 40-50 सालों से वे मुशायरा और कवि सम्मेलनों अपनी शायरी पढ़ रहे थे।

फ़राज़ खान

90 के दशक के अभिनेता फ़राज़ खान हिट फ़िल्म ‘मैंने प्यार किया’ से लांच होने वाले थे पर शूटिंग से पहले वो बीमार पड़ गए और उनकी जगह सलमान ख़ान ने ले ली।  इसके बाद विक्रम भट्ट की फ़िल्म ‘फरेब’ से उन्होंने अपनी फ़िल्मी करियर की शुरुआत की। फ़राज़ खानका निहन 4 नवंबर 2020 को हुआ था।

आपको बता दें, वो ‘अमर अक़बर एंन्थोनी’ फ़िल्म में ज़ेबीको का किरदार निभाने वाले अभिनेता युसूफ ख़ान के छोटे बेटे थे। फ़राज़ खान ने रानी मुख़र्जी के साथ ‘मेहंदी’ फ़िल्म में भी काम किया। लगातार सात फ़िल्में फ्लॉप होने के कारण उन्होंने अपना रुख़ टीवी की तरफ किया और कुछ धाराविहिकों में काम किया।

एसपी बालासुब्रमण्यम

74 साल की उम्र में पद्मभूषण से सम्मानित गायक एसपी बालासुब्रमण्यम का निधन हो गया। पोस्ट कोरोना जटिलताओं के चलते 25 सितम्बर 2020 को उन्होंने अंतिम सांस ली। संगीत जगत के सबसे मशहूर गायकों की सूची में शामिल बालासुब्रमण्यम ने 40,000 से भी अधिक गाने गाये हैं। एक वक्त था जब वो सलमान ख़ान पर फ़िल्माए गए सभी गाते थे, उन्हें सलमान की आवाज़ के तौर पर भी पहचाना जाने लगा था। बालासुब्रमण्यम को 6 बार राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाज़ा गया।

आसिफ़ बसरा

तक़रीबन दो दशक से फ़िल्म इंडस्ट्री में काम कर रहे आसिफ़ बसरा ने अपनी अदाकारी से लोगों के दिलों में गहरी छाप छोड़ी। उन्होंने कई चर्चित फ़िल्मों और टीवी सिरीज़ में काम किया जिनमें ब्लैक फ्राइडे, परज़ानिया, ओउटसोर्सड, जब वी मेट, पाताल लोक, होस्टेज शामिल हैं। इस साल 12 नवंबर को हिमाचल में अपने घर पर वो फांसी लगाए हुए पाए गए। कथित तौर पर इसे आत्महत्या बताया जा रहा है।

रवि पटवर्धन

तेज़ाब, यशवंत, उंबरठा, अंकुश, राजू बन गया जेंटलमैन, तक्षक, हफ्ता बंद, बंधन, तेजस्विनी जैसी फ़िल्मों में कैरेक्टर एक्टर की भूमिका में नज़र आये। 5 दिसंबर की शाम को दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया। वो 84 वर्ष के थे। उन्हें मराठी फ़िल्मों में उनरके शानदार भिनय के लिए जाना जाता है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...