1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP Election 2022: स्वामी प्रसाद मौर्य की बेटी ने प्रधानमंत्री को बताया अपना पिता, कहा कानों में आज भी गूंजते हैं उनके शब्द

UP Election 2022: स्वामी प्रसाद मौर्य की बेटी ने प्रधानमंत्री को बताया अपना पिता, कहा कानों में आज भी गूंजते हैं उनके शब्द

UP Election 2022: शुक्रवार को स्वामी प्रसाद मौर्य ने BJP का दामन छोड़ कर समाजवादी पार्टी का हाथ थाम लिया था। इस मौके पर स्वामी प्रसाद मौर्य ने BJP पर जमकर व्यंग्य प्रहार किया। स्वामी प्रसाद के समाजवादी पार्टी में शामिल होने के बाद लोगों ने उनकी बेटी संघमित्रा मौर्य पर सवाल उठा रहे हैं। बता दें कि संघमित्रा मौर्य बदायूं से भाजपा सांसद (BJP MP)  है। पिता के पार्टी छोड़ने के बावजूद भी वह BJP में ही बनी रहेंगी।

By प्रिया सिंह 
Updated Date

UP Election 2022: शुक्रवार को स्वामी प्रसाद मौर्य ने BJP का दामन छोड़ कर समाजवादी पार्टी का हाथ थाम लिया था। इस मौके पर स्वामी प्रसाद मौर्य ने BJP पर जमकर व्यंग्य प्रहार किया। स्वामी प्रसाद के समाजवादी पार्टी में शामिल होने के बाद लोगों ने उनकी बेटी संघमित्रा मौर्य पर सवाल उठा रहे हैं। बता दें कि संघमित्रा मौर्य बदायूं से भाजपा सांसद (BJP MP)  है। पिता के पार्टी छोड़ने के बावजूद भी वह BJP में ही बनी रहेंगी।

पढ़ें :- निचलौल थाने के प्रभारी हुए पुरस्कृत,व्यापारी,समाजसेवी, पत्रकारों ने दी बधाई

गौरतलब है कि 11 जनवरी को स्वामी प्रसाद मौर्य ने उत्तर प्रदेश कैबिनेट (Uttar Pradesh Cabinet) छोड़ दिया और शुक्रवार को औपचारिक रूप से समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए। लेकिन उनकी बेटी संघमित्रा मौर्य एक फेसबुक पोस्ट (facebook post) करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी को अपना पिता बताया और साथ ही अपने पिता स्वामी प्रसाद मौर्य के प्रति अपनी भावना के व्यक्त करते हुए लिखा कि ‘मैं कुछ मांगू और पूरा न हो, ऐसे तो हालात नहीं, मैं पुकारुं और पापा न सुनें, इतने भी हम दूर नहीं और साथ ही लिखा कि प्रधानमंत्री जी ने पिताजी को कहा था, ये बेटी अब हमारी बेटी है, ये बेटी हमने ले ली। उन्होंने कहा कि मेरे पिता मेरे अभिमान हैं, मेरे हीरो हैं। पार्टी अलग हो सकती है लेकिन पिता-पुत्री नहीं। पिता और बेटी का रिश्ता दुनिया का सबसे मजबूत रिश्ता है।’

इसी क्रम में उन्होंने कहा कि फेसबुक पोस्ट के माध्यम से मैं लोगों को बस ये बताना चाहती हुं कि मेरे लिए पार्टी और मेरे पिता दो अलग-अलग चीजें हैं। भले ही वह सपा में शामिल हो गए हैं, लेकिन मैं भाजपा की वफादार कार्यकर्ता हूं।

 

पढ़ें :- स्वामी प्रसाद मौर्या फिर विरोधियों पर बरसे, कहा -आदिवासियों, दलितों-पिछड़ों व महिलाओं को अपमानित करने की साजिश का विरोध जारी रहेगा
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...