1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Up Elections 2022 : अखिलेश यादव, बोले- बीजेपी के पास कोई मॉडल नहीं , हम युवाओं की गर्मी नहीं उतारेंगे भर्ती करेंगे

Up Elections 2022 : अखिलेश यादव, बोले- बीजेपी के पास कोई मॉडल नहीं , हम युवाओं की गर्मी नहीं उतारेंगे भर्ती करेंगे

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 की रणभेरी के बीच राजनीतिक दलों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। इस चुनाव के बीचअभी पश्चिमी उत्तर प्रदेश का केंद्र बिंदु बना हुआ है। जहां 58 सीटों पर 10 फरवरी को मतदान होना है। इसी बीच बुलंदशहर में गुरुवार को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और लोकदल प्रमुख जयंत चौधरी ने साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस की। अखिलेश यादव ने सत्ताधारी पार्टी बीजेपी पर करारा हमला बोला।

By संतोष सिंह 
Updated Date

बुलंदशहर। यूपी विधानसभा चुनाव 2022 की रणभेरी के बीच राजनीतिक दलों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। इस चुनाव के बीचअभी पश्चिमी उत्तर प्रदेश का केंद्र बिंदु बना हुआ है। जहां 58 सीटों पर 10 फरवरी को मतदान होना है।

पढ़ें :- Uddhav Thackeray ने बागी मंत्रियों के पर कतरे, वापस लिया विभाग

इसी बीच बुलंदशहर में गुरुवार को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और लोकदल प्रमुख जयंत चौधरी ने साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस की। अखिलेश यादव ने सत्ताधारी पार्टी बीजेपी पर करारा हमला बोला। अखिलेश ने कहा कि पश्चिमी यूपी की हवा देखकर सीएम योगी आदित्यनाथ की भाषा बदल गई है। राज्य में महंगाई और बेरोजगारी चरम पर है,जिससे हालात खराब होते जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी को जनता सबक सिखाने जा रही है।

उन्होंने कहा कि बुलंदशहर की घटना से पूरा देश चिंतित है। यह घटना हाथरस की तरह हुई है। यूपी की जनता बीजेपी को सबक सिखाने जा रही है। उन्होंने अपने घोषणा पत्र को लेकर कहा कि हमने जो वादे किए उन्हें पूरा किया जाएगा। आगे कहा कि साल 2011 में साइकिल चलाकर नोएडा आए थे, जिसके बाद सपा ने सरकार बनाई थी। ठीक चुनाव से पहले आज नोएडा भी जा रहा हूं।

बता दें कि सपा, लोकदल, महानदल और सुहेलदेव पार्टी के साथ गठबंधन कर चुनावी मैदान में है। पहले चरण में सभी राजनीतिक दलों की नजरें है। लोकदल के आने से सपा मुखिया अखिलेश यादव काफी उत्साहित नजर आ रहे हैं।

वह जयंत चौधरी को आगे कर लोगों से वोट की अपील कर रहे हैं। जयंत को आगे करने की वजह कि इस इलाके को जाट और किसान लैंड भी कहा जाता है। किसान आंदोलन के दौरान जयंत चौधरी काफी सक्रिय नजर आए थे, सपा जिसका फायदा लेना चाहती है। चुनाव आयोग की घोषणा के बाद राज्य में सात चरणों में चुनाव कराया जा रहा है, जिसके नतीजे 10 मार्च को आने हैं। कोरोना वायरस की गाइडलाइन के चलते अभी बड़ी रैलियों पर रोक लगा रखी है, लेकिन नेता नुक्कड़ सभा व वर्चुअल प्रचार कर अपने लिए लोगों से वोट की अपील कर रहे हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...