1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. Datta Purnima 2021: भगवान दत्तात्रेय की दत्त पूर्णिमा के दिन इन मंत्रों से करें पूजा, भक्त की जल्द सुध लेने वाले भगवान हैं

Datta Purnima 2021: भगवान दत्तात्रेय की दत्त पूर्णिमा के दिन इन मंत्रों से करें पूजा, भक्त की जल्द सुध लेने वाले भगवान हैं

अगहन मास की पूर्णिमा को दत्त पूर्णिमा (Datta Purnima 2021) कहा जाता है। इस बार ये तिथि 18 दिसंबर, शनिवार को है। सृष्टि में भगवान दत्तात्रेय का रूप ब्रह्मा-विष्णु –महेश का स्वरूप है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

दत्त पूर्णिमा 2021: अगहन मास की पूर्णिमा को दत्त पूर्णिमा (Datta Purnima 2021) कहा जाता है। इस बार ये तिथि 18 दिसंबर, शनिवार को है। सृष्टि में भगवान दत्तात्रेय का रूप ब्रह्मा-विष्णु –महेश का स्वरूप है। इन्हें भगवान दत्तात्रेय के नाम से जाना जाता है। मान्यता है कि अमावस्या और पूर्णिमा के दिन भगवान दत्त की पूजा और उनके मंत्र का जाप जरूर करना चाहिए।मान्यता है कि भगवान दत्तात्रेय ने 24 गुरुओं से शिक्षा प्राप्त की थी। इन्हीं के नाम पर दत्त संप्रदाय का उदय हुआ। भगवान शंकर का साक्षात रूप महाराज दत्तात्रेय में मिलता है। महाराज दत्तात्रेय की आराधना बहुत ही सफल और जल्दी से फल देने वाली है। महाराज दत्तात्रेय आजन्म ब्रह्मचारी, अवधूत और दिगम्बर रहे थे। वे सर्वव्यापी है और किसी प्रकार के संकट में बहुत जल्दी से भक्त की सुध लेने वाले हैं।

पढ़ें :- साल में सिर्फ एकबार 5 घंटे के लिए खुलता है ये मन्दिर, भक्तों की आस्था से स्वयं प्रज्जवलित होती है ज्योत

पूर्णिमा तिथि प्रारम्भ – 18 दिसंबर, शनिवार सुबह 07.24 से
पूर्णिमा तिथि समाप्त- 19 दिसंबर, रविवार सुबह 10.05 तक

महागुरु दत्तात्रेय के मंत्र

मंत्र 

‘श्री दिगंबरा दिगंबरा श्रीपाद वल्लभ दिगंबरा’।

पढ़ें :- Aaj ka Panchang: माघ शुक्ल पक्ष नवमी, जाने शुभ-अशुभ समय मुहूर्त और राहुकाल...

मंत्र

‘श्री गुरुदेव दत्त’

तंत्रोक्त मंत्र

‘ॐ द्रां दत्तात्रेयाय नम:’

दत्त गायत्री मंत्र 

पढ़ें :- 30 जनवरी 2023 राशिफल: इन जातकों पर होगी भगवान भोलेनाथ की कृपा, इन्हें मिलेगा नौकरी में लाभ

‘ॐ दिगंबराय विद्महे योगीश्रारय् धीमही तन्नो दत: प्रचोदयात’

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...