1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. योगी सरकार निखारेगी रामगढ़ ताल की रंगत, खोला खजाना

योगी सरकार निखारेगी रामगढ़ ताल की रंगत, खोला खजाना

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दशकों से उपेक्षित रामगढ़ ताल को भव्य पर्यटन स्थल के रूप में पहचान दे दी है। इसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बार और खजाना खोल दिया है। ताल के पश्चिमी और दक्षिणी छोर की तरह ही उत्तरी छोर को भी विकसित किया जाएगा। मिली जानकारी के अनुसार यहां नालों की टैपिंग कर गंदे पानी का प्रवाह रोका जाएगा। इसके साथ ही समानांतर 2.5 किलोमीटर की लम्बाई में तीन मीटर चौड़ा बांध भी बनेगा।

By शिव मौर्या 
Updated Date

गोरखपुर। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दशकों से उपेक्षित रामगढ़ ताल को भव्य पर्यटन स्थल के रूप में पहचान दे दी है। इसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बार और खजाना खोल दिया है। ताल के पश्चिमी और दक्षिणी छोर की तरह ही उत्तरी छोर को भी विकसित किया जाएगा। मिली जानकारी के अनुसार यहां नालों की टैपिंग कर गंदे पानी का प्रवाह रोका जाएगा।

पढ़ें :- Agneepath Scheme: सीएम भगवंत मान ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, कहा-अग्निपथ योजना को लें वापस

इसके साथ ही समानांतर 2.5 किलोमीटर की लम्बाई में तीन मीटर चौड़ा बांध भी बनेगा। जल्द ही रामगढ़ ताल रिंग रोड की सैर का भी खूबसूरत स्थान बन जाएगा। श्री योगी ने बीते 28 मार्च को केंद्रीय शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी के साथ मोहद्दीपुर में आरकेबीके के पास रामगढ़ ताल के समीप निर्माणाधीन सीवरेज कार्य का निरीक्षण किया था। इस दौरान उन्होंने रामगढ़ ताल का अवलोकन भी किया।

गोरखपुर दौरे से लखनऊ लौटने के बाद उन्होंने रामगढ़ताल के उत्तरी छोर, पैडलेगंज से मोहद्दीपुर आरकेबीके तक इंटरसेप्टिंग सीवर और समानान्तरण बंधे के निर्माण के लिए धनराशि 34 करोड़ 19 लाख 80 हजार रुपए की स्वीकृति दी है। कार्य योजना के मुताबिक रामगढ़ ताल के खूबसूरत नजारे के लिए अब 2.5 किलोमीटर लंबा बांध पाथ वे या व्यू पॉइंट के रूप में बनेगा। धन मिल जाने से पैडलेगंज से आरकेबीके तक तीन मीटर चौड़ा बांध बनाया जाएगा।

बांध और इंटरसेप्टिंग सीवर बन जाने से ताल में आसपास की नालियों से आ रहा कचरा प्रवाहित नहीं होने पाएगा और ताल की सुंदरता और निखर उठेगी। बांध के निर्माण से ताल के किनारे रिंग रोड की परिकल्पना पूरी तरह साकार हो जाएगी। रिंग रोड का काम पूरा होने पर ताल के चारों ओर भ्रमण कर इसकी खूबसूरती का दीदार किया जा सकेगा।

विकसित हो रहे नए क्षेत्र में बांध (पाथ वे) पर पौधरोपण और बैठने के लिए बेंच बनाने की भी योजना है। रामगढ़ ताल के पश्चिमी और दक्षिणी छोर का विकास होने के साथ ही मोहद्दीपुर में आरकेबीके से सहारा इस्टेट तक पौने चार किलोमीटर की लम्बाई में सड़क बनाई गई है।

पढ़ें :- Agnipath Protest : योगी बोले-अग्निपथ योजना युवा के भविष्य को नया आयाम देगी , बहकावे में न आएं

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...