1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. योगी सरकार का बड़बोलापन कोरोना संकट के बढ़ने के लिए है जिम्मेदार : अखिलेश यादव

योगी सरकार का बड़बोलापन कोरोना संकट के बढ़ने के लिए है जिम्मेदार : अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी अध्यक्ष व यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार का बड़बोलापन बढ़ते कोरोना संकट का प्रमुख कारण है। प्रदेश की जनता इलाज, दवा और आक्सीजन के लिए दर-दर भटक रही है मगर भाजपा सरकार कुप्रचार और विज्ञापन के सहारे सभी को भटकाने का काम कर रही है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ । समाजवादी पार्टी अध्यक्ष व यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार का बड़बोलापन बढ़ते कोरोना संकट का प्रमुख कारण है। प्रदेश की जनता इलाज, दवा और आक्सीजन के लिए दर-दर भटक रही है मगर भाजपा सरकार कुप्रचार और विज्ञापन के सहारे सभी को भटकाने का काम कर रही है।

पढ़ें :- UP Election 2022: किसानों को 15 दिनों के अंदर मिलेगा गन्ने का भुगतान, अखिलेश-जयंत ने प्रेसवार्ता के दौरान किया वादा

श्री यादव ने मंगलवार कहा कि सपा संकट के इस दौर में जनसाधारण के साथ है, आगे भी रहेगी, लेकिन जहां सरकार की कमी होगी उसे उजागर करना भी पार्टी का नैतिक तथा सामाजिक दायित्व है। लोकतंत्र में विपक्ष सत्ता दल की आरती उतारने के लिए नहीं है। भाजपा ने चार वर्ष में जनहित में एक भी उल्लेखनीय विकास कार्य नहीं किया है। सैफई से गोरखपुर तक स्वास्थ्य क्षेत्र में जो भी कार्य हुए वे सभी समाजवादी सरकार के कार्यकाल में हुए।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने स्वास्थ्य सेवाओं पर ध्यान न देकर उन्हें बर्बाद किया है। संक्रमण के दूसरे आक्रमण के ज्यादा खतरनाक होने की विशेषज्ञ चेतावनी के बावजूद हालात सम्हालने के प्रयास नहीं किए गए। गोरखपुर और रायबरेली में एम्स समाजवादी सरकार की ही देन है। भाजपा सरकार इन्हें ठीक से शुरू भी नहीं कर पाई। भर्ती न होने से चिकित्सकों और पैरा मेडिकल स्टाफ की भारी कमी है। भाजपा सरकार को अपनी करनी पर लाज नहीं आती है।

श्री यादव ने कहा कि प्रचारजीवी मुख्यमंत्री के खोखले आश्वासनों से तड़प-तड़प कर हो रही मौंतों को छुपाया नहीं जा सकता। आगरा में पिता को लेकर बेटा दौड़ता रहा, इलाज नहीं मिला। कानपुर में ठेले पर डेढ़ घंटे शव पड़ा रहा। गोरखपुर में सड़क पर मरीज की मौत। कानपुर में एक अस्पताल में आक्सीजन खत्म, 2 मृत। आगरा में एक अस्पताल में कहा जा रहा है पहले 5 सिलेण्डर लाएं तभी भर्ती करेंगे। वेंटीलेटर, भाप मशीन, आक्सीजन सबकी कालाबाजारी चल रही है। सरकार इसकी रोकथाम में विफल साबित हुई है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में संकट इसलिए भी है कि मुख्यमंत्री की टीम-इलेवन भी किसी काम की साबित नहीं हो रही है। उसके सारे तंत्र बेकार हो गए हैं। अस्पताल में और घर में पड़े मरीजों का कोई पुर्साहाल नहीं है। दर-दर भटक रहे परेशान हाल लोगों की जिंदगी से ऐसा खिलवाड़ अमानवीयता की सभी हदें पार कर गया है।

पढ़ें :- UP Election 2022 : सपा ने आठ उम्मीदवारों के नामों का किया ऐलान, जानें किसको कहां से बनाया उम्मीदवार

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...