1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. अब इस मामले में आमने-सामने आए रामदेव और अडानी, जानें कौन मारेगा बाजी?

अब इस मामले में आमने-सामने आए रामदेव और अडानी, जानें कौन मारेगा बाजी?

रिटेल मार्केट (Retail Market) में खाने के तेल की दो बड़ी कंपनियां एक दूसरे को कड़ी टक्कर दे रही हैं। इक गौतम अडानी (Gautam Adani) की अडानी विल्मर (Adani Wilmar) तो दूसरी बाबा रामदेव (Baba Ramdev) की रुचि सोया है। हर घर के किचन में किसी न किसी बहाने जगह बनाने वाली ये दोनों कंपनियां शेयर मार्केट (Share Market) में भी लिस्टेड हैं। आज हम आपको बताएंगे कि शेयर मार्केट (Share Market) में इन दोनों कंपनियों की क्या कीमत है?

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। रिटेल मार्केट (Retail Market) में खाने के तेल की दो बड़ी कंपनियां एक दूसरे को कड़ी टक्कर दे रही हैं। इक गौतम अडानी (Gautam Adani) की अडानी विल्मर (Adani Wilmar) तो दूसरी बाबा रामदेव (Baba Ramdev) की रुचि सोया है। हर घर के किचन में किसी न किसी बहाने जगह बनाने वाली ये दोनों कंपनियां शेयर मार्केट (Share Market) में भी लिस्टेड हैं। आज हम आपको बताएंगे कि शेयर मार्केट (Share Market) में इन दोनों कंपनियों की क्या कीमत है?

पढ़ें :- शेयर बाजारों उथल-पुथल जारी, टॉप-10 अरबपतियों की लिस्ट में मुकेश अंबानी को बड़ा झटका

अडानी विल्मर

इसी महीने शेयर मार्केट में लिस्टेड होने वाली अडानी विल्मर का शेयर भाव 385 रुपए के स्तर पर है। कंपनी का शेयर भाव 419.90 रुपए तक गया था, जो अब तक का उच्चतम स्तर है। मार्केट कैपिटल की बात करें तो 50 हजार करोड़ रुपए के करीब है। गौतम अडानी की इस कंपनी ने उन निवेशकों को माला माल किया है, जिन्हें आईपीओ अलॉट (IPO Allot) हुआ था। ऐसे निवेशकों का पैसा लगभग डबल हो गया है।

बता दें कि अडानी विल्मर (Adani Wilmar) में गौतम अडानी (Gautam Adani)  के अडानी समूह (Adani Group) की 50 फीसदी हिस्सेदारी है। वहीं, 50 फीसदी हिस्सेदारी सिंगापुर के विल्मर समूह के पास है। यह कंपनी (Fortune) ब्रांड नाम से खाने के तेल बेचती है।

दिसंबर तिमाही में हुआ था मुनाफा

पढ़ें :- अडानी ने अंबानी को दिया बड़ा झटका, छीना एशिया के नंबर 1 अरबपति होने का ताज

बीते दिनों ही अडानी विल्मर (Adani Wilmar) के दिसंबर तिमाही के नतीजे जारी हुए हैं। इस तिमाही में अडानी विल्मर (Adani Wilmar) का शुद्ध लाभ 66 प्रतिशत बढ़कर 211.41 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। इससे पिछले वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में उसका शुद्ध लाभ 127.39 करोड़ रुपये था। वहीं, कंपनी की कुल आय 31 दिसंबर को समाप्त तिमाही में बढ़कर 14,405.82 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 10,238.23 करोड़ रुपये थी।

रुचि सोया

कुछ साल पहले तक भारी कर्ज में दबी रुचि सोया इंडस्ट्रीज लिमिटेड (Ruchi Soya Industries Limited) को बाबा रामदेव (Baba Ramdev) ने संजीवनी दी थी। रामदेव के पतंजिल समूह (Patanjali Group) ने साल 2019 में रुचि सोया का अधिग्रहण किया था और इसके बाद से ही इस कंपनी के शेयर में पंख लग गए। रुचि सोया (Ruchi Soya)का शेयर भाव 845 रुपए है। हालांकि, ऑल टाइम हाई पर गौर करें तो 1500 रुपए के पार जा चुका है।

रुचि सोया (Ruchi Soya) का शेयर भाव 1,530 रुपये के स्तर को पार कर चुका है। कंपनी ने ये मुकाम 29 जून 2020 को हासिल किया। वहीं, रुचि सोया का मार्केट कैपिटल (Market Capital of Ruchi Soya) फिलहाल 25 हजार करोड़ रुपए है।

दिसंबर तिमाही में हुआ था मुनाफा

पढ़ें :- पीएम मोदी ने किया Ground Breaking Ceremony 3.0 का उद्घाटन, गौतम अडाणी करेंगे 70 हजार करोड़ का निवेश

दिसंबर 2021 की तिमाही में रुचि सोया (Ruchi Soya) का शुद्ध लाभ तीन प्रतिशत बढ़कर 234.07 करोड़ रुपये हो गया। इससे एक साल पहले की समान अवधि में यह आंकड़ा 227.44 करोड़ रुपये था। कंपनी ने बताया कि कुल आय 41 प्रतिशत बढ़कर 6,301.19 करोड़ रुपये हो गई, जो इससे पिछले वर्ष की इसी अवधि में 4,475.59 करोड़ रुपये थी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...