1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Live – बाबा रामदेव बोले- विदेशी कंपनियों के एकाधिकार को पतंजलि ने दी चुनाैती

Live – बाबा रामदेव बोले- विदेशी कंपनियों के एकाधिकार को पतंजलि ने दी चुनाैती

योग गुरु बाबा रामदेव ने मंगलवार को कहा कि पतंजलि ने अब तक देश के पांच लाख लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया है। पतंजलि ने विदेशी कंपनियों को एकाधिकार को चुनौती दी है। उन्होंने अलगे पांच सालों में और पांच लाख लोगों को रोजगार देंगें। रामदेव ने कहा कि दो लोगों से शुरू किया योग आज 200 देशों तक पहुंचाया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Baba Ramdev Said Patanjali Gave Election To The Monopoly Of Foreign Companies

नई दिल्ली।योग गुरु बाबा रामदेव ने मंगलवार को कहा कि पतंजलि ने अब तक देश के पांच लाख लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया है। पतंजलि ने विदेशी कंपनियों को एकाधिकार को चुनौती दी है। उन्होंने अलगे पांच सालों में और पांच लाख लोगों को रोजगार देंगें। रामदेव ने कहा कि दो लोगों से शुरू किया योग आज 200 देशों तक पहुंचाया है।

पढ़ें :- काशी अन्नपूर्णा मठ के महंत रामेश्वर पुरी का निधन, 11 जून को बिगड़ी थी तबीयत

योग ने असाध्य रोगों को ठीक किया है। योग से आज दुनिया का बड़ा तबका जुड़ा है। बाबा रामदेव ने कहा कि योग इस समय का सबसे बड़ा सेवा धर्म है। उन्होंने कहा कि हम रिसर्च पर आधारित दवाएं लेकर आए है। रिचर्स के क्षेत्र में करोड़ों का निवेश करना है। उन्होंने कहा देश के प्रमुख वैज्ञानिक पतंजलि से जुड़ना चाहते हैं।

पढ़ें :- कल्याण सिंह की तबीयत को लेकर चिंतित PM मोदी, ट्वीट कर अफवाहों पर लगाया विराम

योगगुरु बाबा रामदेव कहा कि हमें हेल्थ और एग्रीकल्चर में देश के लिए बड़ा योगदान देना है। उन्होंने कहा कि इसे साथ-साथ देश को आर्थिक समसमवृद्धि देने के साथ-साथ हमने पारमार्थिक समवृद्धि भी दी है। आध्यात्मिक और आर्थिक समवृद्धि का यह अभियान पतंजलि का लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि हमने एक बीमार कंपनी को खरीदा। पतंजलि ने सबसे अधिक बोली लगाकर खरीदा। इसमें 18 विदेशी और भारतीय कंपनियों ने बोली लगाई थी। पतंजलि ने सर्वाधिक बोली लगाकर चार हजार तीन सौ करोड़ रुपये में रुचि सोया को खरीदा और उसके बाद 24.4 प्रतिशत की ग्रोथ से उसका हमने 16318 करोड़ रुपये का सालाना टर्नओवर किया।

रामदेव ने कहा कि 2025 में यूनिलिवर को पछाड़कर पतंजलि एफएमसीजी व अन्य क्षेत्रों में भारत की ही नहीं दुनिया की एक बड़ी कंपनी बनने वाली है। यह कंपनी ही नहीं, ब्रांड ही नहीं एक आंदोलन बनने वाला है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...