1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Good News : रेलवे कर्मचारियों को 78 दिन की सैलरी के बराबर मिलेगा बोनस

Good News : रेलवे कर्मचारियों को 78 दिन की सैलरी के बराबर मिलेगा बोनस

Good News : दशहरा (Dussehra) से पहले ही रेलवे कर्मचारियों (Railway Employees)को केंद्र सरकार से बड़ा तोहफा मिलने वाला है। रेलवे (Railway) ने अराजपत्रित रेल कर्मचारियों (RPF/RPSF  कर्मियों को छोड़कर) को 78 दिनों के वेतन के बराबर उत्पादकता से जुड़े बोनस (PLB) का भुगतान करने का फैसला किया है। तकरीबन 11.27 लाख रेल कर्मचारियों को ये भुगतान दशहरा (Dussehra)  की छुट्टियों से पहले कर दिया जाएगा।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Good News : दशहरा (Dussehra) से पहले ही रेलवे कर्मचारियों (Railway Employees)को केंद्र सरकार से बड़ा तोहफा मिलने वाला है। रेलवे (Railway) ने अराजपत्रित रेल कर्मचारियों (RPF/RPSF  कर्मियों को छोड़कर) को 78 दिनों के वेतन के बराबर उत्पादकता से जुड़े बोनस (PLB) का भुगतान करने का फैसला किया है। तकरीबन 11.27 लाख रेल कर्मचारियों को ये भुगतान दशहरा (Dussehra)  की छुट्टियों से पहले कर दिया जाएगा। बता दें कि रेलवे कर्मचारियों (Railway Employees) को हर साल दशहरा (Dussehra) /पूजा के पहले PLB का भुगतान करता है।

पढ़ें :- Railway's Chhath Puja preparation : दिल्ली-मुम्बई साउथ के लिए यूपी से 40 से अधिक स्पेशल ट्रेनें

रेलवे पर पड़ेगा इतना भार रेलवे पर कर्मचारियों को इस बोनस का भुगतान करने के लिए 1832.09 का भार पड़ने वाला है। एलिजिबल रेलवे कर्मचारियों को PLB भुगतान के तौर पर 7000 रुपये प्रतिमाह दिए जाते हैं। 78 दिनों के हिसाब से कर्मचारियों को बोनस राशि के तौर 17,951 रुपये दिया जाएगा।

पढ़ें :- Dhanbad Railway Accident: मालगाड़ी के 53 डिब्बे पटरी से उतरे, इन ट्रेनों का संचाल बाधित

बोनस कर्मचारियों के लिए प्रोत्साहन के तौर पर करेगा काम 

देश की अर्थव्यवस्था को बढ़ाने में रेलवे का एक अहम रोल रहा है। कोरोना की महामारियों के बीच भी रेलवे ने कई वित्तीय उपलब्धियां अपने नाम की हैं। 2021-22 में रेलवे ने माल ढुलाई में 184 मिलियन टन की वृद्धिशील ढुलाई हासिल की। रेलवे कर्मचारियों को मिल रहा ये बोनस उनके लिए एक प्रोत्साहन के तौर पर काम करेगा।

रेलवे कर्मचारियों ने कोरोना महामारी में  अपने काम से सबको किया था प्रभावित

कोरोना महामारी के दौरान रेलवे कर्मचारियों ने अपने काम से सभी को प्रभावित किया था। कर्मचारियों द्वारा लॉकडाउन अवधि के दौरान भी दुर्गम स्थानों पर आवश्यक वस्तुओं जैसे भोजन, खाद, कोयला और अन्य वस्तुओं की आवाजाही सुनिश्चित की गई थी। रेलवे की अर्थव्यवस्था को भी अच्छा-खासा लाभ हुआ था।

पढ़ें :- Good News : पीएम मोदी 17 अक्टूबर को किसान सम्मान निधि की 12 वीं किश्त करेंगे ट्रांसफर,चेक करें लिस्ट में आपका नाम है या नहीं?
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...