1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Charanjit Singh Channi jeevan parichay : पंजाब के 27 वें मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ऐसे चढ़े सफलता की सीढ़ियां

Charanjit Singh Channi jeevan parichay : पंजाब के 27 वें मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ऐसे चढ़े सफलता की सीढ़ियां

Charanjit Singh Channi jeevan parichay : पंजाब के 27 वें मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) के नाम पर मुहर लग गई है। ऐन वक्त पर कांग्रेस पार्टी (Congress Party) ने चौंकाते हुए रविवार को बड़ा फैसला लिया है। मीडिया में चल रही खबरें गलत साबित हुई ,इसके बाद चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) को पंजाब का नया कैप्टन चुन लिया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Charanjit Singh Channi jeevan parichay : पंजाब के 27 वें मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) के नाम पर मुहर लग गई है। ऐन वक्त पर कांग्रेस पार्टी (Congress Party) ने चौंकाते हुए रविवार को बड़ा फैसला लिया है। मीडिया में चल रही खबरें गलत साबित हुई ,इसके बाद चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) को पंजाब का नया कैप्टन चुन लिया है। चरणजीत सिंह चन्नी पंजाब राज्य की चमकौर साहिब सीट से तीसरी बार कांग्रेस के विधायक चुने गए हैं। पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह ( Capt. Amrinder Singh)  सरकार में चरणजीत सिंह चन्नी तकनीक शिक्षा, औद्योगिक प्रशिक्षण,रोजगार सृजन , पर्यटन और संस्कृति मामलों की मंत्री रह चुके हैं।

पढ़ें :- Punjab Assembly Election 2022 : सुनील जाखड़, बोले- मेरे पक्ष 42 विधायकों ने, जबकि सीएम चन्नी को मिले थे सिर्फ दो वोट

ऐसे रहा पंजाब के 27 वें मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का अब तक का सफर

चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) 2015 से 2016 तक पंजाब विधानसभा में विपक्ष के नेता थे।

 

चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार में 16 मार्च 2017 को 47 वर्ष की आयु में कैबिनेट मंत्री के रूप में नियुक्त किया गया था।

पढ़ें :- Rama Shankar Singh Patel jeevan parichay : रमाशंकर दिग्गज कांग्रेसी को हराकर बने विधायक, योगी ने दिया मंत्री पद

 

कैप्टन अमरिंदर सिंह ( Capt. Amrinder Singh) के इस्तीफे के बाद चरणजीत सिंह चन्नी 19 सितंबर 2021 को पंजाब के मुख्यमंत्री बने। वह चमकौर साहिब विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं। चरणजीत सिंह चन्नी रामदसिया सिख समुदाय से हैं।

 

चरणजीत सिंह चन्नी पंजाब के पहले दलित सीएम होंगे

पंजाब राज्य के 1966 में हुए पुनर्गठन के बाद से चरणजीत सिंह चन्नी पहले दलित सीएम होंगे। सुखजिंदर सिंह रंधावा, सुनील जाखड़ और अंबिका सोनी जैसे नेताओं के नाम सीएम की रेस में चल रहे थे, लेकिन चन्नी की दूर-दूर तक चर्चा नहीं थी। ऐसे में उनको सीएम बनाया जाना कांग्रेस की ओर से सरप्राइज माना जा रहा है। कांग्रेस ने दलित नेता को सीएम बनाकर प्रदेश की 32.02 आबादी को साधने का काम किया है। उन्हें कमान देकर कांग्रेस हिंदू, दलित और सिखों को आगामी विधानसभा चुनाव में एक साथ साधने का प्रयास किया है।

पढ़ें :- Ratnakar Mishra jeevan parichay : मां विंध्यवासिनी मंदिर के पुरोहित रत्नाकर मिश्रा बने विधायक, 20 साल बाद खिलाया कमल

कांग्रेस के चन्नी दांव से अकाली दल गठजोड़  को लगा बड़ा झटका

कांग्रेस पार्टी विधानसभा चुनाव से पहले दलित विधायक चरणजीत सिंह चन्नी को पंजाब का कैप्टन बनाकर पार्टी आपसी गुटबाजी की हवा तो ​निकाली ही दी है। चन्नी ऐसे नेता हैं जिसके नाम पर कभी कोई विवाद नहीं रहा है। बता दें कि राज्य में अकाली दल और बीएसपी ने गठजोड़ का ऐलान किया है। इसके अलावा अकाली दल ने कई बार कहा है कि उसकी सरकार बनी तो वह दलित डिप्टी सीएम देगी। माना जा रहा है कि कांग्रेस ने अपने इस फैसले से अकाली दल के वादे की काट कर दी है और इससे आगामी चुनाव में उसे बड़ी बढ़त मिलने की संभावना होगी।

पंजाब के नए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी पर लग चुके हैं MeToo के आरोप 

पंजाब के नए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को MeToo से जुड़े 3 साल पुराने एक मामले में फंस चुके हैं। आरोप है कि चन्नी ने एक महिला आईएएस अधिकारी को साल 2018 में गलत मैसेज भेजा था। हालांकि महिला आईएएस ऑफिसर ने इस मामले को लेकर शिकायत दर्ज नहीं कराई थी। हाल ही में पंजाब महिला आयोग ने इस मामले को लेकर राज्य सरकार को नोटिस भेजा था। महिला आयोग की चीफ मनीषा गुलाटी ने बताया कि वह आईएएस ऑफिसर के लिए इंसाफ चाहती है, जिनका हाल ही में पंजाब के बाहर ट्रांसफर हो गया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...