गूगल के CEO सुंदर पिचाई भारत भ्रमण पर, जयपुर से की शुरुआत

Google Ceo Sundar Pichai

जयपुर। गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई रविवार को फैमिली के साथ जयपुर पहुंचे।  पिचाई यहां छुट्टियां मनाने आए हैं और कुछ दिन राजस्थान के अलग-अलग शहरों में जाएंगे। गूगल CEO की इस विजिट से मीडिया को बिल्कुल दूर रखा गया। मीडिया की तरफ उन्होने सिर्फ हाथ हिलाया, पिचाई के आने से पहले एक टीम ने सारी तैयारियां कर रखी थी जैसे ही रविवार दोपहर में पिचाई ने जयपुर एयरपोर्ट पर लैंड किया वंहा उनके लिए एक स्पेशल बस तैयार थी। मीडिया ने उनके करीब जाने की कोशिश की लेकिन उनकी पर्सनल सिक्युरिटी ने इसकी इजाजत नहीं दी और पिचाई ने बस में बैठने के बाद मीडिया की तरफ सिर्फ हाथ हिलाया। वह एयरपोर्ट से सीधे रामबाग पैलेस होटल पहुंचे।




राजस्थानी लड़की से रचाई है शादी

पिचाई की वाईफ कोटा राजस्थान की रहने वाली हैं। जिनका सुंदर को गूगल का CEO बनाने में बहुत बड़ा योगदान है, क्योंकि जब 2011 में टि्वटर ने सुंदर को जॉब ऑफर किया था तो उनकी वाइफ ने ही उनको गूगल नहीं छोड़ने की सलाह दी थी। सुंदर और अंजली दोनों ने आईआईटी खड़गपुर से इंजीनियरिंग की है और फाइनल ईयर के दौरान ही सुंदर ने अंजली को प्रपोज किया था। इंजीनियरिंग पूरी करने के बाद सुंदर आगे की पढ़ाई के लिए अमेरिका चले गए और तब अंजली इंडिया में ही रह रही थीं।




पिचाई का गूगल तक का सफर

सुंदर ने 10 साल पहले बतौर प्रोडक्ट मैनेजर गूगल को ज्वाइन किया था। पहले उन्हें गूगल टूलबार, डेस्कटॉप सर्च, गूगल गीयर जैसे प्रोडक्ट की जिम्मेदारी दी गई। इसके बाद क्रोम आया और वे कंपनी की अगली पंक्ति में आ खड़े हुए और 2011 में जीमेल की जिम्मेदारी मिली। उसी साल सुंदर गूगल छोड़कर टि्वटर ज्वाइन करने का मन बना चुके थे। तब गूगल ने करीब 305 करोड़ रु. देकर उन्हें रोक लिया था। अगले साल उन्हें क्रोम और एप्स का सीनियर वाइस प्रेसिडेंट बनाया गया। 2013 में एंड्रॉइड भी सुंदर के हवाले कर दिया गया।

जयपुर। गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई रविवार को फैमिली के साथ जयपुर पहुंचे।  पिचाई यहां छुट्टियां मनाने आए हैं और कुछ दिन राजस्थान के अलग-अलग शहरों में जाएंगे। गूगल CEO की इस विजिट से मीडिया को बिल्कुल दूर रखा गया। मीडिया की तरफ उन्होने सिर्फ हाथ हिलाया, पिचाई के आने से पहले एक टीम ने सारी तैयारियां कर रखी थी जैसे ही रविवार दोपहर में पिचाई ने जयपुर एयरपोर्ट पर लैंड किया वंहा उनके लिए एक स्पेशल बस तैयार थी।…