1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. बिहार में एक ही परिवार के पांच सदस्यों ने फंदे से झूलकर की खुदकुशी, मरने वालों में पति पत्नी व तीन बच्चे शामिल

बिहार में एक ही परिवार के पांच सदस्यों ने फंदे से झूलकर की खुदकुशी, मरने वालों में पति पत्नी व तीन बच्चे शामिल

बिहार में सुपौल जिले के राघोपुर थाना क्षेत्र के गद्दी गांव में एक ही परिवार के पांच लोगों ने संदिग्ध हालात में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। घटना शुक्रवार देर रात की बतायी गई। राघोपुर थाना क्षेत्र के गद्दी गांव वार्ड संख्या-4 में रहने वाले मिश्री लाल साह, पत्नी रेणु देवी और उनकी दो नाबालिग लड़की व लड़का रस्सी के फंदे से लटके हुए थे।घटना के बाद इलाके में हड़कंप मच गया है।

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

In Bihar Five Members Of The Same Family Swung To Death By Committing Suicide Husband And Wife And Three Children Were Among Those Who Died

सुपौल। बिहार में सुपौल जिले के राघोपुर थाना क्षेत्र के गद्दी गांव में एक ही परिवार के पांच लोगों ने संदिग्ध हालात में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। घटना शुक्रवार देर रात की बतायी गई। राघोपुर थाना क्षेत्र के गद्दी गांव वार्ड संख्या-4 में रहने वाले मिश्री लाल साह, पत्नी रेणु देवी और उनकी दो नाबालिग लड़की व लड़का रस्सी के फंदे से लटके हुए थे।घटना के बाद इलाके में हड़कंप मच गया है।

पढ़ें :- पारस हॉस्पिटल को मिली क्लीन चिट! तो विपक्ष बोला- योगी जी बताएं 'पारस' को छूकर 'सोना बनाने वाला फॉर्मूला'

घटना की जानकारी मिलते ही लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। खुदकुशी को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं हो रही है। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि मिश्री लाल साह के घर गंध आने के बाद इसकी सूचना पंचायत के मुखिया मो. तस्लीम को दी गई। इसके बाद मुखिया सहित अन्य लोग बाहर के दरवाजे का ताला तोड़कर घर के अंदर प्रवेश किया। घर का एक कमरा भीतर से बंद था। खिरकी से देखा तो पांच लोग रस्सी से लटके हुए थे। इसके बाद लोगों ने पुलिस को जानकारी दी। इसके बाद एसपी मनोज कुमार, प्रशिक्षु डीएसपी सह थानाध्यक्ष सुशांत कुमार चंचल, वीरपुर एसडीपीओ रामानंद कौशल स्थल पर पहुंच जायजा लिया।पुलिस प्रथमदृष्टया इसे सामूहिक आत्महत्या मान रही है।

बुलाई गई फोरेंसिक टीम-वारदात की जांच के लिए पुलिस फोरेंसिक टीम को बुलाई है। फोरेंसिक टीम के आने का इंतजार है। पुलिस हर पहलू से मामले की जांच कर रही है। हालांकि प्रथम दृष्‍टया मामला सामूहिक आत्‍महत्‍या का माना जा रहा है। गांव वाले भी ऐसा ही अंदेशा जाहिर कर रहे हैं। गांव वालों से अधिक संपर्क नहीं रखता था परिवार- यह परिवार गांव वालों से अधिक संपर्क नहीं रखता था।

गांव वालों का यह भी कहना है कि परिवार का कोई भी सदस्‍य पिछले कुछ दिनों से मुहल्‍ले में दिखा नहीं था। इससे अंदेशा जताया जा रहा है कि कम से कम दो-तीन दिन पहले ही सभी सदस्‍यों की मौत हो गई होगी। परिवार पर कर्ज और गरीबी की बात भी चर्चा में है।

पढ़ें :- LJP में फूट पर चिराग पासवान की पहली प्रतिक्रिया, कहा- पार्टी मां के समान है

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X