1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. कोरोना संकट में बहनों ने स्वयं सहायता समूहों के जरिए देशवासियों की सेवा की वो अभूतपूर्व : पीएम मोदी

कोरोना संकट में बहनों ने स्वयं सहायता समूहों के जरिए देशवासियों की सेवा की वो अभूतपूर्व : पीएम मोदी

Aatmanirbhar Narishakti se Samvad: 'आत्मनिर्भर नारी-शक्ति से संवाद' कार्यक्रम मं पीएम मोदी (PM modi) ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हिस्सा लिया। इस दौरान पीएम मोदी (Pm modi) दीनदयाल अंत्योदय योजना-राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (Deendayal Antyodaya Yojana-National Rural Livelihood Mission) से जुड़े महिला और स्व-सहायता समूहों की महिला सदस्यों से बातचीत भी की।

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। Aatmanirbhar Narishakti se Samvad: ‘आत्मनिर्भर नारी-शक्ति से संवाद’ कार्यक्रम मं पीएम मोदी (PM modi) ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हिस्सा लिया। इस दौरान पीएम मोदी (Pm modi) दीनदयाल अंत्योदय योजना-राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (Deendayal Antyodaya Yojana-National Rural Livelihood Mission) से जुड़े महिला और स्व-सहायता समूहों की महिला सदस्यों से बातचीत भी की।

पढ़ें :- Anurag Singh jeevan parichay : अनुराग सिंह ने RSS स्वयं सेवक से बीजेपी विधायक बनने का ऐसे तय किया सफर

पीएम मोदी (Pm modi) ने कहा कि, कोरोना काल में जिस प्रकार से हमारी बहनों ने स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से देशवासियों की सेवा की वो अभूतपूर्व है। मास्क और सेनेटाइज़र बनाना हो, ज़रूरतमंदों तक खाना पहुंचाना हो, जागरूकता का काम हो, हर प्रकार से आपकी सखी समूहों का योगदान अतुलनीय रहा है।

पीएम (Pm Modi) ने कहा कि, जब हमारी सरकार आई तो हमने देखा कि देश की करोड़ों बहनें ऐसी थीं जिनके पास बैंक खाता तक नहीं था, जो बैंकिंग सिस्टम से कोसों दूर थीं।इसलिए हमने सबसे पहले जनधन खाते खोलने का बहुत बड़ा अभियान शुरू किया। उन्होंने कहा कि, आजादी के 75 वर्ष का ये समय नए लक्ष्य तय करने और नई ऊर्जा के साथ आगे बढ़ने का है।

बहनों की समूह शक्ति को भी अब नई ताकत के साथ आगे बढ़ना है। सरकार लगातार वो माहौल, वो स्थितियां बना रही है जहां से आप सभी बहनें हमारे गांवों को समृद्धि और संपन्नता से जोड़ सकती हैं। पीएम मोदी ने कहा कि, भारत में बने खिलौनों को भी सरकार बहुत प्रोत्साहित कर रही है, इसके लिए हर संभव मदद भी दे रही है। विशेष रूप से हमारे आदिवासी क्षेत्रों की बहनें तो पारंपरिक रूप से इससे जुड़ी हैं।

इसमें भी सेल्फ हेल्प ग्रुप्स के लिए बहुत संभावनाएं हैं। पीएम ने कहा कि, आज देश को सिंगल यूज़ प्लास्टिक से मुक्त करने का अभी अभियान चल रहा है। इसमें सेल्फ हेल्प ग्रुप्स की दोहरी भूमिका है। आपको सिंगल यूज़ प्लास्टिक को लेकर जागरूकता भी बढ़ानी है और इसके विकल्प के लिए भी काम करना है।

पढ़ें :- IPL 2022 में शामिल हुईं दो और नई फ्रैंचाइजी टीमें लखनऊ और अहमदाबाद, अब 10 टीमों के साथ होगा टूर्नामेंट

उन्होंने कहा कि, आज बदलते हुए भारत में देश की बहनों-बेटियों के पास भी आगे बढ़ने के अवसर बढ़ रहे हैं। घर, शौचालय, बिजली, पानी, गैस, जैसी सुविधाओं से सभी बहनों को जोड़ा जा रहा है। बहनों-बेटियों की शिक्षा, स्वास्थ्य, पोषण, टीकाकरण और दूसरी ज़रूरतों पर भी सरकार पूरी संवेदनशीलता से काम कर रही है।

पीएम मोदी ने कहा कि फूड प्रोसेसिंग से जुड़े उद्यम हो, महिला किसान उत्पादक संघ हो या फिर दूसरे स्वयं सहायता समूह, बहनों के ऐसे लाखों समूहों के लिए 1,600 करोड़ रुपये से अधिक राशि भेजी गई है। पीएम ने कहा कि आजादी के 75 वर्ष का ये समय नए लक्ष्य तय करने और नई ऊर्जा के साथ आगे बढ़ने का है। सरकार लगातार वो माहौल, वो स्थितियां बना रही है जहां से आप सभी बहनें हमारे गांवों को समृद्धि और संपन्नता से जोड़ सकती हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...