HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. भारत को जल्द मिल सकता है फाइजर वैक्सीन, कंपनी ने दिए ये संकेत

भारत को जल्द मिल सकता है फाइजर वैक्सीन, कंपनी ने दिए ये संकेत

देश में कोरोना की महामारी से निपटने के लिए युद्धस्तर पर टीकाकरण किया जा रहा है। वहीं, इस बीच एक राहत भरी खबर आई है। बताया जा रहा है कि फाइजर का टीका जुलाई से भारत को मिल सकता है। नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पाल ने कहा कि फाइजर से बातचीत चल रही है। उम्मीद है कि जल्द ही फाइजर इस पर मुहर लगा सकती है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। देश में कोरोना की महामारी से निपटने के लिए युद्धस्तर पर टीकाकरण किया जा रहा है। वहीं, इस बीच एक राहत भरी खबर आई है। बताया जा रहा है कि फाइजर का टीका जुलाई से भारत को मिल सकता है। नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पाल ने कहा कि फाइजर से बातचीत चल रही है। उम्मीद है कि जल्द ही फाइजर इस पर मुहर लगा सकती है।

पढ़ें :- IND vs ZIM: भारत ने जिम्बाब्वे को 10 विकेट से हराया, जायसवाल-गिल ने जड़े अर्धशतक

इससे उन खबरों को बल मिला है जिसमें कहा गया था कि फाइजर ने जुलाई से अक्तूबर के बीच पांच करोड़ खुराक भारत को देने की बात कही थी। वी.के. पॉल ने गुरुवार को प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा कि फाइजर के साथ बातचीत चल रही है। उन्होंने कहा कि फाइजर ने टीके के संभावित दुष्प्रभावों को लेकर संरक्षण की मांग की है जिस पर भारत सरकार विचार कर रही है तथा जल्द इस बारे में निर्णय लिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि इस प्रकार की छूट फाइजर ने अमेरिका समेत उन सभी देशों में मांगी थी, जहां उसके टीके की आपूर्ति की है। पॉल ने कहा कि इन मुद्दों के समाधान के बाद फाइजर से जुलाई से टीके की आपूर्ति शुरू होने की संभावना है। यदि फाइजर का टीका भारत को मिलता है तो यह कोरोना टीकाकरण कार्यक्रम में शामिल होने वाला चौथा टीका होगा।

अभी कोवैक्सीन, कोविशील्ड तथा स्पूतनिक टीकों का इस्तेमाल किया जा रहा है। देश में टीके की उपलब्धता कम होने के कारण रोजाना 15-20 लाख टीके ही लग पा रहे हैं। जबकि पूर्व में यह आकड़ा 30 लाख से ऊपर जा चुका था।

पढ़ें :- सात राज्यों में हुए उपचुनाव के नतीजों ने स्पष्ट कर दिया है कि भाजपा का बुना गया ‘भय और भ्रम’ का जाल टूट चुका है: राहुल गांधी
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...