1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. केदारनाथ मंदिर के कपाट खुले, पीएम मोदी की तरफ से हुई पहली पूजा

केदारनाथ मंदिर के कपाट खुले, पीएम मोदी की तरफ से हुई पहली पूजा

उत्तराखंड के विश्वप्रसिद्ध केदारनाथ के कपाट छह माह के शीतकालीन अवकाश के बाद सोमवार सुबह पांच बजे खोल दिए गए। कपाट खुलने के बाद पहली पूजा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से कराई गई।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Kedarnath Temple Doors Opened First Worship By Pm Modi

केदारनाथ। उत्तराखंड के विश्वप्रसिद्ध केदारनाथ के कपाट छह माह के शीतकालीन अवकाश के बाद सोमवार सुबह पांच बजे खोल दिए गए। कपाट खुलने के बाद पहली पूजा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से कराई गई।

पढ़ें :- Shocking Video: जब जयमाल के दौरान गुस्साई दुल्हन, किया कुछ ऐसा दूल्हा हुआ शर्मिंदा...

पिछले वर्ष की तरह इस बार भी कोविड-19 के कारण कपाटोद्घाटन के दौरान श्रद्धालु उपस्थित नहीं रहे। तीर्थ पुरोहितों समेत सीमित लोगों की मौजूदगी में ही विधि विधान के साथ कपाट खोलने का समारोह हुआ। केदारनाथ धाम में कपाट खुलने से पहले ही पूरी तैयारियां कर ली गई थी। पूरे मंदिर को 11 कुंतल फूलों से सजाया गया है। भगवान शंकर की मंत्रमुग्ध करने वाली धुनों से केदारपुरी में वातावरण भक्तिमय बन गया है। आज सुबह केदारनाथ रावल भीमाशंकर लिंग और मंदिर के मुख्य पुजारी बागेश लिंग एवं प्रशासन की मौजूदगी में मंदिर के कपाट खोले दिए जाएंगे। मुख्य द्वार खुलने के बाद आम भक्तों को मंदिर में प्रवेश प्रतिबंधित किया गया है।

पढ़ें :- Nirjala Ekadashi 2021: विशेष धार्मिक महत्व है निर्जला एकादशी व्रत का, विधि पूर्वक करें व्रत का पारण

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने बाबा केदार के धाम के पट खुलने पर श्रद्धालुओं को शुभकामनांए दी। साथ ही उनसे अपील की कि वे अपने घरों में रहकर ही पूजा अर्चना करें। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने बताया कि देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड एवं मंदिर समितियों द्वारा चारों धामों में पहली पूजाएं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से जनकल्याण के लिए की जा रही हैं।

देवस्थानमं बोर्ड के अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी बीडी सिंह ने बताया कि सरकार और देवस्थानमं बोर्ड द्वारा कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए विधि-विधान से केदारनाथ के कपाट खोले आज सुबह खोले गए। फिलहाल किसी को भी मंदिर के गर्भ गृह में जाने की अनुमति नहीं है। केदारनाथ रावल और मुख्य पुजारी की देख-रेख में मंदिर के कपाट खोले गए।

 

केदारनाथ धाम के कपाट खोले जाने के वक्त केदारनाथ रावल भीमाशंकर लिंग, मुख्य पुजारी बागेश लिंग, जिलाधिकारी मनुज गोयल, 21 तीर्थपुरोहित, देवस्थानम बोर्ड के 14 कर्मचारी, सीओ गुप्तकाशी अनिल मनराज, चौकी इंजार्च मंजुल रावत, 6 काटेबल, 2 महिला कास्टेबल, 4 मंदिर सुरक्षा गार्द के कर्मी मौजूद रहे।

पढ़ें :- सुन लो भाजपाइयों मंदिर के नाम पर चंदा चोरी नहीं करने दूंगा, चाहे मेरी हत्या कर दो : संजय सिंह

मंगलवार को यानी 18 मई को चमोली में स्थित भगवान बदरीनाथ के कपाट सुबह सवा चार बजे ब्रहममुहूर्त में खुल जाएंगे। कोविड के कारण यहां भी श्रद्धालुओं को आने की अनुमति नहीं होगी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X