1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Lucknow : पुलिस को हाईटेक बनाने के लिए ‘Crime and Accident APP’लांच, मिलेगी ये जानकारी

Lucknow : पुलिस को हाईटेक बनाने के लिए ‘Crime and Accident APP’लांच, मिलेगी ये जानकारी

कमिश्नरेट लखनऊ को हाईटेक बनाने की कवायद को लेकर पुलिस आयुक्त लखनऊ डीके ठाकुर ने बुधवार को 'Crime and Accident APP' लांच किया है। उक्त अपराध मानचित्र ऐप पर कमिश्नरेट लखनऊ में समस्त थाना क्षेत्रों के अंतर्गत होने वाले सभी आपराधिक प्रकरणों का विवरण दर्ज किए जायेगा।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। कमिश्नरेट लखनऊ को हाईटेक बनाने की कवायद को लेकर पुलिस आयुक्त लखनऊ डीके ठाकुर ने बुधवार को ‘Crime and Accident APP’ लांच किया है। उक्त अपराध मानचित्र ऐप पर कमिश्नरेट लखनऊ में समस्त थाना क्षेत्रों के अंतर्गत होने वाले सभी आपराधिक प्रकरणों का विवरण दर्ज किए जायेगा।

पढ़ें :- बीजेपी सरकार से हट जाए, तीन महीने में जातीय जनगणना करके दिखाएं समाजवादी लोग : अखिलेश यादव

उदाहरणतः यदि कोई पुलिस थाना x है, तो उक्त पुलिस थाने के अंतर्गत कितने अपराध दर्ज किए गए हैं। उन अपराधों का (पाठ सारांश) क्या है, अपराध कितने प्रकार के हैं। अपराधी किस श्रेणी का अपराध कारित करता हैं, उक्त अपराध मानचित्र ऐप पर अपराधों और अपराध का लिंगानुपात व अपराधियों की लोकेशन भी दिखाई जाएगी।

पढ़ें :- सपा ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की संशोधित सूची जारी की,सवर्णों को भी मिली जगह

अपराध मानचित्र ऐप पर सड़क दुर्घटनाओं से संबंधित समस्त दुर्घटनाओं की सूची के साथ-साथ, दुर्घटनाओं की रिपोर्ट का विवरण और दुर्घटना क्षेत्र किस पुलिस थाना क्षेत्र के अंतर्गत आता है। सभी प्रकार की दुर्घटनाएं व अन्य सभी सड़क संबंधी दुर्घटनाओं के अंतर्गत आने वाले समस्त विवरण प्रदर्शित होगें।

अपराध मानचित्र ऐप की सहायता से थानों के अंतर्गत किस प्रकार के अपराध तेजी से बढ़ रहे है व घट रहे है। कमिश्नरेट लखनऊ के समस्त जोन के अनुसार अपराधों की श्रेणी, अपराध का स्थान व अपराध लिंगानुपात क्या है? इसकी पूरी जानकारी पुलिस के उच्चाधिकारी समय-समय पर उक्त एप्लीकेशन की सहायता से देख सकते है। इसके अलावा जानकारी प्राप्त कर सकेगें।

अपराध मानचित्र ऐप हमें संसाधनों को बेहतर ढंग से तैनात करने और सड़क दुर्घटनाओं और अपराध को कम करने में मदद करेगा। हमारा प्रमुख उद्देश्य अधिकारियों तक समुचित जानकारी पहुंचना है। इसके साथ-साथ अनुशासन और प्रवर्तन को लागू करना है। दूसरा ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए अपराध और दुर्घटनाओं के आंकड़ों का विश्लेषण करना और इसके आधार पर हमारे दुर्लभ संसाधनों को तैनात करना प्रमुख उद्देश्य है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...