1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Lucknow News: प्रमुख सचिव का निजी डाटा हैककर मांग रहे थे 80 लाख की रंगदारी, क्रैडिट कार्ड से भी निकाले रुपये

Lucknow News: प्रमुख सचिव का निजी डाटा हैककर मांग रहे थे 80 लाख की रंगदारी, क्रैडिट कार्ड से भी निकाले रुपये

प्रमुख सचिव नमामि गंगे एवं ग्रामीण जलापूर्ति अनुराग श्रीवास्तव से रंगदारी मांगने वाले तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों ने धमकी भरा ईमेल भेजकर 80 लाख की रंगदारी मांगी थी। लखनऊ की साइबर थाना पुलिस ने जांच के बाद तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। तीनों आरोपी ग्रामीण जलापूर्ति विभाग में संविदा पर काम करते थे।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Lucknow News: प्रमुख सचिव नमामि गंगे एवं ग्रामीण जलापूर्ति अनुराग श्रीवास्तव से रंगदारी मांगने वाले तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों ने धमकी भरा ईमेल भेजकर 80 लाख की रंगदारी मांगी थी। लखनऊ की साइबर थाना पुलिस ने जांच के बाद तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। तीनों आरोपी ग्रामीण जलापूर्ति विभाग में संविदा पर काम करते थे।

पढ़ें :- नौतनवा:ब्लाक प्रमुख ने आरसीसी सड़क के लिए किया भूमि पूजन

पुलिस के मुताबिक, आरोपियों ने पूछताछ में अपना नाम पीजीआई के उतरेठिया बाजार निवासी अमित प्रताप सिंह, वृंदावन योजना सेक्टर-9 का रजनीश निगम और गोमतीनगर एम रसेल कोर्ट निवासी हार्दिक खन्ना बताया है। पुलिस ने आरोपियों के पास से तीन मोबाइल फोन, एक लैपटॉप समेत अन्य सामान बरामद किए हैं। पुलिस के मुताबिक, प्रमुख सचिव के कार्यालय में वेबसाइट से जुड़े काम का टेंडर एक निजी कंपनी के पास था।

आरोपियों ने टेंडर पर मिले सरकारी वेबसाइट से संबंधित काम करने के दौरान प्रमुख सचिव की मेल से निजी जानकारी जुटाई। इसके बाद मेल के क्लाउड पर इकट्ठा डाटा चोरी किया। इसके बाद आरोपियों ने गूगल ड्राइव से चुनाए डाटा व फोटो को बदलकर धमकी भरे मेल भेजे। इसके बदले में पांच बिटक्वाइन भारतीय मुद्रा में करीब 80 लाख रुपये एक वॉलेट में भेजने को कहा था।

क्रेडिट कार्ड की क्लोनिंग कर निकाले हजारों रुपये
आरोपियों ने प्रमुख सचिव के क्रेडिट कार्ड की क्लोनिंग कर हजारों रुपये निकाले थे। पुलिस इस मामले में जांच शुरू की और तीनों आरोपियों को गिरफ्तार किया। दरअसल, बीते कुछ दिन पहले शिकायतकर्ता प्रमुख सचिव अनुराग श्रीवास्तव की ओर से क्रेडिट कार्ड के जरिए अनाधिकृत रूप से पैसे निकल जाने की सूचना प्राप्त हुई थी, जिस पर उनके द्वारा द्वारा क्रेडिट कार्ड को ब्लॉक करा दिया गया। इसके बाद उनकी और उनके परिजनों की मेल आईडी पर फोटो आदि को लेकर धमकी भरे मेल आने लगे। इसके बाद थाना साइबर क्राइम लखनऊ पर अपराध दर्ज किया गया।

पढ़ें :- Lucknow News: विवाद के दौरान पत्नी ने पति की जीभ को दांत से काटा, दोनों रहते थे अलग
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...