1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. मेहुल चोकसी का दावा-बेगुनाही साबित करने के लिए लौटना चाहता था भारत, किडनैपिंग के बाद बदला इरादा

मेहुल चोकसी का दावा-बेगुनाही साबित करने के लिए लौटना चाहता था भारत, किडनैपिंग के बाद बदला इरादा

भगोड़ा हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी डेमनिका में जमानत मिलने के बाद एंटीगुहा और बारबुडा पहुंच गया है। डोमनिका में गैरकानूनी तरीके से प्रवेश के आरोप में वह 52 दिन तक वहां पर हिरासत में रहा।

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। भगोड़ा हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी डेमनिका में जमानत मिलने के बाद एंटीगुहा और बारबुडा पहुंच गया है। डोमनिका में गैरकानूनी तरीके से प्रवेश के आरोप में वह 52 दिन तक वहां पर हिरासत में रहा।

पढ़ें :- ईडी ने भगोड़े व्यवसासियों की संपत्ति बेचकर अब तक 13,100 करोड़ की रिकवरी

एंटीगुआ और बारबुडा पहंचने के बाद चौकसी ने कहा कि वह अपनी बेगुनाही साबित करने के लिए भारत लौटने का विचार कर रहा था लेकिन भारतीय एजेंसियों द्वारा “किडनैपिंग” के बाद, वह भारत में अपनी सुरक्षा के बारे में बेहद आशंकित है। बता दें कि भारत से फरार होने के बाद चोकसी 2018 से एंटीगुआ एवं बारबुडा में रह रहा है, उसने वहां की नागरिकता भी ले ली है।

अपने वकील विजय अग्रवाल के जरिए एक मीडिया संस्थान के साथ साझा किए गए एक ऑडियो संदेश में, चोकसी ने कहा – “मैं घर वापस आ गया हूं लेकिन इस यातना ने मेरे दिमाग और मेरे शरीर बल्कि मेरी आत्मा तक पर निशान छोड़े हैं।

मैं कभी सोच भी नहीं सकता था कि मेरा सारा कारोबार बंद करके और मेरी सारी संपत्तियां जब्त करने के बाद, भारतीय एजेंसियों मेरे अपहरण का प्रयास कर सकती हैं। मैंने इसके बारे में सुना था लेकिन मुझे कभी विश्वास नहीं हुआ कि वे इस हद तक जा सकते हैं।”

 

पढ़ें :- विजय माल्या, मेहुल चौकसी और नीरव मोदी की करोड़ों की जब्त संपत्ति ईडी ने बैंकों को सौंपी

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...