1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. मुरादाबाद:दबंगो ने विधवा महिला के खेत मे खड़ी फसल को किया नष्ट,शिकायत की तो दी जान से मारने की धमकी

मुरादाबाद:दबंगो ने विधवा महिला के खेत मे खड़ी फसल को किया नष्ट,शिकायत की तो दी जान से मारने की धमकी

मुरादाबाद जनपद के छजलैट थाना क्षेत्रांर्गत आने वाले मलहपुर ख़य्या में कुछ दंबगो द्वारा विधवा महिला की खड़ी फसल को नष्ट करने का मामला सामने आया है महिला ने पुलिस से मामले की शिकायत की है लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नही हुई।

By रूपक त्यागी 
Updated Date

प्रदेश सरकार भले है महिला सशक्तिकरण की बात कर रही हो लेकिन महिला उत्पीड़न के मामले लगातार बढ़ते दिखाई दे रहे हैं,ताज़ा मामला जनपद मुरादाबाद से सामने आया है जहाँ निवासी एक विधवा महिला की सरसों की फसल कुछ दबंगो द्वारा नष्ट कर दी गयी,पीड़िता ने मामले को शिकायत एस एस पी मुरादाबाद से की है लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नही हुई,महिला को लगातार जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं।

पढ़ें :- सीएम योगी बोले-कभी सफल नहीं होगी अवैध धर्मांतरण वालों की मंशा, जाग चुका है देश

खेत मे खड़ी नष्ट हुई सरसों की फसल।

दरसअल मामला छजलैट थाना क्षेत्र के मल्हपुर खय्या गांव से जुड़ा है यहां की रहने वाली सुचेता के पति की 2001 में मृत्यु हो गयी थी जिसके बाद काफी मशक्कत के बाद महिला ने 2009 अपने पति के हिस्से की जमीन अपने बेटे के नाम करा दी ,इसके बाबजूद भी महिला के जेठ व उनके परिजनों ने महिला को उसकी ही जमीन पर काबिज नही होने दिया,विधबा महिला ने मामले को लेकर न्यायालय की शरण ली जहां से 2015 में महिला को जमीन पर कब्ज़ा दिला दिया गया,उसके बाद से महिला जैसे तैसे अपनी जमीन में फसल उगाने की कोशिश करती है, महिला का आरोप है कि बिजेंद्र ,खिलेंद्र नरेंद्र पुत्रगण राजपाल निवासी मलहपुर ख़य्या महिला की फसल को नष्ट कर देते हैं और जब भी महिला अपने खेतों को देखने जाती है तो ये लोग मारपीट पर उतारू हो जाते हैं।

पढ़ें :- Lucknow News: श्रीरामचरित मानस की प्रतियां जलाने के मामले में 5 आरोपी हुए गिरफ्तार, अन्य की तलाश जारी

फसल नष्ट होने व पुलिस की तरफ से कोई कार्रवाई न होने से गमगीन परिजन।

विधबा महिला सुचेता पाकबड़ा थाना क्षेत्र के गांव जेबड़ा की रहने वाली है,महिला की शादी बर्ष 1999 में मलहपुर ख़य्या निवासी जितेंद्र पुत्र राजपाल के साथ हुई थी शादी के तीन बर्ष बाद ही महिला के पति की बिजली के करंट लगने से मौत हो गयी थी इसी बीच महिला ने एक पुत्री व एक पुत्र को जन्म दिया जिनमें पुत्री का नाम निकिता(निक्की) पुत्र का नाम जगमेंद्र सिंह है। महिला ने आरोप लगाया है कि पति जितेंद्र की मौत के जिम्मेदार बिजेंद्र,खिलेंद्र,नरेंद्र व इनके बहनोई सतेंद्र उर्फ बबलू निवासी वाजिदपुर हैं इन लोगो ने ही जमीन के लालच में पति जितेंद्र की हत्या की साजिश रची थी,2001 में पति की मौत के बाद विधबा महिला को धक्के मारकर घर से बाहर निकाल दिया गया था जिसके बाद महिला ने अपना संघर्ष जारी रखा और अपने नाबालिग बेटे को अपने पति के हिस्से में आने वाली जमीन दिला दी,जिसके संरक्षक कमिश्नर मुरादाबाद बने।

दिनांक 03 अप्रेल 2022 को महिला अपने खेत में लगी फसल को देखने अपनी ससुराल मलहपुर ख़य्या गयी थी जैसे ही महिला खेत पर पहुंची तो उसने देखा कि सात बीघा खेत मे खड़ी सरसो की फसल को नष्ट कर दिया गया है महिला इस पर फूट फूट कर रोई ओर मामले को शिकायत एस एस पी मुरादाबाद से की एस एस पी ने तुरंत मामले का संज्ञान लेते हुए छजलैट पुलिस को जांच के आदेश दिए पुलिस ने मामले ने NCR दर्ज कर ली । पीड़िता का आरोप है कि जब वह मामले की जानकारी के लिए थाने पहुंची तो उसने एसओ रामप्रताप सिंह से न्याय की गुहार लगाई लेकिन एस ओ ने महिला को ये कह कर वहां से टरका दिया कि यहां पर कोई न्याय नही मिलता है।

मामले की जानकारी देती पीड़िता सुचेता।

पढ़ें :- UP News: गोरखनाथ मंदिर पर हमला करने वाले अहमद मुर्तजा को फांसी की सजा, कोर्ट ने सुनाया फैसला

इसके बाद मामला यहीं नही रुका महिला अपने बेटे के साथ 08 अप्रेल को दोबारा अपने खेत पर पहुंची तो वहां बिजेंद्र,नरेंद्र,खिलेंद्र व इनके बहनोई सतेंद्र उर्फ बबलू ने मां बेटे को खेत पर घेर लिया और मारपीट शुरू कर दी, पीड़िता अपने बेटे के साथ बमुश्किल वहां से जान बचाकर भागे, पीड़िता का आरोप है कि उक्त लोगों ने कहा है कि दोबारा अगर खेत पर आए तो तुझे ओर तेरे बेटे को जान से मार देंगे पीड़िता मामले को शिकायत लेकर थाने पहुंची लेकिन फिर से एस ओ छजलैट ने मामले की NCR दर्ज कर पीड़िता को वहां से टरका दिया और अभी तक कोई कार्रवाई नही की।पीड़िता ने मामले की शिकायत उपजिलाधिकारी कांठ से की लेकिन वहां से भी आश्वाशन के अलावा कोई सफलता नही मिली,विधबा महिला लगातार आलाधिकारियों के ऑफिस के चक्कर काट रही है लेकिन अभी तक ना तो किसी की गिरफ्तारी हुई हैं ना ही पुलिस की तरफ से कोई कार्रवाई की गई है।वहीं इस मामले पर एस ओ रामप्रताप ने जानकारी देते हुए बताया कि एक महिला जिसका नाम सुचेता है उनकी तरफ से एक तहरीर आई थी जिसमे उनके द्वारा कुछ लोगो पर उनकी फसल नष्ट करने का आरोप लगाया गया है मामले में NCR दर्ज कर ली गयी है मामले की जांच कराई जा रही है जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई कराई जाएगी।

एस ओ छजलैट रामप्रताप सिंह।

योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री के पद की शपथ लेते समय महिलाओं को सम्मान और उनके साथ हो रहे उत्पीड़न को खत्म करने की बात कही थी लेकिन महिला उत्पीड़न के मामले लगातार बढ़ रहे है ऐसे में महिलाओं के सामने बिषम परिस्थिति उत्पन्न होती दिखाई दे रही है,इस पूरे मामले में जहां एक ओर पीड़िता लगातार अपना संघर्ष जारी रखे हुए है वहीं दूसरी ओर पीड़िता को लगातार धमकियां भी मिल रही हैं,ऐसे में विधबा महिला के सामने अपने दो बच्चो की जिम्मेदारी तो है ही साथ ही महिला लगातार आलाधिकारियों को भी मामले से अवगत करा रही है लेकिन महिला की कोई सुनवाई होती नही दिख रही है महिला का कहना है कि अगर न्याय नही मिला तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलकर उनको मामले से अवगत कराया जाएगा।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...