1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. राष्ट्र निर्माता शिक्षक उत्पीड़न की कार्रवाई नहीं करेगा बर्दाश्त, आर-पार की लड़ाई को है तैयार : डॉ. आरपी मिश्र

राष्ट्र निर्माता शिक्षक उत्पीड़न की कार्रवाई नहीं करेगा बर्दाश्त, आर-पार की लड़ाई को है तैयार : डॉ. आरपी मिश्र

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रदेश व्यापी संघर्ष के अंतर्गत गुरुवार को लखनऊ के संयुक्त शिक्षा निदेशक कार्यालय पर लखनऊ मंडल के सैकड़ों शिक्षकों ने संगठन के प्रदेशीय मंत्री डॉ. आरपी मिश्र के नेतृत्व में जोरदार धरना-प्रदर्शन किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री को संबोधित 19 सूत्री ज्ञापन संयुक्त शिक्षा निदेशक लखनऊ मंडल सुरेंद्र कुमार तिवारी को सौंपा।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ । उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रदेश व्यापी संघर्ष के अंतर्गत गुरुवार को लखनऊ के संयुक्त शिक्षा निदेशक कार्यालय पर लखनऊ मंडल के सैकड़ों शिक्षकों ने संगठन के प्रदेशीय मंत्री डॉ. आरपी मिश्र के नेतृत्व में जोरदार धरना-प्रदर्शन किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री को संबोधित 19 सूत्री ज्ञापन संयुक्त शिक्षा निदेशक लखनऊ मंडल सुरेंद्र कुमार तिवारी को सौंपा।

पढ़ें :- पिछली सरकारों में अपराधियों के हौसले रहते थे बुलंद: डॉ. दिनेश शर्मा

संयुक्त शिक्षा निदेशक ने मुख्यमंत्री को प्रेषित ज्ञापन की समस्याओं पर कार्यवाही किए जाने हेतु आश्वस्त किया। संघर्ष कार्यक्रम के संयोजक एवं प्रदेशीय मंत्री डॉ. आरपी मिश्र ने बताया कि प्रदेश व्यापी संघर्ष अभियान के अंतर्गत डॉ. मिश्र ने कहा कि स्वच्छ एवं उन्मुक्त उन्मुक्त वातावरण में भविष्य की चुनौतियों के लिए अपने शिष्यों को तैयार करने वाला शिक्षक समुदाय अवसाद ग्रस्त होकर अपने स्वस्थ दिल दिमाग से राष्ट्र निर्माण के दायित्व का निर्वहन नहीं कर सकता। इसके साथ ही सरकार उसके भ्रष्ट अधिकारियों द्वारा शिक्षकों के विरुद्ध की जा रही उत्पीड़न कार्रवाई हो और अपमानित करने वाली टिप्पणियों से सम्मान पर चोट सेहत राष्ट्र निर्माता शिक्षक संघर्ष की राह पर चलने के लिए विवश है। सरकार यदि हमारी मांगों को नहीं पूरा करती है तो हम आर पार की लड़ाई के लिए तैयार हैं।

मंडलीय अध्यक्ष तुलसीराम मिश्र एवं मंडली मंत्री जगजीवन प्रसाद शुक्ल ने ज्ञापन की मांगों में शासन द्वारा लागू विद्यालयों के समय में संशोधन कर उसे पूर्ववत बनाए रखने, पुरानी पेंशन की बहाली किए जाने, वित्तविहीन व्यवसायिक एवं कंप्यूटर शिक्षकों को पूर्णकालिक शिक्षक का दर्जा समान कार्य के लिए समान वेतनमान दिए जाने, शिक्षकों को निशुल्क चिकित्सा सुविधा का लाभ दिए जाने, वंचित तदर्थ शिक्षकों का विनियमितीकरण किए जाने, महंगाई भत्ते की कटौती की धनराशि वापस किए जाने, स्थानांतरण प्रक्रिया का सरलीकरण किए जाने आदि मांगे सम्मिलित है।

धरने में प्रमुख रूप से प्रदेशीय उपाध्यक्ष  रामेश्वर उपाध्याय, प्रदेशीय मंत्री एवं प्रवक्ता डॉ. आरपी मिश्र, प्रदेशीय मंत्री नरेंद्र कुमार वर्मा, मंडल अध्यक्ष तुलसी राम मिश्र, मंडलीय मंत्री जगजीवन प्रसाद शुक्ल, राज्य कार्यकारिणी सदस्य कौशल किशोर मिश्र एवं सुधा मिश्रा, हरदोई के जिलाध्यक्ष राजीव मिश्र, लखनऊ के जिलाध्यक्ष डा0 आर0के0 त्रिवेदी, सीतापुर के जिलाध्यक्ष सुशील कुमार पांडेय, रायबरेली के जिलाध्यक्ष राकेश मिश्र, उन्नाव के जिलाध्यक्ष चंद्र प्रकाश शुक्ल, लखीमपुर-खीरी के जिलामंत्री श्याम मूर्ति शुक्ल, लखनऊ के जिलामंत्री अरुण कुमार अवस्थी, हरदोई के जिलामंत्री किसान चौरसिया, रायबरेली के जिलामंत्री शैलेश कुमार बाजपेई, सीतापुर के जिलामंत्री पंकज श्रीवास्तव, उन्नाव के जिलामंत्री देवेंद्र सिंह आदि ने संबोधित किया।

पढ़ें :- यूपी विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष अध्यक्ष सुखदेव राजभर का निधन,  योगी व अखिलेश ने जताया शोक
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...