1. हिन्दी समाचार
  2. पर्दाफाश
  3. तमिलनाडु में बुढ़िया के बाल या कॉटन कैंडी पर लगा प्रतिबंध, वजह जानकर रह जाएंगे हैरान

तमिलनाडु में बुढ़िया के बाल या कॉटन कैंडी पर लगा प्रतिबंध, वजह जानकर रह जाएंगे हैरान

बचपन से ही गुलाबी रंग की दिखने वाली मीठी मीठी कॉटन कैंडी जिसे लोग बुढ़िया के बाल भी कहते है सड़कों  के किनारे तो कभी घर के बाहर बिकते हुए देखा होगा। शायद ही कोई  बच्चा हो जिसने इसे  खाने की  जिद न की हो यहहर बच्चे का सबसे पंसदीदा होती है। 

By प्रिन्सी साहू 
Updated Date

बचपन से ही गुलाबी रंग की दिखने वाली मीठी मीठी कॉटन कैंडी (Cotton candy) जिसे लोग बुढ़िया के बाल भी कहते है सड़कों  के किनारे तो कभी घर के बाहर बिकते हुए देखा होगा। शायद ही कोई  बच्चा हो जिसने इसे  खाने की  जिद न की हो यहहर बच्चे का सबसे पंसदीदा होती है।

पढ़ें :- लखनऊ पूर्वी विधानसभा उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने प्रदेश महासचिव मुकेश सिंह चौहान को दिया टिकट

इसे तमिलनाडु में प्रतिबंध लगा दियाा गया है। कॉटन कैंडी (Cotton candy)को तमिलनाडु सीएम एम के स्टालिन ने बिक्री पर रोक लगा दी है। रिपोर्ट के अनुसार कॉटन कैंडी में कुछ कुछ ऐसे तत्व पाए गए है जिनसे कैंसर हो सकता है।

इसके बारे में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए गए है कि वे इस प्रतिबंध को पूरी तरह से लागू करवाएं। बिक्री पर रोक लगा दी गई है। एक जांच रिपोर्ट में पाया गया है कि इसमें तमाम हानिकारक केमिकल्स रहते हैं, जो कैंसर जैसी गंभीर बीमारी के भी कारण बन सकते हैं।

कुछ टेस्ट में इस बात की पुष्टि हुई है कि कॉटन कैंडी (Cotton candy) या बुढ़िया के बाल में ऐसे केमिकल पाए गए हैं जिनकी वजह से कैंसर हो सकता है। इस रिपोर्ट के अनुसार तमिलनाडु सरकार ने राज्य में कॉटन कैंडी पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री एम सुब्रमण्यम ने सभी खाद्य सुरक्षा अधिकारियों को आदेश दिए हैं कि वे इस प्रतिबंध को लागू कराने के लिएए जरुरी कदम उठाएं और जरुरी हो तो सख्त कार्रवाई भी करें।

 

पढ़ें :- पाकिस्तान में बलूचिस्तान प्रांत में भीषण बारिश का कहर जारी, 39 की मौत, सरकार को लगाना पड़ा आपातकाल

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...