1. हिन्दी समाचार
  2. बिज़नेस
  3. Punjab Kisan Andolan: धरने पर बैठे के किसान, 3 दिन तक चलेगा रेल रोको आंदोलन

Punjab Kisan Andolan: धरने पर बैठे के किसान, 3 दिन तक चलेगा रेल रोको आंदोलन

Punjab Kisan Andolan: पंजाब में किसानों ने अपनी मांगों को लेकर एक बार फिर आंदोलन शुरू कर दिया है। यहां पर अलग-अलग किसान संगठनों के सदस्यों ने गुरुवार से तीन दिवसीय ‘रेल रोको’ विरोध प्रदर्शन की शुरुआत की है। ये लोग रेल रेल की पटरियों पर बैठकर अपनी मांगों लेकर प्रदर्शन करने वाले हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रदर्शन में शामिल किसान हाल ही में आई बाढ़ से हुए नुकसान के लिए वित्तीय पैकेज, न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) की वैध गारंटी और कर्ज माफी की मांग कर रहे हैं। 

By Abhimanyu 
Updated Date

Punjab Kisan Andolan: पंजाब में किसानों ने अपनी मांगों को लेकर एक बार फिर आंदोलन शुरू कर दिया है। यहां पर अलग-अलग किसान संगठनों के सदस्यों ने गुरुवार से तीन दिवसीय ‘रेल रोको’ विरोध प्रदर्शन की शुरुआत की है। ये लोग रेल रेल की पटरियों पर बैठकर अपनी मांगों लेकर प्रदर्शन करने वाले हैं।

पढ़ें :- किसान मोर्चा की सरकार से चौथे दौर की वार्ता भी फेल, 'MSP गारंटी से कम कुछ भी मंजूर नहीं' दिल्ली कूच 21 को

किसानों ने मोगा, होशियारपुर, गुरदासपुर, जालंधर, तरणतारण, संगरूर, पटियाला, फिरोजपुर, भठिंडा और अमृतसर में प्रदर्शन करने की योजना बनाई है। केंद्र सरकार के खिलाफ उनका यह प्रदर्शन 30 सितंबर तक जारी रहेगा। किसानों की मांग में उत्तर भारत में बाढ़ से प्रभावित किसानों के लिए वित्तीय पैकेज (Financial package), सभी फसलों पर एमएसपी (MSP) के लिए वैध गारंटी और कर्ज माफी सहित अन्य मांगें शामिल हैं।

अमृतसर में किसान नेता गुरबचन सिंह का कहना है कि किसान, उत्तर भारतीय राज्यों के लिए 50 हजार करोड़ रुपये के बाढ़ राहत पैकेज और स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट की सिफारिशों के मुताबिक एमएसपी की मांग कर रहे हैं। अपनी मांगों को बताते हुए किसान नेता ने कहा कि किसानों व मजदूरों का पूरा कर्ज माफ होना चाहिए। इसके अलावा तीन कृषि कानूनों (जिन्हें अब निरस्त कर दिया गया है) के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान जिन किसानों की मौत हुई, उनमें से प्रत्येक के परिवार को 10 लाख रुपये और एक सरकारी नौकरी दी जाये।

अमृतसर में किसान, देवीदासपुरा में अमृतसर-दिल्ली रेल पटरी पर बैठकर प्रदर्शन कर रहे हैं। जिसमें किसान मजदूर संघर्ष समिति, भारती किसान यूनियन (भाकियू-क्रांतिकारी), भाकियू (एकता आजाद), आजाद किसान समिति दोआबा, भाकियू (बेहरामके), भाकियू (शहीद भगत सिंह) और भाकियू (छोटू राम) सहित कई किसान संगठन शामिल हैं।

पढ़ें :- Internet Suspended In Haryana : हरियाणा के इन जिलों में कल तक इंटरनेट बंद, बल्क SMS पर रोक, 15 जिलों में धारा 144 लागू
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...