1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. उत्तरखंड के 11वें और सबसे युवा मुख्यमंत्री बने पुष्कर सिंह धामी, जानिए इनके बारे में सब कुछ…

उत्तरखंड के 11वें और सबसे युवा मुख्यमंत्री बने पुष्कर सिंह धामी, जानिए इनके बारे में सब कुछ…

उत्तराखंड में नए मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा के बाद अटकलों पर विराम लग गया है। 11वें मुख्यमंत्री के रूप में पुष्कर सिंह धामी आज शाम छह बजे शपथ लेंगे। चार महीने के भीतर पुष्कर सिंह धामी तीसरे मुख्यमंत्री होंगे। त्रिवेंद्र सिंह रावत के बाद तीरथ सिंह रावत को मुख्यमंत्री बनाया गया था। हालांकि, उन्होंने भी शुक्रवार रात इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद विधायक दल की बैठक ने पुष्कर सिंह धामी के नाम पर मुहर लगाई।

By शिव मौर्या 
Updated Date

देहरादून। उत्तराखंड में नए मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा के बाद अटकलों पर विराम लग गया है। 11वें मुख्यमंत्री के रूप में पुष्कर सिंह धामी आज शाम छह बजे शपथ लेंगे। चार महीने के भीतर पुष्कर सिंह धामी तीसरे मुख्यमंत्री होंगे। त्रिवेंद्र सिंह रावत के बाद तीरथ सिंह रावत को मुख्यमंत्री बनाया गया था। हालांकि, उन्होंने भी शुक्रवार रात इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद विधायक दल की बैठक ने पुष्कर सिंह धामी के नाम पर मुहर लगाई।

पढ़ें :- इस राज्य में कक्षा छह से 12वीं तक के स्कूल 1अगस्त से खुलेंगे, कैबिनेट ने लगाई मुहर

बता दें कि, धामी खटीमा विधानसभा सीट से दूसरी ​बार विधानसभा पहुंचे। 46 साल के धामी भाजपा के युवा नेता हैं और उत्तराखंड के अभी तक सबसे युवा मुख्यमंत्री हैं। धामी का जन्म साल 16 सितंबर, 1975 को राज्य के सीमांत जिले पिथौरागढ़ की तहसील डीडीहाट के टुण्डी गांव में हुआ है। उनका ताल्लुक सैन्य परिवार से रहा है और वे तीन बहनों के भाई हैं।

उनके पिता पूर्व सैन्य अधिकारी थे। धामी की शुरुआती शिक्षा गांव में हुई और हायर एजुकेशन लखनऊ यूनिवर्सिटी से की है। पुष्कर धामी मैनेजमेंट में पोस्ट ग्रेजुएट हैं। धामी को पूर्व मुख्यमंत्री और वर्तमान में महाराष्ट्र और गोवा के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी का करीबी माना जाता है।

बताया जा रहा है कि पुष्कर सिंह धामी को मुख्यमंत्री बनाकर विधानसभा चुनाव 2022 में पार्टी युवा वो​टरों को लुभाने की कोशिश की है। धामी महज 46 साल के हैं। 57 विधायकों की संख्या होने के बावजूद बीजेपी ने तीन-तीन मुख्यमंत्री बदल डाले। ऐसे में पार्टी की ज्यादा किरकिरी न हो इसलिए धामी पर दांव खेला गया है।

 

पढ़ें :- अब दिल्ली में भी कांवड़ यात्रा बैन, कोरोना के चलते लिया फैसला

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...