1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. Samudrik Shastra: पैर के तलवे पर तिल होने का ये है मतलब, एड़ी पर तिल होने पर पड़ता है ये प्रभाव

Samudrik Shastra: पैर के तलवे पर तिल होने का ये है मतलब, एड़ी पर तिल होने पर पड़ता है ये प्रभाव

व्यक्ति के शरीर के अंगों पर कुछ निशान या खास तरह के चिन्ह पाये जाते है। ज्योतिष शास्त्र में इन चिन्हों और निशानों के बारे  बताया गया है। इन का बहुत ही गहरा अर्थ है। ज्योतिष शास्त्र में अंगों पर पाये जाने वाले तिलों को आधार बना कर भविष्य कथन किया जाता है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Samudrik Shastra: व्यक्ति के शरीर के अंगों पर कुछ निशान या खास तरह के चिन्ह पाये जाते है। ज्योतिष शास्त्र में इन चिन्हों और निशानों के बारे  बताया गया है। इन का बहुत ही गहरा अर्थ है। ज्योतिष शास्त्र में अंगों पर पाये जाने वाले तिलों को आधार बना कर भविष्य कथन किया जाता है। सामुद्रिक शास्त्र में मनुष्य के शरीर पर मौजूद अंग पर तिलों का विश्लेषण करके उसके भविष्य और व्यक्तित्व के बारे में बताया जाता है। इस शास्त्र में अशुभ और शुभ दोनों प्रकार के तिलों का वर्णन है।पांव के तलवों में तिल पाया जाता है। आइये जानते है तलवों पर पाये जाने वाले तिल के का क्या महत्व है।

पढ़ें :- Shakun Shastra: सावन मास में असहाय वंचितों को दान देने का अनंत गुना फल प्राप्त होता है, जानिए इस मास में करने वाले शुभ कार्य

1.माना जाता है कि तलवे के ऊपरी हिस्से यानी पंजे के निचले हिस्से पर तिल होने से व्यक्ति बहुत भाग्यशाली होता है। आर्थिक तंगी से दूर रहते है ऐसे लोग। ऐसे जातक अपने शौक पूरा करने के लिए खूब मेहनत करते हैं। इन्हें  घूमने- फिरने का बेहद शौक होता है।

2.तलवे के निचले हिस्से यानी एड़ी पर तिल होने से व्यक्ति सकारात्मकता से भरा हुआ होता है। ऐसे व्यक्ति के जीवन में यात्राओं के योग बहुत अधिक होते हैं। इनकी सोच दुनियादारी से परे होती है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...