1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. देखिये वास्तु के अनुकूल घर में प्रवेश के लिए 6 टिप्स

देखिये वास्तु के अनुकूल घर में प्रवेश के लिए 6 टिप्स

वास्तु शास्त्र के अनुसार, सभी नकारात्मक और सकारात्मक ऊर्जा मुख्य द्वार से घर में प्रवेश करती है, और ऐसे में यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है। कि यह सही ढंग से बनाया गया हो।

By प्रीति कुमारी 
Updated Date

वास्तु हमारे जीवन के कई महत्वपूर्ण पहलुओं को निर्धारित करता है। घर उन जगहों में से एक है। जूते की रैक को कभी भी मुख्य दरवाजे के पास न रखें। वास्तु के अनुकूल घर में प्रवेश के लिए 6 टिप्स जहां कोई अपना ज्यादातर समय परिवार के साथ बिताता है। यह किसी के व्यक्तित्व और निजी स्थान का भी प्रतिबिंब है। जहां धन और अन्य मूल्यवान वस्तुएं संग्रहीत की जाती हैं। ऐसे में यह जरूरी है। कि वास्तु शास्त्र के सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए घर का निर्माण किया जाए ताकि भाग्य चमके और सारी नकारात्मक ऊर्जा दूर हो जाए। घर बनाते समय मुख्य द्वार का अत्यधिक महत्व होता है।

पढ़ें :- Copper Ring : गुस्से पर करना है नियंत्रण तो धारण करें धातु, पहनने से पहले नियमों को जान लेना जरूरी

घर का निर्माण करते समय, बहुत सारा पैसा और प्रयास लगाया जाता है। लेकिन कुछ निर्णय इसे बर्बाद कर सकते हैं। घर के प्रवेश द्वार पर विशेष ध्यान देने के साथ, आइए हम आपके घर के मुख्य द्वार का निर्माण करते समय ध्यान रखने योग्य महत्वपूर्ण बातों पर एक नज़र डालें।

प्रवेश द्वार पर जूता रैक
कई घरों में आपने देखा होगा कि प्रवेश द्वार के पास जूतों की रैक रखी हुई है। मुख्य द्वार पर जूते-चप्पल रखने से घर में  कलह हो जाती है। और इस प्रकार जूते की रैक को मुख्य द्वार पर नहीं रखना चाहिए। खुले जूते के बजाय बंद जूते के रैक का उपयोग करें और यदि संभव हो तो उसके ऊपर एक सजावटी वस्तु रखें।

स्वास्तिक चिन्ह

घर के प्रवेश द्वार पर स्वास्तिक चिन्ह का प्रयोग करें। आप या तो इसे पेंट कर सकते हैं या साइन के साथ स्टिकर खरीद सकते हैं। यह भाग्य और समृद्धि लाता है। स्वास्तिक रोग और शोक को भी कम करता है। और सुख-समृद्धि को बढ़ाता है।

पढ़ें :- Vastu Tips -Money Plant : सुख-समृद्धि में रुकावट बन सकती हैं मनी प्लांट की ये पत्तियां, जानें इसके कुछ नियम

पेड़ या पौधे
ऐसा माना जाता है। कि घर के मुख्य द्वार से ही सकारात्मक और नकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश होता है। और अगर घर के मुख्य द्वार के सामने किसी भी प्रकार की रुकावट है। तो वास्तु के अनुसार यह समस्या पैदा कर सकता है। अगर आपके घर के सामने कोई पेड़ खड़ा है। तो यह एक अशुभ संकेत है। कई बार हम घर की साज-सज्जा के लिए घर के बाहर मुख्य द्वार पर लताएं और पौधे लगाते हैं, जो वास्तु के अनुसार बिल्कुल भी अच्छा नहीं होता है।

खिड़कियाँ
मुख्य द्वार पर खिड़की बनाने से घर का वातावरण अच्छा रहता है। और सुख-शांति बनी रहती है। वास्तु के अनुसार घर का निर्माण करते समय मुख्य द्वार के दोनों ओर समान आकार की खिड़कियां बनानी चाहिए। मुख्य द्वार के दोनों ओर खिड़कियाँ बनाने से चुंबकीय घेरा बनता है, जिससे सकारात्मक ऊर्जा घर में प्रवेश करती है। साथ ही घर में खिड़कियों की कुल संख्या सम होनी चाहिए और विषम नहीं।

हाथी की मूर्तियाँ
वास्तु शास्त्र के अनुसार हाथियों के जोड़े की सूंड उठाकर उनकी मूर्ति को घर या ऑफिस के मुख्य द्वार पर लगाना चाहिए। इससे परिवार में सुख-समृद्धि आती है और रिश्तों में मजबूती आती है। परिवार के सभी सदस्यों के बीच सौहार्द की स्थिति बनी रहती है। और घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।

पवन झंकार
आपने कई बार अपने आस-पास के घर से विंड चाइम की मधुर आवाज सुनी होगी। वैसे, वास्तु के अनुसार गेट पर 6 रॉड वाली मेटल विंड चाइम लगाने की सलाह दी जाती है। विंड चाइम की आवाज घर से नकारात्मकता को दूर करती है।

पढ़ें :- Jhadu Ke Totke : घर में नया झाड़ू लाने के लिए चुनें इस दिन को,इस्तेमाल करना बहुत शुभ होता है
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...