1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Shweta Singh Gaur Death Case : श्वेता सिंह का पति दीपक गिरफ्तार, ससुर अब भी हैं फरार

Shweta Singh Gaur Death Case : श्वेता सिंह का पति दीपक गिरफ्तार, ससुर अब भी हैं फरार

Shweta Singh Gaur Death Case : बांदा जिले (Banda District) की भाजपा नेता और जिला पंचायत सदस्य श्वेता सिंह (BJP leader and Zilla Panchayat member Shweta Singh) के पति दीपक सिंह (Deepak singh) को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। घटना के बाद से ही आरोपी दीपक सिंह गौर ( Deepak Singh Gaur) फरार चल रहा था। जानकारी के मुताबिक, पुलिस ने चेकिंग के दौरान मटौंध से मौदहा रोड पर श्वेता के पति और बीजेपी नेता दीपक सिंह गौर (BJP leader Deepak Singh Gaur) को गिरफ्तार किया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Shweta Singh Gaur Death Case : बांदा जिले (Banda District) की भाजपा नेता और जिला पंचायत सदस्य श्वेता सिंह (BJP leader and Zilla Panchayat member Shweta Singh) के पति दीपक सिंह (Deepak singh) को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। घटना के बाद से ही आरोपी दीपक सिंह गौर ( Deepak Singh Gaur) फरार चल रहा था। जानकारी के मुताबिक, पुलिस ने चेकिंग के दौरान मटौंध से मौदहा रोड पर श्वेता के पति और बीजेपी नेता दीपक सिंह गौर (BJP leader Deepak Singh Gaur) को गिरफ्तार किया है।

पढ़ें :- बेसिक शिक्षा विभाग ने निपुण भारत मिशन प्रचार-प्रसार के लिये जारी किये  आवश्यक निर्देश 

मार्मिक फरियाद रोते हुए श्वेता की बेटियां कहती है कि योगी-मोदी जी मेरी मम्मी को न्याय दिलाएं। मेरी मां को सबने मिलकर मार डाला। सबको जेल भेजा जाए। ये मार्मिक फरियाद रोते हुए श्वेता की बेटी अभिका और अदिति ने की। श्वेता अपने पीछे तीन बेटियां सबसे बड़ी 14 वर्षीय अदिति सिंह, 10 वर्षीय अभिका सिंह उर्फ गौरी और चार वर्षीय अविष्का उर्फ बब्बू को छोड़ गई है। अदिति और गौरी ने रोते हुए मां को न्याय दिलाने की मांग मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से की है। दोनों बच्चियों के मुताबिक, श्वेता को बाबा, दादी और पिता प्रताड़ित करते थे। बेटा न होने को लेकर अक्सर ताने देते थे।

पढ़ें :- उप्र माध्यमिक संस्कृत शिक्षा परिषद की पूर्व मध्यमा से उत्तर मध्यमा स्तर तक की परीक्षाओं का कैलेण्डर जारी

सोसाइटी में मां को बेइज्जत किया जाता था। बाबा कहते थे कि लड़कियों को प्राइमरी स्कूल में पढ़ाओ। लड़का चाहिए था। तलाक दे दो। दूसरी शादी कर लो। गालियां देते थे। मां को सबने मिलकर मार डाला। सबकी गिरफ्तारी की जाए। दीपक सिंह घर से भागने से पहले मझली बेटी अभिका सिंह उर्फ गौरी को सर्वोदयनगर स्थित स्कूल (Schools in Sarvodayanagar) लेने गया था। बेटी को स्कूल से लाकर घर के पास सड़क पर उतारा। कहा कि तुम्हारी मां मर चुकी है।

प्लीज मेरी मां को इंसाफ दिलाओ’। फफक-फफक कर रो रहीं बेटियों की यह फरियाद सुनकर वहां मौजूद लोगों की आंखें भी नम हो गईं। बेटी गौरी, मिट्टो और अविष्का को मौसी करिश्मा और मामा ओमकार सिंह व शुभम सिंह ने सीने से लगाकर संभाला और सांत्वना दी।

श्वेता सिंह (Shweta Singh) की लाश पिछले दिनों उनके बांदा स्थित आवास पर फंदे से लटकी मिली थी। पुलिस ने श्वेता के पति, ससुर और सास पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। श्वेता की बेटियों ने आरोप लगाया है कि पापा और बाबा मां को प्रताड़ित करते थे और बेटा नहीं होने की वजह से उनकी जान ले ली गई।

जिला पंचायत सदस्य श्वेता सिंह (Zilla Panchayat member Shweta Singh) की मौत पर पूर्व डीआईजी ससुर, भाजपा नेता पति दीपक सिंह (Deepak singh) , सास और हाईकोर्ट के अधिवक्ता जेठ पर दहेज हत्या की एफआईआर दर्ज की गई है। गिरफ्तारी के बाद अंतिम संस्कार पर अड़े मायके वाले सदर विधायक के हस्तक्षेप के बाद माने।

चित्रकूट में कर्वी स्थित गोकुलपुरी शंकर बाजार निवासी श्वेता के भाई ओमकार सिंह ने बहन के ससुर राजबहादुर सिंह, पति दीपक सिंह, सास पुष्पा सिंह और जेठ धनंजय सिंह के खिलाफ प्रताड़ना और हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई है। उसने बहन के ससुराल वालों पर 50 लाख दहेज मांगने और बेटा न होने पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है।

पढ़ें :- राहुल गांधी ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, कश्मीरी पंडितों की सुरक्षा गारंटी के लिए की ये मांग

बताया, 26 अप्रैल को दीपक के पीटने पर मां, छोटा भाई और मौसी बहन के घर समझाने भी गई थीं। तब दीपक ने पिता का रसूख दिखाकर हत्या की धमकी दी थी। वहीं, सीओ सिटी राकेश कुमार ने कहा, दहेज हत्या की एफआईआर दर्ज की गई है। पोस्टमार्टम में हैंगिंग से मौत की बात सामने आई है।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...