1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. एक बार फिर मौसम में बदलाव के संकेत, अगले तीन से चार दिनों में फिर से लेगा करवट

एक बार फिर मौसम में बदलाव के संकेत, अगले तीन से चार दिनों में फिर से लेगा करवट

प्रदेश में पिछले सप्ताह कई जनपदों में हुई बारिश ने जहां गर्मी से लोगों को निजात दिलायी थी। वहीं अब एक बार फिर मौसम में बदलाव के संकेत देखने को मिल रहे हैं। अगले तीन से चार दिनों में मौसम के फिर से करवट लेने की सम्भावना है।

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

लखनऊ: प्रदेश में पिछले सप्ताह कई जनपदों में हुई बारिश ने जहां गर्मी से लोगों को निजात दिलायी थी। वहीं अब एक बार फिर मौसम में बदलाव के संकेत देखने को मिल रहे हैं। अगले तीन से चार दिनों में मौसम के फिर से करवट लेने की सम्भावना है।

पढ़ें :- Parag Milk Prices Increased: महंगाई का एक और बड़ा झटका, अमूल के बाद पराग ने भी बढ़ाए दूध के दाम

आंचलिक मौसम विज्ञान केन्द्र के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ का एक स्पेल फिर से सक्रिय हो रहा है। इसके असर के कारण प्रदेश के कुछ इलाकों में अगले तीन से चार दिनों में मौसम फिर से बदलने के आसार हैं। कुछ जनपदों में छिटपुट बारिश की भी सम्भावना है। इससे लोगों को गर्मी से मामूली राहत मिलेगी। प्रदेश के पूर्वांचल के मुकाबले पश्चिमी हिस्से में मौसम के इस बदलाव का असर ज्यादा देखने को मिल सकता है।

एनसीआर के अधिकांश हिस्सों में बीते सप्ताह गरज के साथ बारिश दर्ज की गई थी। इससे शुष्क मौसम से लोगों को निजात मिली थी। अब पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत के पहाड़ों पर लाइन लगाकर आने वाले हैं जिससे पहाड़ों के साथ-साथ मैदानों में भी मौसम सक्रिय रहेगा। इस महीने में पिछले दो स्पेल से अधिक प्रभावी स्पेल 21 और 23 मार्च के बीच दिखाई दे सकता है। इसके अलावा इस महीने की दूसरी ओलावृष्टि भी इसी दौरान हो सकती है। मौसम विज्ञानियों ने 22 और 23 मार्च को बारिश के साथ कुछ हिस्सों पर ओलावृष्टि की भी सम्भावना जतायी है।

निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि इस पूरे महीने मौसम में उतार-चढ़ाव चलता रहेगा। पिछले हफ्ते ही हुई बारिश के कारण सुबह और शाम के तापमान में मामूली गिरावट देखने को मिली है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक लगातार आने वाले प्रभावी पश्चिमी विक्षोभों के कारण हिमालयी राज्यों में व्यापक मात्रा में गरज के साथ बारिश और बर्फबारी देखने को मिल रही है। अगले चौबीस घंटे में पहाड़ी क्षेत्रों में कहीं-कहीं हिमपात का भी अनुमान है।

पढ़ें :- Adani Group News: हिंडनबर्ग-अडानी ग्रुप मामले में सेबी का आया बयान, कहीं ये बाते
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...