1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Udaipur Murder : कन्हैया लाल नृशंस हत्याकांड का असली खलनायक है नाजिम ? लेटर से हुआ खुलासा

Udaipur Murder : कन्हैया लाल नृशंस हत्याकांड का असली खलनायक है नाजिम ? लेटर से हुआ खुलासा

Udaipur Murder : उदयपुर के कन्हैयालाल नृशंस हत्याकांड (Kanhaiya lal Brutal Murder Case) का असली खलनायक नाजिम (Real Villain Najim) है। बता दें कि जिस कन्हैयालाल (Kanhaiya Lal)को नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) के समर्थन में पोस्ट करने पर सिर धड़ से अलग कर दिया गया। वह तो स्मार्टफोन ठीक से चलाना भी नहीं जानता था।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Udaipur Murder : उदयपुर के कन्हैयालाल नृशंस हत्याकांड (Kanhaiya lal Brutal Murder Case) का असली खलनायक नाजिम (Real Villain Najim) है। बता दें कि जिस कन्हैयालाल (Kanhaiya Lal)को नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) के समर्थन में पोस्ट करने पर सिर धड़ से अलग कर दिया गया। वह तो स्मार्टफोन ठीक से चलाना भी नहीं जानता था।

पढ़ें :- अचूक सुरक्षा घेरे में हैं नूपुर शर्मा, जानें क्यूं खुफिया एजेंसियां हुईं चौकन्ना

हालांकि विवादित पोस्ट उसके बेटे से से गलती से हो गया, जब वह गेम खेल रहा था। यह बातें खुद कन्हैया ने धमकी की शिकायत करते हुए धानमंडी पुलिस थाने (Dhanmandi Police Station) के थानाधिकारी को दिए गए शिकायती पत्र में उल्लेख किया था। इस शिकायत के मुताबिक, कन्हैया ने कहा था कि उसके पड़ोसी नाजिम ने ही उसके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। इसके बाद उसका पोस्ट ग्रुप में वायरल किया। नाजिम भी उन लोगों में शामिल था जो उसके दुकान की रेकी कर रहे थे। कन्हैया ने पुलिस से अपनी जानमाल की सुरक्षा की मांग की थी। यह शिकायती लेटर कन्हैयालाल (Kanhaiya Lal) ने धानमंडी पुलिस थाने (Dhanmandi Police Station)  के थानाधिकारी के नाम लिखी थी।

पढ़ें पूरा लेटर

महोदय,

1- यह कि आज से 5-6 दिन पूर्व मेरे बच्चे द्वारा मोबाइल पर इंटरनेट के माध्यम से गेम खेलते समय अचानक फेसबुक पर एक आपत्तिजनक पोस्ट हो गया था। जिसकी जानकारी मुझे नहीं थी। लेकिन दो दिन बाद दो व्यक्ति मेरी दुकान पर आए मुझसे मेरा मोबाइल मांगा और कहा कि हमारे मोबाइल में बैलेंस नहीं है। हमें किसी को कॉल करना है तो हमें आपका मोबाइल चाहिए। जिस पर मेरे द्वारा उन्हें मोबाइल दे दिया, परन्तु उनके द्वारा मुझे बताया गया कि आपके मोबाइल से एक पोस्ट शेयर हुई है, आपको पता है? क्या तो मेरे द्वारा उन्हें कहा गया कि मुझे मोबाइल चालाना नहीं आता है। मोबाइल सिर्फ मेरा बच्चा गेम खेलने के लिए लेता है। तो उनके द्वारा मेरे मोबाइल से पोस्ट डिलीट कर दी गई और कहा गया कि आइंदा ऐसा मत करना।

पढ़ें :- Independence Day : पीएम मोदी ने लाल किले से किया वार, बोले- कुछ लोग भ्रष्टाचारियों का कर रहे हैं महिमामंडन

2-यह कि शनिवार 11-06-22 को मुझे पुलिस थाना धानमंडी (Police Station Dhanmandi) से फोन आता है कि आपके खिलाफ एक रिपोर्ट दर्ज हुई है। आप थाने में आ जाओ। जब मैं थाने में गया तो प्रार्थी नाजिम पुत्र नईम रिपोर्ट दर्ज कराई, वह मेरा पड़ोसी ही था। उसके द्वारा मुझे बताया गया कि मैंने रिपोर्ट अपने समाज के दबाव में आकर करी है, बाकि मुझे पता है कि आपको मोबाइल चलाना नहीं आता है और आप यह पोस्ट नहीं कर सकते हैं।

3- यह कि नाजिम व उसके साथ अन्य 5 लोग तीन दिन से मेरी दुकान की रेकी कर रहे हैं और मुझे दुकान खोलने नहीं दे रहे हैं। सुबह शाम मेरी दुकान के बाहर 5-7 लोग रोज चक्कर काट रहे हैं और मुझे पता चला कि वह सब मेरी दुकान खुलते ही मारने की कोशिश करेंगे। चूंकि नाजिम और इसके साथ अन्य 4-5 लोगों ने मेरा नाम और फोटो उनके समाजग्रुप में वायरल कर दिया है और सबको कह दिया है कि ये व्यक्ति अगर कहीं रास्ते पर दिखे व दुकान पर आए तो इसे जान से मार देना। चूंकि इसने एक आपत्तिजनक पोस्ट की है, इनके द्वारा मुझे दुकान नहीं खोलने का दबाव बनाया जा रहा है, अगर मेरे द्वारा दुकान खोली जाएगी तो ये सब लोग मुझे जान से मार देंगे।

अत: आप श्रीमान से निवेदन है कि नाजिम व उसके साथीगण के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए और मुझे दुकान खोलने दी जाए और मेरी जानमाल की सुरक्षा प्रदान की जाए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...