1. हिन्दी समाचार
  2. बॉलीवुड
  3. Udit Narayan Birthday Special: बिना तलाक दिए की थी दूसरी शादी, किसी फिल्म की कहानी से कम नही उदित नारायण की लव स्टोरी

Udit Narayan Birthday Special: बिना तलाक दिए की थी दूसरी शादी, किसी फिल्म की कहानी से कम नही उदित नारायण की लव स्टोरी

बॉलीवुड के जाने माने सिंगर उदित नारायण (Udit Narayan) आज अपना 67 वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहें हैं. उदित नारायण (Udit Narayan) का जन्म 1 दिसंबर, 1955 को नेपाल के सपतारी जिले में जन्मे उदित (Udit Narayan)  का पूरा नाम उदित नारायण झा है।

By आराधना शर्मा 
Updated Date

Udit Narayan Birthday Special: बॉलीवुड के जाने माने सिंगर उदित नारायण (Udit Narayan) आज अपना 67 वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहें हैं. उदित नारायण (Udit Narayan) का जन्म 1 दिसंबर, 1955 को नेपाल के सपतारी जिले में जन्मे उदित (Udit Narayan)  का पूरा नाम उदित नारायण झा है।

पढ़ें :- 5 भारतीय गायक जिन्होंने रियलिटी शो के जज बनकर टीवी इंडस्ट्री में बनाई अपनी जगह

आपको बता दें, उनके पिता का नाम हरे किशना झा और मां का नाम भुवनेश्वरी झा था। उदित (Udit Narayan)  ने पी.बी. स्कूल से शुरुआती पढ़ाई की।  इसके बाद उन्होंने रेडियो नेपाल में मैथिली और नेपाली लोक गाने गाकर अपने करियर की शुरूआत की। वहीं सिंगिंग के साथ उदित (Udit Narayan)  अपनी पर्सनल लाइफ को लेकर भी चर्चा में आ चुके हैं। शादीशुदा होते हुए की दूसरी शादी…

उदित (Udit Narayan) की दो शादियां हुई हैं। उन्होंने पहले शादी रंजना झा और दूसरी दीपा गहतराज से की थी। उदित (Udit Narayan)  का नाम उस वक्त विवादों में फंस गया था जब रंजना झा ने उन पर धोखाधड़ी और बिना तलाक दिए दूसरी शादी करने का आरोप लगाया था।

शुरुआत में उदित (Udit Narayan)  शादी की बात के लिए राजी नहीं हुए। तब रंजना ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और फिर फोटोज और डाक्यूमेंट्स दिखाने के बाद उदित शादी की बात पर राजी हुए।

इसके बाद कोर्ट ने उन्हें दोनों बीवियों को साथ रखने का आदेश दिया था। बता दें, उन्होंने दूसरी शादी दीपा नारायण (गहतराज) से की है, जो खुद एक सिंगर हैं। दीपा से उन्हें एक बेटा आदित्य नारायण है, जो सिंगर और एक्टर हैं।

पढ़ें :- जल्द फिल्मों में नजर आयेंगे Salman Khan के बॉडीगार्ड, खुद किया बड़ा खुलासा

नेपाली गानों से शुरू किया करियर


दित ने अपने सिंगिंग करियर की शुरुआत नेपाली फिल्म ‘सिंदूर’ से की थी। साल 1978 में वह मुंबई आ गए। 1980 में उन्हें पहली बार किसी फिल्म में गाने का मौका मिला, लेकिन उन्हें असली कामयाबी मिली सुपरहिट फिल्म ‘कयामत से कयामत तक’ के जरिए। इस फिल्म में गाए ‘पापा कहते हैं बड़ा नाम करेगा’ सॉन्ग के लिए उन्हें पहली बार बेस्ट मेल सिंगर का फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...